स्पेक्ट्रम नीलमी शुरू: पहले ही दिन 77,146 करोड़ के स्पेक्ट्रम की नीलामी

यह दैनिक जागरण की प्रतीकात्मक फोटो है।

स्पेक्ट्रम नीलमी के पहले ही दिन 77146 करोड़ रुपये की बोलियों मिलने के बाद सरकार काफी खुश है क्योंकि शुरुआत में अनुमान लगाया गया था इस बार नीलामी 12-13 हजार करोड़ तक जा सकती है। आज यानि मंगलवार को स्पेक्ट्रम नीलामी के पूरा होने की उम्मीद है।

Renu YadavTue, 02 Mar 2021 08:29 AM (IST)

नई दिल्ली, टेक डेस्क। कोरोना महामारी के बावजूद स्पेक्ट्रम नीलामी को लेकर टेलीकॉम कंपनियों में जबरदस्त उत्साह रहा। सोमवार से शुरू हुई प्रक्रिया में पहले ही दिन 77,146 करोड़ रुपये मूल्य के स्पेक्ट्रम की नीलामी हुई। मंगलवार को नीलामी संपन्न हो जाने की उम्मीद है। बता दें कि स्पेक्ट्रम नीलमी 5 साल बाद हो रही है और इसमें सभी टेलीकॉम कंपनियों Reiance Jio, Bharti Airtel और Vodafone Idea की तरफ से बोली लगाई गई है। स्पेक्ट्रम नीलामी से पहले सरकार ने अनुमान लगाया था कि यह बोली 45,000 करोड़ रुपये तक जा सकती है। सरकार को इस नीलामी से 12-13 हजार करोड़ रुपये मिलने का अनुमान है।

नीलामी में विजेता कंपनियों को 20 वर्षो के लिए स्पेक्ट्रम दिया जाता है। स्पेक्ट्रम नीलामी में वोडाफोन आइडिया, रिलायंस जियो व भारतीय एयरटेल तीन कंपनियां ही शामिल हुई हैं। इससे पहले वर्ष 2016 में हुई स्पेक्ट्रम नीलामी में सात कंपनियों ने नीलामी में बोली लगाई थी। टेलीकॉम मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने बताया कि यह स्पेक्ट्रम नीलामी मुख्य रूप 4जी सेवा के विस्तार को ध्यान में रखकर किया जा रहा है। इस स्पेक्ट्रम नीलामी से ग्राहकों को पहले के मुकाबले बेहतर सेवाएं मिल पाएंगी।

700 और 2500 MHz बैंड में कोई बोली नहीं मिली

इकोसिस्टमटेलीकॉम मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने बताया कि नीलामी के लिए 700, 800, 900, 1800, 2100, 2300 एवं 2500 MHz बैंड को शामिल किया गया था। लेकिन नीलामी में शामिल किसी भी कंपनी ने 700 और 2500 MHz बैंड के लिए कोई बोली नहीं लगाई। बोली के लिए रखे स्पेक्ट्रम का मूल्य लगभग चार लाख करोड़ रुपये आंका गया है। इनमें से अकेले 700 MHz के स्पेक्ट्रम का मूल्य 1.97 लाख करोड़ रुपये है। यह स्पेक्ट्रम मुख्य रूप से 5G के लिए हैं। उम्मीद की जा रही है कि 5G के लिए स्पेक्ट्रम की नीलामी में 700 MHz को फिर से शामिल किया जाएगा। गौरतलब है कि वर्ष 2016 में भी 700 MHz के लिए किसी कंपनी ने बोली नहीं लगाई थी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.