PM Kisan Samman Nidhi: किसानों के लिए जरूरी है ये खबर, सम्मान चाहिए तो खाता दुरुस्त कराएं

जिले में वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार 2.59 लाख किसान हैं

PM Kisan Samman Nidhi ब्लाक स्तर पर लगेंगे शिविर किसान करा लें संशोधन। जिले में वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार 2.59 लाख किसान हैं जबकि 3.16 लाख किसानों के खाते में सम्मान निधि की सातवीं किश्त आ चुकी है।

Publish Date:Thu, 28 Jan 2021 08:38 AM (IST) Author: Tanu Gupta

आगरा, जागरण संवाददाता। पीएम किसान सम्मान निधि की आठवीं किश्त अप्रैल में जारी होगी, लेकिन 10 हजार से अधिक किसान ऐसे हैं, जिनकी खाते में पैसा नहीं आएगा। इन किसानों का खाता आधार से लिंक नहीं है या दूसरी समस्या है। अब शासन सभी तरह से दुरुस्त खाते में ही धनराशि भेजेगा।

जिले में वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार 2.59 लाख किसान हैं, जबकि 3.16 लाख किसानों के खाते में सम्मान निधि की सातवीं किश्त आ चुकी है। किसानों के बालिग बच्चों को भी पात्र मानते हुए सरकार ने आवेदन की छूट दी थी, जिसके बाद लाभार्थियों की संख्या बढ़ गई है। ऐसे कार्ड धारक जिनके खाते में दो से तीन किश्त आ चुकी हैं, लेकिन अब रुकी हुई हैं। वे अपने आधार कार्ड की छायाप्रति कृषि विभाग के क्षेत्रीय कर्मचारी या उपनिदेशक कार्यालय में जमा करा किश्त सुचारू करा सकते हैं। इसके साथ ही फरवरी के प्रथम सप्ताह में ब्लाक स्तर पर लगने वाले शिविर में संशाेधन करा सकते हैं। जिला कृषि अधिकारी डा. रामप्रवेश ने बताया कि सम्मान निधि संबंधित समस्या के निस्तारण के लिए ब्लाक स्तर पर शिविर लगाए जाएंगे। कृषि विभाग के प्राविधिक सहायक मौजूद रहकर संशोधन कराएंगे। ऐसे किसान जिनकी सम्मान निधि खाते में नहीं आई है। जिनके खाता संख्या गलत है, आधार नंबर खाते से लिंक नहीं है, ऐसी समस्याओं का निस्तारण कराए जाएंगे।

करा लें सत्यापन

ऐेसे आवेदक जिन्होंने ऑनलाइन आवेदन कर दिया है, वे हार्ड कापी लेखपाल से सत्यापित कराकर उपनिदेशक कृषि कार्यालय में जमा करा दें। ऐसे नहीं करने पर आगामी प्रक्रिया नहीं होगी। सत्यापन कराकर फार्म के साथ बैंक पास बुक, आधार कार्ड और खतौनी की छाया प्रति संलग्न करनी है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.