आगरा में सामूहिक खुदकुशी, पत्‍नी और बच्‍ची की मौत के बाद लगाई पति ने फांसी

फांसी लगाने से ही हुई थी कारोबारी की मौत पत्नी और बेटी की मौत का कारण पोस्टमार्टम से नहीं हुआ स्पष्ट बिसरा जांच से खुलेगा राज। प्रतीची और बच्ची की मौत के बाद योगेश ने लगाई थी फांसी पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हुआ स्पष्ट।

Prateek GuptaSat, 04 Dec 2021 10:37 AM (IST)
आगरा में योगेश मिश्रा और उनकी पत्‍नी प्रतीची द्वारा इस तरह फाइल बनाकर सुसाइड नोट रखा गया।

आगरा, जागरण संवाददाता। कारोबारी दंपती की खुदकुशी और बेटी की मौत के मामले में जो आशंका थी, वही पोस्टमार्टम रिपाेर्ट से भी स्पष्ट हुआ है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार, योगेश की मौत फांसी लगाने के कारण हुई थी। जबकि प्रतीची और उनकी बेटी की मौत की वजह स्पष्ट न होने पर उनका बिसरा सुरक्षित रखा गया है। दोनों की मौत भी योगेश से पहले ही हो गई थी। हालांकि लक्षणों के आधार पर पुलिस को आशंका है कि इन दोनों की मौत जहर के सेवन से हुई है।

जगदीशपुरा के मारुति एन्क्लेव निवासी बैटरी कारोबारी योगेश मिश्रा और उनकी पत्नी प्रतीची के शव वंशी विहार स्थित आफिस में मिले थे। योगेश फंदे से लटके थे और उनकी पत्नी आफिस में ही फर्श पर पड़ी मिली थीं। जबकि पांच वर्षीय बेटी काव्या मारुति एन्क्लेव स्थित घर में अचेत अवस्था में मिली थी। हास्पिटल ले जाने पर डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। देर रात तीनों के शवों का डाक्टरों के पैनल द्वारा पोस्टमार्टम किया गया। एएसपी सत्यनरायण के अनुसार, योगेश मिश्रा की मौत का कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हैंगिंग बताया गया है। वहीं प्रतीची और उनकी बेटी काव्या की मौत का कारण पाेस्टमार्टम रिपोर्ट में स्पष्ट नहीं हुआ है। इनका बिसरा सुरक्षित रखा गया है। इसे फोरेंसिक लैब में जांच को भेजा जाएगा। तभी यह पता चलेगा कि उनकी मौत का कारण क्या था। हालांकि दोनों के लक्षणों के आधार पर यह माना जा रहा है कि मां-बेटी की मौत जहर के सेवन से हुई है। मगर, फोरेंसिक लैब से बिसरा की रिपोर्ट आने पर ही यह पता चलेगा कि जहर कौन सा था? पोस्टमार्टम रिपोर्ट में प्रतीची का शव करीब 24 घंटे पुराना बताया गया है। इससे यह साफ है कि प्रतीची की मौत गुरुवार देर रात हुई थी। वहीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट में काव्या की मौत शुक्रवार तड़के होने की बात लिखी है। पुलिस यह मान रही है कि जहर खाने के कई घंटे बाद तक प्रतीची और काव्या जिंदा रहे। प्रतीची ने पहले और बेटी काव्या ने कई घंटे बाद दम तोड़ा। मां-बेटी की मौत के बाद योगेश मिश्रा ने ऑफिस में आकर की फांसी लगाई। पहले यह देखा होगा कि प्रतीची मर चुकी है। उसके बाद अपनी जान दी। बड़ी बेटी आदया की जान संयोग से बच गई। उसने कुछ नहीं खाया था इसलिए उसके शरीर में जहर नहीं पहुंचा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.