top menutop menutop menu

Fight From CoronaVirus: संक्रमण की लड़ाई में योगा का ये स्‍टाइल Boost करेगा इम्‍युनिटी पावर

आगरा, तनु गुप्‍ता। सरकार ने अनलॉक 1 की घोषणा कर दी है। नियमों के साथ ही सही लेकिन लॉकडाउन अब धीरे धीरे खुलना शुरू हो रहा है। सड़कों पर वाहनों की आपाधापी फिर हो जाएगी। दफ्तरों में फाइलें फिर से खड़खड़ाएंगी। लाइफ स्‍टाइल फिर वक्‍त के साथ रेस लगाएगी लेकिन इन सब के बीच सबसे बड़ी चुनौती होगीकोरोना वायरस से जंग लड़ते हुए खुद को फिट रखने की। इम्‍युनिटी पावर को बूस्‍ट करने के लिए इन दिनों सबसे ज्‍यादा पसंद की जा रही है पावर योगा। योग गुरू अनीता यादव के अनुसार पावर योग एथलेटिक्स का ही एक रूप है। इसमें सूर्य नमस्कार के 12 स्टेप और अन्य आसनों को भी शामिल किया जाता है। जिम के मुकाबले पावर योग से शरीर में लचीलापन अधिक रहता है। साथ ही पावर योगा शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। इसे करने से शरीर में खून का संचार बढ़ता है। जिसके चलते प्रतिरोधक तंत्र संक्रमण के प्रभावों को कम करता है।

यूथ कर रहा पसंद

वजन घटाने के साथ ही यह शरीर में ऊर्जा का संचार तेजी से करता है। पावर योग की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसे रोज करने की जरूरत नहीं है। सप्ताह में तीन से चार दिन भी इसे करने से बेहतर परिणाम आमने आते हैं। जिम जाने वाले युवाओं में योग करने वालों के मुकाबले लचीलापन कम हो जाता है। अगर वजन बहुत अधिक बढ़ गया है तो पावर योग में कैलोरी को जलाने की क्षमता है। इससे आसानी से मोटापा कम कर शरीर को आकर्षक शेप दे सकते हैं। जिन्हें कमर दर्द रहता है, उन्हें इसे करने से रीढ़ की हड्डी को ताकत मिलती है। इन्‍हीं खूबियों के कारण ही यूथ इसे पसंद कर रहा है।

क्या है पावर योग

यह एक ऐसी योग क्रिया है जिसकी मदद से आप अपने शरीर को बहुत ही कम समय व्यायाम कर शक्तिशाली और स्फूर्तिवान बना सकते हैं। पावर योग को सूर्य नमस्कार के 12 आसनों और कुछ अन्य आसनों को मिलाकर बनाया गया है। इस योग में एथलेटिक क्रिया का प्रयोग किया जाता है। पावर योग में सभी क्रियाएं बहुत तेजी और बिना रुके की जाती हैं। जिससे शरीर की कैलोरी बर्न होती है और खूब सारा पसीना आता है। इसमें मुख्यत: सांसों की गति बढ़ाने से ज्यादा शरीर के लचीलेपन पर जोर रहता है। यह योग सभी के लिए एक जैसा नहीं है। पावर योग हमेशा कुशल योग शिक्षक के निरीक्षण में ही करना चाहिए।

ये हैं फायदे

चर्बी कम करने में मददगार

यह शरीर पर जमी अतिरिक्त चर्बी को कम करता है। इस योग वर्कआउट में शरीर से बहुत पसीना निकलता है। पावर योग से शरीर की कैलोरी कम करने की क्षमता बढ़ जाती है। एक सप्ताह में तीन से पांच बार पावर योग कर शरीर को आकर्षक बनाया जा सकता है।

शरीर को रखे संतुलित

पावर योग करने से शरीर से अतिरिक्त पसीना निकलता है। जिसके चलते शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले टॉक्सिन बाहर निकल जाते हैं। इस वजह से आपका शरीर संतुलित होता हैं नतीजन तनाव कम होता है और एकाग्रता बढ़ती है।

बरतें ये सावधानियां

पावर योग खास तौर पर 15 से 35 साल तक के युवाओं के लिए है। 35 साल से ज्यादा उम्र के लोगों में इसके बेहतर परिणाम नहीं देखने को मिले हैं। दिल के रोगियों के लिए पावर योग का अभ्यास करना ठीक नहीं है। लो ब्लड प्रेशर और गर्भवती महिलाओं को भी इसे करने से बचना चाहिए।

क्यों बेहतर है पावर योग

एरोबिक्स, जौगिंग, स्विमिंग और जुंबा डांस आदि अन्य तरीकों की एक्सरसाइज करने से एक घंटे में लगभग 300 से 400 तक की कैलोरी बर्न होती है वहीं पावर योग कर आप एक घंटे में शरीर की 200 कैलोरी बर्न कर सकते हैं, लेकिन इसकी खासियत यह है की यह आपके शरीर को अच्छी तरह से टोन करता है। वो भी शरीर के किसी भी हिस्से पर बिना जोर दिए।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.