मलपुरा में व्यापारी को पीटने पर पुलिस के खिलाफ गुस्सा, कार्रवाई की उठाई मांग

मलपुरा निवासी राम किशोर की कस्बे में ही खाद–बीज और कपड़े की दुकान है। 15 सितंबर को इनकी दुकान पर डंपर ने टक्‍कर मारी थी। पुलिस ने डंपर चालक को तो मौके से रवाना कर दिया लेकिन व्‍यापारी से मारपीट कर दी।

Prateek GuptaFri, 17 Sep 2021 05:25 PM (IST)
मलपुरा में एसओ को ज्ञापन सौंपते व्‍यापार मंडल के सदस्‍य।

आगरा, जेएनएन। मलपुरा में पुलिस ने सरेआम व्यापारी से मारपीट कर दी। इससे अन्य साथी व्यापारियों में रोष व्याप्त हो गया। उन्होंने आरोपित पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। मामले में मुख्यमंत्री, डीएम, एसएसपी, क्षेत्रीय विधायक, सीओ और थानाध्यक्ष को शिकायती पत्र भेजा है।

मलपुरा निवासी राम किशोर की कस्बे में ही खाद–बीज और कपड़े की दुकान है। 15 सितंबर 2021 की शाम करीब 08:30 बजे रामकिशोर की दुकान का पत्थर एक डंपर ने तोड़ दिया। डंपर चालक से रामकिशोर की कहासुनी होने लगी। इस दौरान पुलिस आ गई। आरोप है कि पुलिस ने डंपर चालक को निकाल दिया। जबकि रामकिशोर को पकड़ लिया। उससे सरेआम मारपीट कर दी। इसके बाद व्यापारी को गाड़ी में डालकर थाने ले आए। उसे हवालात में बंद कर दिया। इसकी जानकारी मिलते ही अन्य व्यापारी एकजुट हो गए। वे भी थाने पहुंच गए। वे बंद व्यापारी को छोड़ने की मांग अड़ गए। उनके गुस्से को देख थाना पुलिस बैकफुट पर आ गई। पुलिस ने रामकिशोर को छोड़ दिया। गुरुवार की रात व्यापारियों ने बैठक की। इसमें आरोपित पुलिसकर्मियों की मुख्यमंत्री से शिकायत करने का निर्णय लिया। अगले ही दिन शुक्रवार सुबह व्यापारी थाने पर आ गए। उन्होंने थाना प्रभारी को शिकायती पत्र सौंपकर आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। उन्होंने चेतावनी भी दी कि पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई तो आंदोलन करेंगे। इस दौरान अध्यक्ष सुनील कुमार उपाध्याय, ग्राम प्रधान हिम्मत सिंह, देवेंद्र गुप्ता, सुरेंद्र सिंह शाक्य, रामेश्वर दयाल, वेदप्रकाश गुप्ता, जय प्रकाश गुप्ता, जय प्रकाश गुप्ता, संजीव कुमार जैन, अशोक कुमार मित्तल, दयानंद गुप्ता, राकेश कुमार शाक्य, राहुल पचौरी, मोनू जैन आदि व्यापारी थे।

इनके खिलाफ उठाई कार्रवाई की मांग

व्यापार मंडल के अध्यक्ष सुनील कुमार उपाध्याय ने बताया कि दारोगा मानपाल सिंह और गाड़ी चालक संजय ने व्यापारी रामकिशोर से मारपीट की थी। पत्थर तोड़ने का विरोध करने पर इन पुलिसकर्मियों ने ही पीड़ित व्यापारी को जबरन गाड़ी में डाल लिया था। थाने ले जाकर गाली–गलौज की। हवालात में बैठा दिया।

द्वेष भावना रखते हैं ये पुलिसकर्मी

व्यापारियों का आरोप है कि ये पुलिसकर्मी लॉकडाउन में भी व्यापारियों से दुर्व्यहार के कारण सुर्खियों में रहे थे। उन्होंने कई व्यापारियों से गाली गलौज और मारपीट की थी। मामले की मौखिक रूप से थाना प्रभारी से शिकायत भी की थी। इससे ये द्वेष भावना रखते हैं।

व्यापार मंडल की ओर से शिकायत मिली है। मामले में जांच कराई जा रही है।

– अरुण कुमार बालियान, थानाध्यक्ष मलपुरा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.