Vodafone Idea यूजर्स इस फर्जी KYC मैसेज से रहे सावधान, चोरी हो सकता है आपका पर्सनल डेटा

Vodafone Idea यूजर्स को साइबर क्रिमिनल्स फर्जी KYC मैसेज से निशाना बना रहे हैं। बताया जा रहा है कि यूजर्स को मैसेज मिलने के 24 घंटे के भीतर मैसेज में दिए गए नंबर पर कॉल करके KYC वेरिफिकेशन के लिए दस्तावेज जमा करने के लिए मैसेज भेजा जा रहा है।

Mohini KediaWed, 28 Jul 2021 06:48 PM (IST)
यह Jagran की प्रतीकात्मक फाइल फोटो है।

नई दिल्ली, टेक डेस्क। Vodafone Idea यूजर्स को साइबर क्रिमिनल्स फर्जी केवाईसी मैसेज से निशाना बना रहे हैं। बताया जा रहा है कि वोडाफोन यूजर्स को मैसेज मिलने के 24 घंटे के भीतर मैसेज में दिए गए नंबर पर कॉल करके यूजर्स को KYC वेरिफिकेशन के लिए दस्तावेज जमा करने के लिए कहने वाला मैसेज भेजा जा रहा है। मैसेज में कहा गया है कि अगर आप 24 घंटे के भीतर अपना डिटेल्स अपडेट नहीं करते हैं, तो आपका नंबर बंद कर दिया जाएगा। यह यूजर्स को डराने के लिए काफी है, लेकिन यह ध्यान रखना जरूरी है कि वोडाफोन या कोई दूसरी कंपनी इस तरह के मैसेज अपने सब्सक्राइबर्स को नहीं भेजेगी। कोई भी कंपनी अपने यूजर्स को कभी भी धमकी नहीं सकती है। ऐसे मैसेज साइबर अपराधियों द्वारा यूजर्स की जरूरी जानकारी चुराने के लिए भेजे जाते हैं।

“प्रिय ग्राहकों, आपका वोडाफोन सिम ई-केवाईसी पूरा नहीं हुआ है। e-KYC को पूरा करने के लिए आप तुरंत वोडाफोन हेल्पलाइन नंबर 786XXXXX पर कॉल कर सकते हैं। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपका मोबाइल नंबर 24 घंटे बाद बंद हो जाएगा। ज्यादातर फिशिंग ईमेल या मैसेज में एक लिंक होता है जो यूजर्स को एक नकली वेबसाइट पर ले जाता है, लेकिन इस संदेश में एक नंबर होता है। संदेश विश्वसनीय लगता है और कोई भी यूजर इसका शिकार हो सकता है। यह यूजर्स को अपने नंबर बंद होने से बचाने के लिए अपनी eMail ID, पता, आधार कार्ड नंबर और अन्य जरूरी डेटा शेयर करने के लिए आश्वस्त करता है।

पिछले महीने में ही यह बताया गया था कि इस तरह के संदेश एयरटेल, Jio ग्राहकों को भी भेजे जा रहे थे। ट्विटर पर कई यूजर्स ने बताया कि जब उन्होंने मैसेज में दिए गए नंबर पर कॉल करने का प्रयास किया तो उन्हें अपनी पर्सनल जानकारी जमा करने के लिए कहा गया। विशेष रूप से, ऐसे मैसेज में हमेशा बहुत अधिक खामियां होती हैं। Vodafone या Airtel या Jio जैसी बड़ी कंपनी अपने यूजर्स को मैसेज भेजने में ऐसी बुनियादी गलतियां नहीं करेगी।

ऐसे मैसेज का जवाब देते समय आपको सावधान रहना होगा और मैसेज के साथ आने वाले लिंक पर कभी भी क्लिक न करें। ऐसे मैसेज को क्रॉस-चेक या रिपोर्ट करना हमेशा बेहतर होता है ताकि कंपनी ऐसे मैसेज के खिलाफ एक एडवाइजरी जारी कर सके।

Airtel के सीईओ गोपाल विट्टल ने साइबर फ्रॉड के बढ़ते मामलों को लेकर यूजर्स को आगाह किया था। उन्होंने यूजर्स को किसी भी रेंडम कॉलर के साथ KYC के लिए अपना OTP या डिटेल्स शेयर करने के प्रति आगाह किया है। विट्टल ने Airtel के ग्राहकों को सलाह दी थी कि अगर उन्हें कभी भी ऐसी स्थिति आती है तो वे 121 पर कॉल करें।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.