120 घंटे पानी को तरसेगा आधा शहर

मेयर को भी पाइप लाइन फटने का कारण नहीं बता सके इंजीनियर नहीं सही हो सकी 700 एमएम की फटी पाइप लाइन कई क्षेत्रों में शिकायत के बाद भी नहीं जा पाए टैंकर

JagranMon, 26 Jul 2021 05:05 AM (IST)
120 घंटे पानी को तरसेगा आधा शहर

आगरा,जागरण संवाददाता। जलकल विभाग और स्मार्ट सिटी कंपनी के बीच सामंजस्य न होने के चलते शहरवासियों को जल संकट से जूझना पड़ रहा है। रात भर जेसीबी चली। मजदूर काम में जुटे रहे, लेकिन इसके बाद भी 700 एमएम की फटी पाइप लाइन सही नहीं हो सकी है। यह लाइन क्यों फटी, मौके पर निरीक्षण करने गए मेयर नवीन जैन को इंजीनियर स्पष्ट जवाब नहीं दे सके। मेयर ने नाराजगी जताई और दो टीम गठित कर पाइप लाइन सही करने के आदेश दिए, लेकिन जिस गति से कार्य चल रहा है, उसमे मेयर का ही मानना है कि यह लीकेज 120 घंटे से पहले सही नही हो पाएगा, यानी आधा शहर इस दौरान पानी के लिए तरसेगा। कई क्षेत्रों में जलापूर्ति को टैंकर भेजे गए पर उससे लोगों के कंठ तर नहीं हुए। कई क्षेत्रों में शिकायतों के बाद भी टैंकरों से पानी नहीं भेजा गया। इससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। यमुनापार क्षेत्र में टैंकरों को देखते ही लोगों की भीड़ लग गई। लोग परेशान हुए और पानी भरने को लेकर विवाद तक हुए। भड़के मेयर, टीम गठित

मेयर नवीन जैन ने जलकल अधिकारियों के वाटर व‌र्क्स पर चल रहे मरम्मत कार्य का निरीक्षण किया। जलकल महाप्रबंधक आरएस यादव ने मेयर को बताया कि स्मार्ट सिटी की 1200 एमएम व्यास की पाइप लाइन के नीचे वाटर व‌र्क्स की 700 एमएम की पाइप लाइन फट गई है। वहीं, बगल से ही 750 एमएम और 450 एमएम व्यास की पानी की दो पाइप लाइन और गुजर रही है, जिसके चलते मरम्मत का यह कार्य काफी जटिल है। कार्य पूरा होने में 4 से 5 दिन लग सकते हैं। मेयर ने निरीक्षण के दौरान चल रहे मरम्मत कार्य को देखा। उन्होंने आधे शहर में पानी की आपूर्ति बाधित होने पर चिता व्यक्त की। मेयर ने स्थिति को देखते हुए दो टीम का गठन किया। कहा कि बुधवार तक पानी की आपूर्ति शुरू करने की कोशिश होनी चाहिए। स्मार्ट सिटी की टीम ने नहीं दिया साथ

पाइप लाइन की लीकेज को सही करने में सबसे बड़ी समस्या स्मार्ट सिटी की पाइप लाइन के चलते आ रही है। जलकल विभाग की पाइप लाइन के ठीक ऊपर स्मार्ट सिटी की 1200 एमएम की पाइप लाइन है। इसके ऊपर स्मार्ट सिटी की टीम द्वारा आरसीसी का लेंटर डाल दिया था। जलकल विभाग ने पाइप लाइन सही करने के लिए स्मार्ट सिटी की टीम को बुलाया। दोपहर में टीम आई। थोड़ी देर उन्होंने काम किया और बीच में काम छोड़कर चली गई। इससे पाइप लाइन सही करने का काम ठप हो गया। बाद में जलकल विभाग ने अपने स्तर से काम शुरू किया। इन क्षेत्रों में प्रभावित रही जलापूर्ति

रामबाग, ट्रांस यमुना कालोनी फेस-1 ओर फेस-2, शाहदरा, पीलाखार, काला महल, जीवनी मंडी, बेलनगंज, पीपल मंडी, काजीपाड़ा, मंटोला, बालूगंज, कचहरी घाट, विजय नगर कालोनी, हींग की मंडी, कृष्णा कालोनी, पीर कल्यानी, गधापाड़ा, छीपीटोला, बाग मुजफ्फरखां, नगला रामबल, नगला किशनलाल, नगला मोहनलाल, प्रकाश नगर, श्रीनगर, गोबर चौकी, नौलक्खा, मधुनगर, सेवला, गोकुलपुरा, बोदला चौराहा के आसपास।

- शिकायतों के बाद भी रविवार को जल संस्थान की टीम ने टैंकरों से पानी नहीं भेजा है। इससे परेशान होना पड़ा। आए दिन क्षेत्र की जलापूर्ति ठप रहती है।

कमला देवी ट्रांस यमुना - चार दिनों से राजा की मंडी में जलापूर्ति नहीं हो रही है। इसकी शिकायत जल संस्थान के अफसरों से की जा चुकी है। कार्रवाई नहीं हो रही है।

प्रदीप, राजा की मंडी - तीन दिन से क्षेत्र में जलापूर्ति प्रभावित है। दो सौ मीटर की दूरी से लोगों को पानी लाना पड़ रहा है।

सुनीता, नगला किशन लाल

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.