आगरा में किसान की गला रेतकर हत्या, खेत में पड़ा मिला शव

अछनेरा के मगूर्रा गांव की घटना फोरेंसिक टीम जांच को पहुंची। शव के पास ही एक कीपैड वाला मोबाइल मिला है। यह मोबाइल ओमवीर का नहीं था। मोबाइल को फोरेंसिक टीम ने कब्जे में ले लिया है। पहले से उनकी किसी से कोई रंजिश नहीं है।

Prateek GuptaFri, 22 Oct 2021 01:05 PM (IST)
आगरा के पास अछनेरा में किसान की हत्‍या कर दी गई है।

आगरा, जागरण संवाददाता। अछनेरा के मगूर्रा गांव में गुरुवार रात को किसान की गला रेतकर हत्या कर दी गई। किसान का शव खेत में लहूलुहान हालत में पड़ा मिला।पुलिस और फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंच गई हैं। घटनास्थल से सुराग तलाशने के प्रयास किए जा रहे हैं।

अछनेरा के गांव मगूर्रा निवासी 55 वर्षीय ओमवीर सिंह किसान हैं। घर के बाहर ही उनकी परचून की दुकान है। उनके दो बेटे हैं। दोनों दिल्ली में नौकरी करते हैं। गांव में वे पत्नी के साथ रहते हैं। गुरुवार रात 10 बजे वे दुकान पर ग्राहक को सामान देने के लिए घर से निकले थे। इसके बाद वापस नहीं आए। पत्नी व परिवार के अन्य लोगों ने उनकी तलाश की, लेकिन कोई जानकारी नहीं मिली। सुबह साढ़े सात बजे गांव के लोग खेतों पर गए तो गांव के बाहर खेत पर उनका शव पड़ा मिला। ओमवीर का गला रेतकर हत्या की गई थी। इसलिए शव के पास काफी मात्रा में खून पड़ा था। घटना की जानकारी होने पर एसएसपी मुनिराज जी. व अन्य अधिकारी पहुंच गए। फोरेंसिक टीम को बुला लिया गया। शव के पास ही एक कीपैड वाला मोबाइल मिला है। यह मोबाइल ओमवीर का नहीं था। मोबाइल को फोरेंसिक टीम ने कब्जे में ले लिया है। ओमवीर के भाइयों ने पुलिस को बताया कि वे कई दिन से डरे हुए थे। उन्होंने बताया था कि कुछ लोग उनको मारना चाहते हैं। वे लोग कौन हैं? इसकी जानकारी अभी स्वजन को नहीं है। पहले से उनकी किसी से कोई रंजिश नहीं है। इसलिए अभी तक हत्या का कारण स्पष्ट नहीं हुआ है। पुलिस अभी हत्याकांड के पर्दाफाश को सभी पहलुओं पर जांच कर रही है। अभी स्वजन ने कोई तहरीर नहीं दी है। ओमवीर के बेटों के दिल्ली से आने के बाद ही वे मुकदमा दर्ज कराएंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.