Viva Tech Summit 2021 : टेक्नोलॉजी और डिजिटल हैं सहयोग के नये उभरते हुये क्षेत्र : पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने VivaTech समिट में कहा कि कोविड-19 महामारी हमारे दौर का सबसे बड़ा व्यवधान है। इससे विश्व के सभी देशों को नुकसान हुआ है। कोविड-19 महामारी के चलते सभी देश अपनी भविष्य की योजनाओं को लेकर चिंतित है।

Saurabh VermaWed, 16 Jun 2021 04:29 PM (IST)
यह पीएम मोदी की प्रतीकात्मक फाइल फोटो है।

नई दिल्ली, टेक डेस्क। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज VivaTech के 5वें संस्करण को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि जहां पारंपरिक साधन विफल हो जाते हैं, वहां इनोवेशन हमेशा पारंपरिक साधनों की मदद करता है। ऐसा वैश्विक कोविड-19 महामारी के दौरान देखा गया है। बता दें कि VivaTech यूरोप का सबसे बड़ा डिजिटल और स्टार्ट-अप इवेंट है। इसे साल 2016 से सालाना पेरिस में आयोजित किया जाता रहा है। इसमें दुनियाभर के राष्ट्र प्रमुख हिस्सा लेते रहे हैं। 

VivaTec समिट में पीएम मोदी ने कहा कि कोविड-19 महामारी हमारे दौर का सबसे बड़ा व्यवधान है। इससे विश्व के सभी देशों को नुकसान हुआ है। कोविड-19 महामारी के चलते सभी देश अपनी भविष्य की योजनाओं को लेकर चिंतित है। लेकिन VivaTech जैसे प्लेटफॉर्म फ्रांस के टेक्नोलजी विजन को दर्शाताे हैं। भारत और फ्रांस टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में कई मुद्दों पर एक साथ मिलकर काम कर रहे हैं। इसमें से एक टेक्नोलॉजी और डिजिटलीकरण हैं। पीएम मोदी के मुताबिक  टेक्नोलॉजी और डिजिटल सहयोग के उभरते क्षेत्र बनकर उभर रहे हैं।

पीएम मोदी ने इनोवेटर्स और इन्वेस्टर्स को भारत में आमंत्रित किया। पीएम मोदी के मुताबिक भारत में टैलेंट, मार्केट, कैपिटल, इको-सिस्टम और कल्चर ऑफ ओपनर्स मौजूद है, जो किसी इनोवटर्स और इन्वेस्टर्स के लिए जरूरी होता है। पिछले कुछ सालों में हमारी सरकार ने अलग-अलग सेक्टर में कई तरह के व्यवधान देखे हैं। इसमें से कुछ अभी मौजूद है। पीएम मोदी की मानें, तो ऐसा नहीं है व्यवधान गायब हो जाते हैं। इसकी जगह हमें अपने फाउंडेशन को रिपेयर और प्रिपेयर करते रहना चाहिए।

पीएम मोदी ने कहा कि जब मैं कोविड-19 महामारी से पहले इनोवेशन पर बात करता था, तो इसका मतलब था कि मैं पहले से महामारी जैसे घटनाओं को लेकर एक राष्ट्र के तौर पर खुद को तैयार कर रहा था। डिजिटल इकोनॉमी ने महामारी से लड़ने में हमारी कई तरह से मदद की है। यह डिजिटलीकरण का ही फायदा है कि आज हम डिजिटल मीडिया के जरिए आपस में बातचीत कर रहे हैं। साथ ही महामारी में एक दूसरे की मदद कर पा रहे हैं। पीएम मोदी ने टेक समिट को संबोधित करते हुए कहा कि टेक्नोलॉजी और स्टार्ट-अप की दुनिया में भारत की प्रगति जगजाहिर है। हमारा देश दुनिया के टॉप स्टार्ट-अप ईको-सिस्टम में से एक है। हाल के वर्षों में भारत ने स्टॉर्ट-अप की दुनिया में काफी प्रगति की है। पीएम मोदी ने कहा, "हमने भारत के सभी सेक्टर जैसे माइनिंग, स्पेस, बैंकिंग, एटॉमिक एनर्जी में बड़े रिफॉर्म किये हैं। यह दर्शाता है कि भारत एक राष्ट्र के तौर पर महामारी के दौर में भी हर लिहाज से अनुकूलनीय और चुस्त दुरुस्त है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.