आगरा में शादी से अगवा कर मासूम से दुष्कर्म और हत्या करने वाला आरोपित गिरफ्तार

मलपुरा में शादी समारोह से चीज दिलाने की कहकर ले गया था आरोपित संजय। दुष्कर्म के दौरान रोने पर मुंह दबाकर ले ली जान। घटनास्थल पर मिले गमछे से आरोपित संजय का पुलिस का सुराग मिला था। वह शादी की वीडियो में गमछा गले में डाले हुए था।

Prateek GuptaSat, 04 Dec 2021 12:12 PM (IST)
पांच साल की मासूम से दुष्‍कर्म और हत्‍या करने वाला आरोपित पुलिस गिरफ्त में है।

आगरा, जागरण संवाददाता। मलपुरा में पांच साल की मासूम से दुष्कर्म और हत्या का आरोपित शुक्रवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपित शादी समारोह से मासूम को चीज दिलाने का लालच देकर अपने साथ ले गया था। दुष्कर्म के दौरान रोने पर उसका मुंह दबाकर जान ले ली।

मलपुरा के एक गांव में बुधवार की रात को शादी समारोह के दौरान पांच साल की मासूम बच्ची को अगवा कर लिया गया था। दुष्कर्म के बाद हत्या कर लाश को सरसों के खेत में फेंक दिया था। स्वजन के पुलिस को सूचना देने पर पुलिस ने खोजबीन कर मासूम के शव को कार्यक्रम स्थल से 200 मीटर दूर सरसों के खेत में बरामद किया था। घटनास्थल पर मिले गमछे से आरोपित संजय का पुलिस का सुराग मिला था। वह शादी की वीडियो में गमछा गले में डाले हुए था।

एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि आरोपित संजय को गिरफ्तार कर लिया है। मथुरा के थाना फरह के गांव शहजादपुर का रहने वाला है। पुलिस के पूछताछ करने पर आरोपित ने बताया कि बच्ची उसे पहले से जानती थी। इसलिए उसे चीज दिलाने के बहाने से अपने साथ लेकर गया था। सामने से ले जाने पर लोगों के देख लेने का डर था। जिसके चलते वह मासूम को पीछे के रास्ते से खेतों की ओर लेकर गया था। रास्ते में तार की बाड़ लगी होने के चलते उसके और मासूम के कपड़े फंस गए थे। जिसके चलते उसे खरोंच भी आ गई थी।आरोपित ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि दुष्कर्म के दौरान मासूम के रोने पर पकड़े जाने के डर से उसका मुंह दबा दिया। जिससे उसकी मौत हो गई थी।

मासूम की जान लेने के बाद घर आकर सो गया था आरोपित

दुष्कर्म और हत्या के बाद आरोपित संजय घर लौट अाया था। उसने अपने कपड़े बदले और सो गया था। गुरुवार की सुबह पांच बजे वह लोगों के जागने से पहले घर से भाग गया था। उसे डर था कि बालिका के स्वजन उसकी तलाश शुरू कर देंगे। जिसके बाद वह पकड़ा जाता।

दो साल पहले भी गांव में शादी पर बालिका को था दबोचा

पुलिस को छानबीन के दौरान गांव के लोगों ने बताया कि आरोपित ने दो साल पहले भी इसी तरह की घटना का प्रयास किया था। वह इस घर में शादी में शामिल होने आया था। तब एक बालिका को दबोच लिया था। बालिका के शोर मचाने पर आरोपित को लोगो ने पकड़ लिया था। उसे समारोह से भगा दिया गया था। रिश्तेदार होने के चलते आरोपित के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई थी। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.