Waste to Energy: बेकार नहीं जाएगा कचरा, बनेगी भरपूर बिजली, आगरा में लगने वाला प्लांट होगा खास

कुबेरपुर स्थित लैंडफिल साइट में जल्द स्थापित होगा कूड़े से बिजली बनाने का प्लांट। स्पाक ब्रेसान 172 करोड़ रुपये से स्थापित करेगा प्लांट हर दिन 500 टन से बनेगी दस मेगावाट बिजली। अनुबंध के टीम जल्‍द आने वाली है आगरा।

Prateek GuptaFri, 26 Nov 2021 10:07 AM (IST)
आगरा में लगाया गया वेस्‍ट मैनेजमेंट प्‍लांट। अब कचरे से बिजली बनाए जाने की तैयारी है।

आगरा, जागरण संवाददाता। आने वाले एक साल के भीतर ताजनगरी में न तो बिजली की कोई किल्लत होगी और न ही रोड पर कूड़ा नजर आएगा। कूड़े का वैज्ञानिक तरीके से निस्तारण किया जााएगा क्योंकि स्पाक ब्रेसान कंपनी द्वारा 172 करोड़ रुपये से कुबेरपुर स्थित लैंडफिल साइट में कूड़े से बिजली बनाने का प्लांट लगाया जाएगा। 500 टन कूड़ा से हर दिन दस मेगावाट बिजली बनेगी। प्लांट की अधिकतम क्षमता 15 टन की होगी इसके लिए हर दिन 850 टन कूड़े की जरूरत होगी।

नगर निगम के सौ वार्डों से हरदिन 800 टन कूड़ा निकलता है। 400 टन सूखा, 350 टन गीला कूड़ा, 50 टन सिल्ट शामिल है। निगम कार्यालय में कूड़ा उठान न होने को लेकर हर दिन 200 शिकायतें पहुंचती हैं। इन शिकायतों को निस्तारण के लिए जोनल अफसरों के पास भेज दिया जाता है। शहर में चार जोनल कार्यालय हैं जिसमें ताजगंज, छत्ता, लोहामंडी और हरीपर्वत शामिल हैं।

निगम का नहीं खर्च होगा पैसा : कूड़े से बिजली बनाने के प्लांट में नगर निगम का एक भी पैसा नहीं खर्च होगा। पूरा पैसा निजी कंपनी द्वारा खर्च किया जाएगा।

जल्द कंपनी से होगा अनुबंध : नगरायुक्त निखिल टीकाराम ने बताया कि जल्द ही कंपनी की टीम आगरा आ रही है। टीम से निगम प्रशासन का अनुबंध होगा। अनुबंध के 14 माह के भीतर प्लांट बनकर तैयार होगा।

इसलिए पड़ी जरूरत : कुबेरपुर स्थित लैंडफिल साइट में चार लाख टन कूड़ा पड़ा हुआ है। कूड़े से बिजली बनाने का प्लांट लगने से इसे अच्छी तरीके से निस्तारित किया जा सकेगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.