Ram Mandir Ayodhya: राममय हुई ताजनगरी, दिवाली सा छाया उल्लास, जमकर हुई आतिशबाजी

Ram Mandir Ayodhya: राममय हुई ताजनगरी, दिवाली सा छाया उल्लास, जमकर हुई आतिशबाजी

Ram Mandir Ayodhya अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन के बाद शाम को आगरा में बनी दिवाली। दीपों से जगमगाए घर जगह-जगह बांटे गए लड्डू।

Publish Date:Wed, 05 Aug 2020 09:56 PM (IST) Author: Prateek Gupta

आगरा, जेएनएन। दीयों की जगमगाहट, झालरों की झिलमिलाहट। कहीं मिष्ठान वितरण तो कहीं धार्मिक अनुष्ठान। मंदिरों में गूंजते शंख, गलियों में जय श्रीराम के जयकारे। कारसेवकों के चेहरे पर उमड़ता खुशियों का सागर। सड़कों से गुजरतीं हर्षित, प्रफुल्लित हिंदूवादियों की टोलियां। कहीं आसमान में सतरंगी आतिशबाजी तो कहीं सजे फूलों के डोले। चहुंओर दिवाली का सा उल्लास। ऐसे में बुधवार सुबह से शाम, बस राम ही राम।

मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के मंदिर के शिलान्यास पर कालिंदी किनारे भी सरयू जैसी भक्ति की लहरें हिलोरे मार रही थीं। ताजनगरी राममय हो गई। इस ऐतिहासिक पल का साक्षी बनने को शहरवासी सुबह से ही टीवी और सेाशल मीडिया पर सक्रिय रहे। घरों में श्रीराम के भजन गूंजने लगे। कहीं अखंड रामायण तो कहीं हनुमान चालीसा का पाठ शुरू हो गया। मंदिरों में शंख गूंजने लगा। भूमि पूजन का कार्यक्रम संपन्न होते ही शहर में जगह-जगह मिष्ठान वितरण शुरू हो गया। चौराहों पर राजनीतिक, सामाजिक, धार्मिक संगठनों ही नहीं, व्यापारियों ने भी बाजारों में मिठाई बांटी। ङ्क्षहदूवादी संगठन से जुड़े कार्यकर्ताओं ने रामबाग स्थित सीता राम घाट पर यमुना में दूध की धार छोड़ी। इसके बाद सामूहिक आरती कर यमुना में दीपदान किया। भगवान श्रीराम मंदिर निर्माण की शुरुआत होने पर शाम होते ही छतों पर दीये जगमगाने लगे। किसी ने पांच दीये जलाए तो किसी ने दीपों की माला ही बना डाली। अपार्टमेंट, प्रतिष्ठानों के साथ-साथ तमाम लोगों ने अपने-अपने घरों पर आकर्षक सजावट की। आतिशबाजी कर अपनी खुशी जाहिर की। उत्साह और उमंग के माहौल में ऐसा लग रहा था कि मानो ताजनगरी में अयोध्या नगरी उतर आई है। इस मौके पर अयोध्या आंदोलन से जुड़े कारसेवक खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहे थे। एमजी रोड पर भगत हल्‍वाई पर शिशिर भगत व अन्‍य नेे प्रभु श्रीराम का पूजन किया और इसके बाद मिठाई बांटी।

पुष्‍पांजलि बाग में हुई सजावट और आतिशबाजी

श्री राम मंदिर की भूमि पूजन के उपलक्ष्य में पुष्पांजलि बाग़ के निवासियों ने भव्य दीपोत्सव एवं आतिशवादी का आयोजन किया। इस  में मुख्य रूप से प्रदीप पुरी, मुकेश चौहान, सतीश मल्होत्रा, शरद मल्होत्रा, राजीव कपूर, मनोज शर्मा, अनिल सरदाना, गुलशन बुद्ह्हीराजा, प्रेम मल्होत्रा आदि का सहयोग रहा। 

बरसों बाद गूंजा 'रामलला हम आएंगे'

राम मंदिर आंदोलन से लेकर अब तक राम भक्तों द्वारा एक नारा लगाया जाता रहा है राम लला हम आएंगे मंदिर वहीं बनाएंगे। सालों बाद बुधवार को प्रधानमंत्री के राम मंदिर के शिलान्यास के बाद भक्तों का यह नारा पूरा हो गया। अयोध्या में राम मंदिर की नींव रख दी गई। इससे राम भक्तों में खुशी की लहर है।

बुधवार दोपहर साढ़े 12 बजे जैसे ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर निर्माण के लिए शिला रखी, वैसे ही हर तरह जय-जय श्रीराम के जयकारे गूंजने लगे। राम मंदिर आंदोलन में कार सेवा करने वाले रामकुमार शर्मा का कहना था कि इस पल का सालों से इंतजार था। भगवान राम का भव्य मंदिर जल्द बनकर तैयार होगा। यह पल हमेशा याद रहेंगे। ङ्क्षहदू वादी नेता अविनाश राणा का कहना है कि जब छोटे थे, तब से एक ही नारा बोलते थे, राम लला हम आएंगे मंदिर वहीं बनाएंगे तो उस समय लोग पूछते थे कि कब बनाएंगे। सालों बाद अब वो नारा पूरा हो गया। मंदिर की आधारशिला रख दी गई। रामबाग निवासी धर्मेंद्र गोला भी मंदिर के शिलान्यास से बहुत खुश हैं। इस अवसर पर हवन पूजन भी किया। जूता कारोबारी चंद्रवीर ङ्क्षसह का कहना है कि इस यादगार दिन का साक्षी बनकर खुशी है। रामभक्तों के लिए इससे बड़ा दिन नहीं हो सकता। हर जगह उत्सव का माहौल है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.