दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Black Marketing: आगरा में आॅक्सीजन सिलेंडर और रेमेडिसविर की कालाबाजारी, पुलिस को मिलीं शिकायतें

आगरा पुलिस को रेमेडिसविर इंजेक्शन और ऑक्‍सीजन की कालाबाजारी की सूचना मिली है।

दो शिकायतें रेमेडिसविर इंजेक्शन की मिलीं जांच में जुटी टीम। एक शिकायत आक्सीजन सिलेंडर के नाम पर ठगी की आई। इस पर अंकुश लगाने के लिए एसएसपी मुनिराज जी ने कोविड एंटी ब्लैक मार्केटिंट स्क्वाड गठित किया है। इसके नोडल अधिकारी एसपी पूर्वी के वैंकट अशोक बनाए गए हैं।

Prateek GuptaTue, 11 May 2021 09:00 AM (IST)

आगरा, जागरण संवाददाता। आगरा में दवा और रेमेडिसविर इंजेक्शन की कालाबाजारी हो रही है। कालाबाजारी पर अंकुश लगाने के लिए कोविड एंटी ब्लैकमार्केटिंग स्क्वाड गठित होने के बाद पुलिस को शिकायतें मिलने लगी हैं। चौबीस घंटे में पुलिस को चार शिकायतें मिली हैं। इनमें से दो रेमेडिसविर इंजेक्शन की कालाबाजारी और एक आक्सीजन सिलिंडर के नाम पर ठगी से संबंधित है। पुलिस की टीमें अब इन सभी की जांच कर आरोपितों तक पहुंचने का प्रयास कर रही हैं।

कोरेाना संक्रमण के दौर में आक्सीजन सिलिंडर, दवा और इंजेक्शन की धड़ल्ले से काजाबाजारी हो रही है। इस पर अंकुश लगाने के लिए एसएसपी मुनिराज जी ने कोविड एंटी ब्लैक मार्केटिंट स्क्वाड गठित किया है। इसके नोडल अधिकारी एसपी पूर्वी के वैंकट अशोक बनाए गए हैं। उनके नेतृत्व में सर्विलांस और साइबर टीम भी काम कर रही है।एसएसपी ने बताया कि कालाबाजारी की सूचना देने के लिए जारी किए गए मोबाइल नंबर पर 24 घंटे में चार सूचनाएं मिली हैं। इनमें से एक सूचना जनरल है। इसमें सूचनाकर्ता ने कहा है कि शहर में दवा और आक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी हो रही है। इसके अलावा दो शिकतायें रेमेडिसविर इंजेक्शन की कालाबाजारी की हैं। दिल्ली की एक पार्टी ने आगरा के व्यक्ति से तीन दिन पहले तीस हजार रुपये इंजेक्शन के लिए ले लिए थे। इंजेक्शन नहीं दिया गया। अब पीड़ित ने इसकी शिकायत की है। पुलिस की टीम अब दिल्ली की पार्टी तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। इसके बाद यह भी सत्यापन किया जाएगा कि इंजेक्शन लेने वाले व्यक्ति को इसकी जरूरत थी या नहीं। एक व्यक्ति ने 5400 रुपये में रेमेडिसविर इंजेक्शन बेचने वाले की शिकायत की है। इसके बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है। एक अन्य शिकायत आक्सीजन सिलेंडर से संबंधित है। एक व्यक्ति को आक्सीजन सिलडर की जरूरत थी। उसने फेसबुक पर एक एनजीओ का विज्ञापन देखा। उसमें एक मोबाइल नंबर दिया गया था। मोबाइल पर संपर्क किया गया तो उन्होंने काॅॅॅल रिसीव करने वाले ने कहा कि सिक्योरिटी मनी जमा करनी होगी। इसके बाद आक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध करा दिया जाएगा। उसकी बातों पर भरोसा कर लिया। इसके बाद खाते में रकम ट्रांसफर कर दी। इसके बाद वह नंबर बंद हो गया। पुलिस की प्रारंभिक छानबीन में यह गैंग बिहार का होने की जानकारी मिली है। इसके बारे में और जानकारी जुटाई जा रही है।

इस नंबर पर दें कालाबाजारी की सूचना

एसएसपी मुनिराज जी ने लोगों से अपील की है कि वे दवा, इंजेक्शन, आक्सीजन सिलेंडर या अन्य किसी वस्तु की कालाबाजारी की शिकायत 7839003386 पर कर सकते हैं। उनकी पहचान गोपनीय रखते हुए पुलिस आरोपितों पर जांच के बाद कार्रवाई करेगी। इसके साथ ही आगरा पुलिस के ट्विटर एकाउंट @agrapolice पर ट्वीट करके भी इसकी शिकायत कर सकते हैं। एंटी ब्लैकमार्केटिंग स्क्वाड का गठन कालाबाजारी पर अंकुश लगाने के लिए किया गया है। जन सहयोग से यह कार्य किया जाएगा। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.