Indian Railway: सावधान: आगरा में अब रेलवे क्रासिंग के बूम तोड़ने वालों पर होगी FIR

Indian Railway रेलवे परिचालन में संरक्षा को लेकर महाप्रबंधक ने डीआरएम सुशील कुमार श्रीवास्तव के साथ वर्चुअल समीक्षा बैठक की। मालगाड़ियों के डिब्बों के गेट खुले होने के कारण सिग्नल पोस्ट क्षतिग्रस्त होने घटनाओं को रोकना होगा। लोडिंग और अनलोडिंग प्वाइंटों पर गेटों को सही तरह से बंद किया जाए।

Tanu GuptaFri, 18 Jun 2021 01:49 PM (IST)
लोडिंग और अनलोडिंग प्वाइंटों पर गेटों को सही तरह से बंद किया जाए।

आगरा, जागरण संवाददाता। रेलवे लेवल क्रांसिंग के बूम तोड़ने की घटनाओं को लेकर रेलवे चिंतित है। बूम तोड़ने वाले वाहन चालकों को खिलाफ अब रेलवे द्वारा सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा मालगाडी़ के डिब्बों के गेट खुले रहने से होने वाले नुकसान को रोका जाएगा। इसको लेकर उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक वीके त्रिपाठी ने आगरा मंडल प्रबंधक को निर्देश दिए।

रेलवे परिचालन में संरक्षा को लेकर महाप्रबंधक ने डीआरएम सुशील कुमार श्रीवास्तव के साथ वर्चुअल समीक्षा बैठक की। उन्हाेंने कहा कि परिचालन में संरक्षा के संबंध में किसी भी प्रकार की कोई कमी स्वीकार नहीं की जाएगी। सभी सावधानियों और नियमों का पालन किया जाना चाहिए। वाहनों द्वारा लेवल क्रासिंग बूम तोड़ने पर उन्होंने चिंता जाहिर की। इन घटनाओं को रोकने के लिए सभी क्रांसिंग पर इंडीकेशन बोर्ड लगाने और उनकी दृश्यता को बढ़ाने के निर्देश दिए। साथ ही बूम तोड़ने वालों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने की बात कही। उन्होंने कहा कि मालगाड़ियों के डिब्बों के गेट खुले होने के कारण सिग्नल पोस्ट क्षतिग्रस्त होने घटनाओं को रोकना होगा। इसके लिए लोडिंग और अनलोडिंग प्वाइंटों पर गेटों को सही तरह से बंद किया जाए। इसके साथ ही पासिंग के समय भी गेटों की निगरानी की जाए। उन्होंने मानसून को लेकर पेट्रोलिंग और अन्य तैयारियों की भी जानकारी प्राप्त की। इसके साथ राजस्व प्राप्ति, लदान और कोरोना संक्रमण से निपटने को लेकर चल रही तैयारियों के बारे में भी जानकारी प्राप्त की।

कोरोना से जान गंवाने वाले रेलवे के कर्मचारियों को दी आर्थिक सहायता

कोरोना संक्रमण से जान गंवाने वाले रेलवे के परिचालन विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों के स्वजनों को रेलवे की ओर से आर्थिक सहायता प्रदान की गई है। कोरोना संक्रमण काल में रेलवे के परिचालन विभाग के 120 से अधिक कर्मचारी संक्रमित हुए थे। इसमें पांच स्टेशन मास्टर, दो गार्ड, एक मुख्य नियंत्रक और एक प्वाइंटसमैन समेत कुल 10 का निधन हो गया था। इन सभी कर्मचारियों के स्वजनों को आर्थिक मदद देने के लिए वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक आकांशु गोविल के प्रयास से परिचालन विभाग के कर्मचारियों ने 20.60 लाख रुपये एकत्रित किया। गुरुवार को डीअारएम कार्यालय में कोरोना से जान गंवाने वाले कर्मचारियों के स्वजनों को दो लाख छह हजार रुपये का चेक प्रदान किए गए। इस अवसर पर केजी गोस्वामी, अमित सुदर्शन, एनपी सिंह आदि उपस्थित रहे। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.