क्या है Metaverse? जिस पर Facebook निवेश करेगी 370 करोड़ रुपये, जानिए इसके फायदे

Facebook की तरफ से Metaverse नाम से एक टेक सॉल्यूशन लाया जा रहा है। जिसे डेवलपमेंट पर Facebook की तरफ से 50 मिलियन डॉलर (करीब 370 करोड़ रुपये) खर्च किये जाएंगे। इसके लिए Facebook कई सारे संगठन के साथ मिलकर Metaverse पर निर्माण पर काम कर रही है।

Saurabh VermaTue, 28 Sep 2021 03:01 PM (IST)
यह फेसबुक की प्रतीकात्मक फाइल फोटो है।

सैन फ्रांसिस्को, आइएएनएस। सोशल मीडिया टेक कंपनी Facebook की तरफ से Metaverse नाम से एक टेक सॉल्यूशन लाया जा रहा है। जिसे डेवलपमेंट पर Facebook की तरफ से 50 मिलियन डॉलर (करीब 370 करोड़ रुपये) खर्च किये जाएंगे। इसके लिए Facebook कई सारे संगठन के साथ मिलकर Metaverse पर निर्माण पर काम कर रही है।

क्या है Metaverse

Metaverse का कॉन्सेप्ट सबसे पहले साल 1992 में आया था। Metaverse एक तरह का वर्चुअल स्पेस सेट होता है। जिसे कोई भी क्रिएट कर सकेंगे। और इसे दूसरे व्यक्ति के साथ साझा कर सकेगा, जो उस फिजिकल स्पेस में मौजूद नहीं है। साधारण शब्दों में  कहें, तो इंटरनेट की मदद से अपने आस-पास में एक 3D वर्चुअल स्पेस बनाया जा सकेगा। मतलब आप वर्क फ्रॉम करते हुए भी एक तरह के वर्चुअल तरीके से बैठकर एक ऑफिस में काम कर सकेंगे। एक तरह से लोग अपनी वर्चुअल दुनिया बना सकेंगे। जैसा कि आपको साइंस फिक्शन फिल्मों में देखने को मिलता है। 

10 से 15 साल का लग सकता है वक्त  

Facebook का कहना है कि कंपनी इसके डेवलपमेंट के लिए सरकार के एक्सपर्ट, इंडस्ट्री और अकैडमिक जगत के लोगों से बातचीत करेगी। जिससे metaverse की दुनिया की चुनौतियों और संभावनाओं पर विचार किया जा सके। Facebook ने बताया कि कंपनी Metaverse के निर्माण को लेकर ह्यूम राइट और सिविल राइट कम्यूनिटीज को शामिल करने पर विचार कर रही है। बता दें कि Metaverse कोई एक सिंगल प्रोडक्ट नहीं है, जिसका डेवलपमेंट Facebook की तरफ से किया जा रहा है। और इसे रातों-रात नहीं बनाया जाएगा। इनमें से कई सारे प्रोडक्ट को अगले 10 से 15 साल में पूरी तरह से साकार किया जा सकेगा।

इन प्रोडक्ट पर भी Facebook ने किया है निवेश 

Facebook ने वर्चुअल रियलिटी और ऑगमेंटेड रियलिटी में काफी निवेश किया है। साथ ही कंपनी अपने हार्डवेयर को भी विकसित कर रही है। इसमें Oculus और VR हेडसेट का नाम सामने आता है। साथ ही Facebook की तरफ से AR Glasses पर काम किया जा रहा है। शुरुआत में Facebook ने RAy-Ban के साथ साझेदारी की थी। इसी साझेदारी के तहत कंपनी अपना पहला स्मार्ट चश्मा पेश कर रही है, जिसका नाम Ray Ban Stories है। इसकी शुरुआती कीमत 299 डॉलर (करीब 21,988 रुपये) है। इसमें पोलराइज्ड और ट्रांजिशन लेंस ऑप्शन को ज्यादा प्राइस प्वाइंट पर उपल्बध कराया गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.