आगरा में महिला से सामूहिक दुष्कर्म, पंचायत में आरोपित की पिटाई से मामला निपटाने की कोशिश

घटना के आठ दिन बाद मामला आया प्रकाश में जब‍ नहीं हुआ दोनों पक्षों में समझौता पीड़िता ने आठवें दिन थाने पहुंचकर चार के खिलाफ दी तहरीर। पति के एक्सीडेंट के बहाने ले गया गांव का आरोपित तीन अन्य ने भी आबरू लूटी।

Prateek GuptaPublish:Sun, 05 Dec 2021 10:30 AM (IST) Updated:Sun, 05 Dec 2021 10:30 AM (IST)
आगरा में महिला से सामूहिक दुष्कर्म, पंचायत में आरोपित की पिटाई से मामला निपटाने की कोशिश
आगरा में महिला से सामूहिक दुष्कर्म, पंचायत में आरोपित की पिटाई से मामला निपटाने की कोशिश

आगरा, जागरण टीम। जूता कारीगर की पत्नी के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आया है। घटना के आठवें दिन थाने पहुंची पीड़िता ने चार युवकों पर आरोप लगाते हुए तहरीर दी। इससे पूर्व समझौते को लेकर गांव में हुई पंचायत में आरोपित को जमकर पीटा गया। पुलिस प्रथमदृष्टया मामले को संदिग्ध मान रही है। सिकंदरा के एक गांव की रहने वाली 35 वर्षीय महिला का पति जूता कारीगर है। उसके दो बच्चे भी हैं। पीड़िता के अनुसार, 25 नवंबर को गांव के ही युवक ने फोन कर उसे बताया कि पति का एक्सीडेंट हो गया है। इसके बाद बाइक लेकर उसे ले जाने के लिए पहुंच गया। महिला उसके साथ बैठकर चल दी। रास्ते में एक और युवक बाइक पर बैठ गया। दोनों उसे यमुना किनारे ले गए। यहां दो अन्य लोग पहले से मौजूद थे। घबराहट होने के कारण उसने पानी पीया, जिसमें नशीला पदार्थ मिला हुआ था। आरोप है कि बेहोशी की हालत में चारों ने महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। इसके बाद धमकी देते हुए भाग निकले। ग्रामीणों ने बताया कि अगले दिन गांव में पंचायत हुई। इसमें पीड़ित और आरोपित पक्ष के लोग पहुंचे। यहां बात बिगड़ऩे पर पीड़ित पक्ष के लोगों ने आरोपित को जमकर पीटा। समझौता नहीं होने पर तीन दिसंबर को थाने में तहरीर दी गई।

एसएसआइ सिकंदरा जितेंद्र कुमार का कहना है कि तहरीर मिलने पर चौकी प्रभारी रुनकता से जांच कराई गई थी। प्रथमदृष्टया जांच में महिला के द्वारा लगाए गए सामूहिक दुष्कर्म के आरोप सही नहीं पाए गए। अभी इस मामले की जांच की जा रही है।