Commercial Cylinder: व्यावसायिक सिलेंडर के फिर बढ़े दाम, घरेलू को राहत

Commercial Cylinder व्यापारियों में आक्रोश दूसरे महीने फिर हुआ इजाफा। 101 रुपये प्रति सिलेंडर हुआ इजाफा 2139 रुपये हुए दाम। गत महीने 266 रुपये प्रति सिलिंडर दामों में इजाफा हुआ था। घरेलू गैस सिलेंडर के दामों में इजाफा नहीं होने से महिलाओं ने राहत की सांस ली है

Tanu GuptaWed, 01 Dec 2021 05:47 PM (IST)
व्यावसायिक सिलेंडर के दामों में फिर इजाफा हो गया है।

आगरा, जागरण संवाददाता। एलपीजी के व्यावसायिक सिलेंडर के दामों में फिर इजाफा हो गया है। 19 किलोग्राम सिलेंडर के दाम में 101 रुपये इजाफा होने से अब दाम 2139 रुपये प्रति सिलेंडर हो गए हैं। गत महीने 266 रुपये प्रति सिलिंडर दामों में इजाफा हुआ था, जिसके बाद से आक्रोशित रेस्टोरेंट संचालक, मिठाई विक्रेताओं में रोष बढ़ गया है। वहीं घरेलू गैस सिलेंडर के दामों में इजाफा नहीं होने से महिलाओं ने राहत की सांस ली है, लेकिन गत महीने हुई वृद्धि से रसोई का बजट बिगड़ा हुआ है। 14.2 किलोग्राम सिलेंडर 912.50 रुपये प्रति सिलेंडर पर स्थिर बने हुए हैं। महिलाओं की मांग है कि दामों को घटाया जाना चाहिए। दाल, सब्जी सहित सभी चीजों पर महंगाई छाई हुई है, जिससे रसोई का बजट प्रभावित हो रहा है। सरकार रसोई गैस के दाम घटाकर उसको स्थिर कर दे। हर महीने होने वाली वृद्धि से इसे दूर रखा जाए।

कोराेना संक्रमण काल में व्यापार ठप्प हो गए थे। जैसे-तैसे उससे उवरने का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन व्यावसायिक सिलिंडर के दाम निरंतर बढ़ाए जा रहे हैं, जिससे मुश्किल हो रही है।

विनय सिंह, रेस्टोरेंट संचालक

व्यापार बुरी तरह प्रभावित है। 50 फीसद मांग घट गई है। लोगों के पास खरीदने के लिए पैसा नहीं है, जबकि लागत मूल्य भी बढ़ गया है। ऐसे में गैस मूल्य वृद्धि बड़ा नुकसान है।

राजन गुप्ता, मिठाई विक्रेता

महंगाई तेजी से बढ़ रही है और हर आवश्यक वस्तु के दामों में निरंतर इजाफा हो रहा है। सरकार को व्यावसायिक गैस के दाम स्थिर कर व्यापारियों को राहत देनी चाहिए।

सुरेंद्र सिंह, रेस्टोरेंट संचालक 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.