आगरा में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही, पहले किसी और को वैक्सीन लगा दी, अब वैक्सीन तो लगी लेकिन रिकार्ड में फिर गलती हो गई

Vaccination in Agra आगरा के देवरी रोड निवासी हीरेंद्र नरवार ने सात जून को विभव नगर बूथ पर पर वैक्सीन की पहली डोज लगवाई थी। प्रमाणपत्र में है कोवैक्सीन का नाम तो मैसेज आया कोविशील्ड का। मामले में खुली हैं लापरवाही की कइ पोल।

Tanu GuptaFri, 18 Jun 2021 03:57 PM (IST)
कोवैक्सीन और कोविशील्ड के अलग-अलग प्रमाण दिखाते हीरेंद्र

आगरा, गौरव भारद्वाज। वैक्सीन लगाने में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। वैक्सीन लगवाने वाला एक युवक इसलिए परेशान है कि उसे समझ नहीं आ रहा कि उसे कोवैक्सीन लगी है या कोविशील्ड। क्योंकि वैक्सीनेशन के बाद उसे जो कार्ड दिया गया है उस पर कोवैक्सीन लिखा गया है, लेकिन आनलाइन मिलने वाले सर्टिफिकेट में उसे कोविशील्ड की पहली डोज लगी हुई बताई गई है।

आगरा के देवरी रोड निवासी हीरेंद्र नरवार ने सात जून को विभव नगर बूथ पर पर वैक्सीन की पहली डोज लगवाई थी। उस समय हीरेंद्र को जाे प्रमाण पत्र दिया गया, उसमें वैक्सीन का ब्रांड नाम कोवैक्सीन बताया गया और दूसरी खुराक के लिए एक माह बाद सात जुलाई का समय दिया गया। हीरेंद्र वो कार्ड लेकर घर आ गए। घर पहुंचने के थोड़ी देर बाद उनके पास वैक्सीन लगने का मैसेज आया। इस मैसेज को पढ़कर हीरेंद्र परेशान हो गए। मैसेज में लिखा था कि उनको कोविशील्ड की पहली डोज लगी है। वो इसका आनलाइन सर्टिफिकेट भी डाउनलोड कर सकते हैं। जब उन्होंने कोविन पोर्टल पर जाकर सर्टिफिकेट डाउनलोड किया तो उसमें भी कोविशील्ड की डोज लगाना ही दिखा रहा है। अब हीरेंद्र परेशान हैं, उनकी समझ नहीं आ रहा कि उनको कौन सी वैक्सीन लगी है और दूसरी डोज किस वैक्सीन की लगवानी है और कब।

पहले किसी और को लगा दी थी वैक्सीन

हीरेंद्र ने बताया कि उनके साथ केवल यही लापरवाही नहीं हुई है, बल्कि पहले उनके अप्वाइंटमेंट पर किसी और को वैक्सीन लगा दी गई थी। हीरेंद्र ने बताया कि पांच जून को उनका वैक्सीन लगवाने का अप्वाइंटमेंट था। वो तय समय पर विभव नगर वैक्सीनेशन केंद्र पर पहुंच गए। यहां पर उन्हें बताया गया कि सर्वर डाउन है, इसलिए उन्हें वैक्सीन नहीं लग पाएगी। वो अगले दिन आएं। इस पर हीरेंद्र घर वापस आ गए। मगर, घर पहुंचकर उनके पास मैसेज आया कि उनको वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। वो अगले दिन वैक्सीनेशन केंद्र गए और मैसेज दिखाया तो वहां पर किसी ने उन्हें कोई जवाब नहीं दिया। इसके बाद हीरेंद्र ने टोल फ्री नंबर 1075 पर शिकायत दर्ज कराई। सीएमओ को अपनी परेशानी बताई। तब उन्हें वैक्सीन लगी, लेकिन उसमें भी लापरवाही हो गई।

दो डोज के बाद तीसरी का मैसेज

वैक्सीन लगवाने मे केवल हीरेंद्र के साथ ही लापरवाही नहीं हुई है, बल्कि ट्रांस यमुना कालोनी निवासी शिवकुमार गुप्ता के साथ भी ऐसा हुआ है। 70 वर्षीय शिवकुमार गुप्ता ने बताया कि चार अप्रेल को उनको दूसरी डोज लग गई थी। मगर, 10 दिन पहले उनके पास दूसरी डोज लगवाने के लिए मैसेज आया। ऐसे में वो चौंक गए। जब उन्होंने आनलाइन सर्टिफिकेट डाउनलोड किया तो उसमें वैक्सीन की डोज की तिथि जून से जुलाई के बीच दिखा रहा था। उनका कहना है कि वो तो जागरूक हैं, इसलिए फिर तीसरी डोज नहीं लगवाई। अगर कोई व्यक्ति मैसेज को देखकर तीसरी डोज लगवा लेता तो उसके साथ परेशानी हो सकती

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.