शिक्षक आज से काली पट्टी बांधकर दर्ज कराएंगे विरोध

दो शिफ्ट में स्कूल लगाए जाने से शिक्षक आक्रोशित उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ पांडेय गुट के युवा प्रकोष्ठ ने जताया विरोध

JagranTue, 17 Aug 2021 09:24 PM (IST)
शिक्षक आज से काली पट्टी बांधकर दर्ज कराएंगे विरोध

आगरा, जागरण संवाददाता। कोरोना संक्रमण से राहत मिलते ही स्कूल खुल चुके हैं, लेकिन दो शिफ्ट में स्कूल लगाए जाने से शिक्षक आक्रोशित हैं। इसको लेकर उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ, पांडेय गुट के युवा प्रकोष्ठ ने विरोध जताना शुरू कर दिया है।

प्रदेश अध्यक्ष डा. भोजकुमार शर्मा ने बताया कि संगठन ने मंगलवार को कलक्ट्रेट स्थित हालमन इंस्टीट्यूट में बैठक कर निर्णय लिया है कि बुधवार से काली पट्टी बांधकर इस तुगलकी फरमान का विरोध करेंगे। मुख्यमंत्री को भी ज्ञापन भेजकर विरोध करेंगे कि कक्षाएं दो पाली में संचालित न की जाएं। सुबह आठ से तीसरे पहर साढ़े चार बजे तक साढ़े आठ घंटे शिक्षक कैसे पढ़ाएंगे, जबकि शिक्षकों के आधे से अधिक पद रिक्त हैं। शिक्षणेत्तर कर्मचारी भी नगण्य हैं। शिक्षा संहिता की धारा 86 में विद्यालय दो पाली में चलाने की मनाही है। इस मौके पर चंचल बंसल,छाया तिवारी, सल्तनत फिरोज, रुबीना तहसीन, संजू वाला, परविदर कौर, रेहाना खातून, मकसूद अली आदि मौजूद रहे। मिलकर बताई शिक्षकों की समस्याएं

आगरा, जागरण संवाददाता। सहायता प्राप्त जूनियर हाईस्कूलों में अब तक किताबों का वितरण नहीं किया गया। सेवानिवृत शिक्षकों के जीपीएफ भुगतान नहीं हुए। शिक्षकों के परिचय पत्र तक नहीं बन सके हैं। इन सभी समस्याओं को लेकर उप्र सीनियर बेसिक शिक्षक संघ ने सहायक निदेशक (एडी) बेसिक महेश चंद्र से मुलाकात की।

संगठन जिलाध्यक्ष डा. महेश कांत शर्मा का कहना था कि सहायता प्राप्त विद्यालयों के साथ सौतेला व्यवहार किया जाता है। एडी बेसिक ने भरोसा दिलाया कि 23 अगस्त से किताबों वितरण शुरू करा दिया जाएगा। उन्होंने संबंधित जिला प्रभारी को इसके निर्देश भी दे दिए। साथ ही बीएसए की तैनाती होते ही परिचय पत्र बनवाने का भरोसा दिया। वहीं लंबित भुगतान के मामले में वित्त एवं लेखाधिकारी से वार्ता करने का भरोसा दिलाया। इस दौरान जिला मंत्री जीआर जादौन आदि मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.