Agra Metro: दिसंबर से आगरा मेट्रो का धरातल पर दिखने लगेगा काम, जानिए सबसे पहले बनेगा कौन सा स्‍टेशन

कुछ इस तरह की होगी आगरा में चलने वाली मेट्रो।
Publish Date:Thu, 22 Oct 2020 06:01 PM (IST) Author: Prateek Gupta

आगरा, अमित दीक्षित। दिसंबर से आगरा मेट्रो का धरातल पर काम दिखने लगेगा। 272 करोड़ रुपये से 26 माह के भीतर आगरा मेट्रो के तीन स्टेशन बनेंगे। यह स्टेशन पहले कारिडोर के हैं। उप्र मेट्रो रेल कारपोरेशन (यूपीएमआरसी) ने तीन अन्य स्टेशनों के टेंडर का प्रस्ताव यूरोपीय संघ बैंक को भेज दिया है। बैंक से मंजूरी मिलते ही तीनों स्टेशनों के टेंडर जारी होंगे।

शहर में मेट्रो की लंबाई तीस किमी है। सिकंदरा से ताज पूर्वी गेट तक पहला कारिडोर 14 किमी और आगरा कैंट से कालिंदी विहार तक दूसरा कारिडोर 16 किमी लंबा है। यूपीएमआरसी पहले कारिडोर को बनाएगी इसमें तीन स्टेशन फतेहाबाद रोड, बसई और ताज पूर्वी गेट को चिन्हित किया गया है। तीन माह पूर्व यूरोपीय संघ बैंक से अनुमति के बाद टेंडर जारी किए गए थे। तीन कंपनियों ने आवेदन किया। तीन स्टेशनों का प्रस्ताव 290 करोड़ रुपये का था। पिछले सप्ताह फाइनेंशियल बिड में सैम विल्डवेल ने बाजीमार ली। यूपीएमआरसी के एक अधिकारी ने बताया कि फतेहाबाद रोड, बसई और ताज पूर्वी गेट स्टेशन एलीवेटेड होंगे। इनकी कुल लंबाई चार किमी होगी। सबसे पहले फतेहाबाद रोड पर काम शुरू होगा फिर ताज पूर्वी गेट और बसई को शामिल किया जाएगा। उन्होंने बताया कि ताजमहल, जामा मस्जिद और आगरा किला स्टेशन (सभी अंडरग्राउंड स्टेशन) के टेंडर का प्रस्ताव यूरोपीय संघ बैंक को भेज दिया गया है। अनुमति का इंतजार किया जा रहा है।

112 करोड़ रुपये से बनेगा मेट्रो का पहला डिपो

आगरा मेट्रो का पहला डिपो फतेहाबाद रोड स्थित पीएसी ग्राउंड में बनेगा। छह हेक्टेअर में बनने वाले डिपो पर 112 करोड़ रुपये खर्च होंगे। यह कार्य जनवरी 2021 से शुरू होगा। वहीं मेट्रो का दूसरा डिपो कालिंदी विहार में साढ़े छह हेक्टेअर जमीन पर बनेगा।

एत्मादपुर मदरा में बनेगा कास्टिंग यार्ड

तहसील सदर स्थित एत्मादपुर मदरा गांव में मेट्रो का कास्टिंग यार्ड बनेगा। इसके लिए सात हेक्टेअर जमीन चिन्हित हो गई है।

आगरा मेट्रो प्रोजेक्ट एक नजर में

- मेट्रो प्रोजेक्ट की कुल लागत 8379 करोड़ रुपये है।

- पहले कारिडोर में 6 एलीवेटेड और सात अंडरग्राउंड स्टेशन होंगे।

- दूसरे कारिडोर में 14 एलीवेटेड स्टेशन होंगे।

- एक मिनट में मेट्रो दो किमी का सफर तय करेगी।

- मेट्रो में चार कोच होंगे।

- आगरा कालेज के सामने मेट्रो का जंक्शन बनेगा जहां पहला और दूसरा कारिडोर मिलेगा।

यूपीएमआरसी को जल्द हस्तांतरित होगी कमिश्नरी की जमीन

फतेहाबाद रोड स्थित कमिश्नरी की जमीन जल्द उप्र मेट्रो रेल कारपोरेशन (यूपीएमआरसी) को हस्तांतरित होगी। यह जमीन रक्षा संपदा विभाग की है। कमिश्नरी और पीएसी ग्राउंड की जमीन पर आगरा मेट्रो का पहला डिपो बनेगा। डिपो के निर्माण के लिए 112 करोड़ रुपये जारी हो चुके हैं। वहीं इनर रिंग रोड के किनारे रहनकलां गांव की साढ़े सात हेक्टेअर जमीन 15वीं पीएसी बटालियन को हस्तांतरित होगी। यह जमीन उप्र औद्योगिक विकास प्राधिकरण की है।

आगरा मेट्रो की लंबाई तीस किमी है। सिकंदरा से ताज पूर्वी गेट तक पहला कारिडोर 14 और आगरा कैंट से कालिंदी विहार तक दूसरा कारिडोर 16 किमी लंबा है। फतेहाबाद रोड स्थित पीएसी की 8.90 हेक्टेअर जमीन पर डिपो बनेगा। पीएसी के अलावा कमिश्नरी की तीन हेक्टेअर जमीन ली जाएगी। पीएसी ग्राउंड और कमिश्नरी की जमीन रक्षा संपदा विभाग की क्लास बी-लैंड है। यह जमीन जनरल लैंड रजिस्टर (जीएलआर) के सर्वे नंबर 453 में दर्ज है जिसका मालिकाना हक राज्य सरकार के पास है जबकि होल्डर आफ आक्यूपेंसी राइट्स राजस्व विभाग का है। डीएम प्रभु एन सिंह ने बताया कि रहनकलां में साढ़े सात हेक्टेअर जमीन 15वीं पीएसी बटालियन को हस्तांतरित होगी।

'फतेहाबाद रोड, बसई और ताज पूर्वी गेट स्टेशनों का निर्माण जल्द शुरू होगा। वहीं 112 करोड़ रुपये से मेट्रो का पहला डिपो बनेगा'।

कुमार केशव, एमडी यूपीएमआरसी

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.