Cyber ​Peace Awareness Campaign: आगरा में पब्लिक के साथ मिलकर साइबर अपराधियों पर शिकंजा कसेगी पुलिस

Cyber ​Peace Awareness Campaign साइबर पीस जागरूकता अभियान फेस दो में जनजागरूकता को चलाया जाएगा अभियान। जूम एप पर वेबिनार और यू ट्यूब चैनल के माध्यम से साइबर विशेषज्ञ देंगे जानकारी। तीन अगस्त से इसकी शुरुआत होने जा रही है।

Tanu GuptaFri, 30 Jul 2021 05:10 PM (IST)
तीन अगस्त से अभियान की शुरुआत होने जा रही है।

आगरा, जागरण संवाददाता। मोबाइल और इंटरनेट के बढ़ते इस्तेमाल और डिजिटलाइजेशन के दौर में साइबर अपराध भी बढ़ने लगा है। साइबर अपराधी अलग-अलग तरीकों से लोगों की जमा पूंजी को पार कर रहे हैं। ऐसे में पुलिस के त्वरित कार्रवाई करने के साथ ही लोगों का सतर्क रहना भी जरूरी है। इसलिए अब पुलिस पब्लिक की मदद से साइबर अपराधियों पर शिकंजा कसेगी। एडीजी राजीव कृष्ण ने इसके लिए जोन स्तर पर जन जागरूकता अभियान शुरू कराया है।

साइबर पीस जागरूकता अभियान फेस दो में पब्लिक को साइबर अपराध के प्रति जागरूक किया जाएगा। तीन अगस्त से इसकी शुरुआत होने जा रही है। जूम एप पर दस हजार लोगों को एक साथ जोड़कर वेबिनार होगी। इसके साथ ही अन्य लोग यू ट्यूब लिंक से भी जुड़ सकते हैं।दो माह तक चलने वाले इस अभियान की शुरुआत में लोगों को बैंकिंग फ्राॅड के तरीके और उनसे बचने के उपाय बताए जाएंगे।आगरा जोन में पुलिस और साइबर पीस फाउंडेशन संस्था द्वारा साइबर जागरूकता के लिए संयुक्त अभियान चलाया जा रहा है। इसके पहले चरण में जोन के आठ जिलों के 824 पुलिसकर्मियों को साइबर अपराधों और अपराधियो से निपटने की ट्रेनिंग दी गई थी। इसमें विवेचना में डिजिटल साक्ष्य संकलित करने की भी जानकारी दी गई थी। एक से 30 जून तक ट्रेनिंग सेशन चले थे।इस आनलाइन ट्रेनिंग में 340 महिला पुलिसकर्मी, 100 इंस्पेक्टर, 310 एसआइ और 74 कांस्टेबल ने हिस्सा लिया था।अब जागरूकता अभियान के दूसरे चरण में पब्लिक को जागरूक करने की कोशिश की जाएगी। एडीजी राजीव कृष्ण ने बताया कि इसके लिए काफी समय से तैयारी चल रही थी।

जोन के आठों जिलों, आगरा, मथुरा, मैनपुरी, फीरोजाबाद, मैनपुरी, अलीगढ़, हाथरस, कासगंज और एटा में एक-एक नोडल अधिकारी बनाकर उन्हें जिम्मेदारी गई है। सभी ने अपने-अपने जिले के सामाजिक, धार्मिक और व्यापारिक संगठनों के साथ अधिवक्ता, शिक्षक, चिकित्सक और छात्र संगठनों के लोगों को वाट्सएप पर ग्रुप बनाकर उनसे सतत संपर्क रखा जा रहा है। इन्हीं वाट्सएप ग्रुपों पर दो अगस्त को जूम पर वेबिनार का लिंक शेयर किया जाएगा। इससे एक बार में 10 हजार लोग वेबिनार से जुड़ सकेंगे। इसके साथ ही एडीजी जोन आगरा के नाम से यू ट्यूब पर चैनल बनाया गया है। इसको खोलकर भी साइबर अपराध की जानकारी की जा सकती है। तीन अगस्त को यह आनलाइन जागरूकता अभियान शुरू हो रहा है।

उदघाटन सत्र में वेबिनार से डीजीपी मुकुल गोयल, एडीजी राजीव कृष्ण, आइजी नवीन अरोरा और साइबर पीस फाउंडेशन के संस्थापक मेजर विनीत कुमार भी जुड़ेगे। विशेषज्ञ के रूप में साइबर पीस फाउंडेशन के एडवाइजर रक्षित टंडन मौजूद रहेंगे। आप भी जुड़ सकते हैंएडीजी जोन आगरा के यू ट्यूब चैनल पर भी साइबर जागरूकता को की जा रही वेबिनार का लाइव प्रसारण होगा। तय सेड्यूल पर लोग यू ट्यूब पर चैनल खोलकर आनलाइन जानकारी ले सकते हैं। चैनल को सबस्क्राइब करने पर उन्हें नोटिफिकेशन मिल जाएगा।

इन विषयों पर दी जाएगी जानकारी

बैंकिंग फ्राड, इंटरनेट मीडिया, मोबाइल डिवाइस सेफ्टी, कुछ गलत हो तो कहां सूचना और समाधान कैसे करें? महिला और बच्चों के प्तिर किस तरह अपराध हो रहे हैं और कैसे बचे?

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.