पहले स्वजन और फिर बाहर वालों से मांगो क्षमा

निर्मल सदन छीपीटोला में मंगलवार को मना क्षमावाणी पर्व जाने-अनजाने में हुई गलतियों के लिए मांगी एक-दूसरे से क्षमा

JagranWed, 22 Sep 2021 01:49 AM (IST)
पहले स्वजन और फिर बाहर वालों से मांगो क्षमा

आगरा, जागरण संवाददाता। क्षमावाणी पर्व पूरी दुनिया में मनाया जाना चाहिए। हम दूसरों को क्षमा करते हैं, क्योंकि हम शांति व आनंद से रहना चाहते हैं। हम दूसरों को क्षमा करके अपने ऊपर उपकार करते हैं। पहले स्वजनों से क्षमा मांगो, फिर बाहर जाकर क्षमा मांगना। जो अपनों का नहीं हुआ, वह गुरु और प्रभु का क्या होगा। इसलिए पहले अपनों से क्षमा मांगो, तभी क्षमावाणी पर्व मनाना सार्थक होगा।

निर्मल सदन, छीपीटोला में मंगलवार को मनाए गए क्षमावाणी पर्व में मुनि वीर सागर ने यह प्रवचन दिए। मुनि धवल सागर ने कहा कि कभी भी देव, शास्त्र, गुरु के प्रति द्वेष भाव मत रखना। मुनि विशाल सागर ने कहा कि दसलक्षण पर्व उत्तम क्षमा से शुरू हुआ और उत्तम ब्रह्मचर्य पर समाप्त हुआ। इससे पूर्व मंगलाचरण मुनिया जैन ने किया। आचार्य विद्यासागर महाराज के चित्र का अनावरण व दीप प्रज्वलन मुकेश कुमार, सुभाषचंद्र, अमित जैन ने किया। महाराष्ट्र से आईं तृप्सी जैन ने नृत्य, संगीता जैन व अखिलेश जैन ने काव्य पाठ, मनोज जैन व प्रदीप जैन ने भजन प्रस्तुत किए। अध्यक्ष दिलीप जैन, मुरारी लाल जैन, अक्षय जैन, सपना जैन, पार्षद प्रदीप जैन, मुन्ना, मुकेश जैन, रोहित जैन, डब्बू जैन, राजीव जैन, सत्येंद्र जैन आदि मौजूद रहे। क्षमावाणी पर्व पर व्रतियों का सम्मान

महावीर दिगंबर जैन मंदिर, कमला नगर डी ब्लाक में पर्यूषण पर्व के समापन पर मंगलवार को क्षमावाणी पर्व मनाया गया। वार्षिक कलशाभिषेक के अवसर पर प्रथम कलश लेने का सौभाग्य जैन यूथ आफ कमला नगर के शानू जैन, शुभम जैन, दीप जैन, अभिषेक जैन, दीपक जैन को मिला। मंगलाचरण ख्याति जैन ने किया। व्रतियों का सम्मान किया गया। अर्हं स्वधर्म शिविर में भाग लेकर आए शिविरार्थियों का स्वागत हुआ। प्रदीप जैन पीएनसी, जगदीश प्रसाद जैन, दिलीप जैन, विमलेश जैन, जितेंद्र जैन, पारसबाबू जैन, सुनील जैन सिघई, अशोक जैन, मनोज जैन आदि मौजूद रहे। गले मिलकर की क्षमा याचना

चंद्रप्रभु दिगंबर जैन मंदिर, कटरा इतवारी खां नाई की मंडी में कलशाभिषेक हुआ और क्षमावाणी पर्व मनाया गया। श्रीजी का अभिषेक व शांतिधारा और भगवान चंद्रप्रभु की मंगल आरती की गई। क्षमावाणी पर्व का शुभारंभ प्रिया जैन ने मंगलाचरण कर किया। मंदिर के अध्यक्ष निर्मल मोठ्या, राजेश सेठी, अजित रांवका, प्रमोद रांवका, सुरेंद्र बैनाड़ा, पदम बैनाड़ा, मदनलाल बैनाड़ा, अजित बैनाड़ा, मोहनलाल कासलीवाल, नरेंद्र कासलीवाल आदि मौजूद रहे। धूमधाम से मना क्षमावाणी पर्व

महावीर दिगंबर जैन मंदिर कलाकुंज, मारुति एस्टेट में क्षमावाणी पर्व धूमधाम से मनाया गया। मंगलाचरण से शुरू हुए कार्यक्रम में वक्ताओं ने क्षमावाणी पर्व का महत्व बताया। मंदिर कमेटी ने पं. मोहित जैन शास्त्री व त्यागी व्रतियों को सम्मानित किया। सांस्कृतिक कार्यक्रम के पुरस्कार वितरित किए गए। सुमेर भगत जैन, रविद्र कुमार जैन, संजय जैन, दीपक जैन, रजत जैन, विकास जैन, आदित्य जैन, मुकेश जैन, अंकित जैन, अजय जैन, ऋषि जैन, संजय जैन आदि मौजूद रहे। मरणोपरांत करें देहदान

आगरा: महावीर भवन, न्यू राजा की मंडी कालोनी में मंगलवार को प्रवचन करते हुए आचार्य ज्ञानचंद्र महाराज ने कहा कि जैन धर्म का संदेश है कि हर व्यक्ति को मरणोपरांत देहदान करना चाहिए। अगर जिदा रहते हुए देहदान करें तो बलिहारी हैं। मरणोपरांत तो पूरे शरीर से किसी को भी, कोई भी लाभ मिल रहा हो तो अवश्य कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रभु के स्मरण से पूरी जिदगी पावन बनती चली जाती है। पतित से पतित आत्मा भी पावन हो जाती है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.