Google प्ले-स्टोर की गाइडलाइन में जल्द करेगी बदलाव, रिपोर्ट से हुआ खुलासा

यह दैनिक जागरण की फाइल फोटो है।
Publish Date:Sat, 26 Sep 2020 03:40 PM (IST) Author: Renu Yadav

नई दिल्ली, टेक डेस्क। अमेरिका की दिग्गज टेक कंपनी Google जल्द प्ले-स्टोर की इन-ऐप परचेज से जुड़ी गाइडलाइन में बदलाव करने वाली है, जिसका सीधा असर डवलपर्स पर होगा। इन बदलाव के बाद डवलपर्स को किसी भी ऐप की परचेज पर कंपनी को 30 प्रतिशत कमीशन देनी होगी। इसके साथ ही ज्यादातर ऐप को डाउनलोड करने से लेकर सब्सक्रिप्शन खरीदने तक के लिए गूगल की बिलिंग सेवा का इस्तेमाल करना होगा। हालांकि, कंपनी की ओर से गाइडलाइन में बदलाव को लेकर आधिकारिक जानकारी साझा नहीं की गई है। 

Bloomberg की रिपोर्ट के मुताबिक, गूगल अगले सप्ताह इन-ऐप परचेज की गाइडलाइन में बदलाव कर सकती है। डवलपर्स को ऐप की परचेज पर कंपनी को 30 प्रतिशत कमीशन देनी होगी। रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि जो डेवलपर्स नई दिशानिर्देश पालन नहीं करेंगे, तो उन्हें थोड़ा समय दिया जाएगा। इसके अलावा डवलपर्स को गूगल के नए बिलिंग सिस्टम को अपनाना होगा।

ऐप्पल और गूगल दोनों ही कंपनियां इन-ऐप परचेज के जरिए अरबों डॉलर्स कमाती हैं। लेकिन ऐप्पल की नीति गूगल की तुलना में ज्यादा सख्त है। ऐप्पल डवलपर्स को बाहरी वेबसाइट के जरिए मोबाइल ऐप की सब्सक्रिप्शन बेचने की अनुमति नहीं देता है।   

Google Map में जुड़ा नया फीचर

Google Map ने हाल ही में अपने यूजर्स की सुविधा के लिए बेहद ही खास फीचर पेश किया है। जिसकी मदद से यह पता चलेगा कि आपके क्षेत्र में कितने कोरोना मरीज हैं। 'COVID लेयर' नाम से पेश किया गया यह फीचर एंड्रॉइड प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध होगा। 'COVID लेयर' फीचर के बारे में Google Map ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के जरिए जानकारी शेयर की है। ट्वीट में बताया गया है कि मैप्स में नया लेयर फीचर एड किया गया है। जो कि आपके क्षेत्र में आने वाले नए कोविड 19 केस और मरीजों की संख्या से जुड़ा अपडेट प्रदान करेगा। कंपनी ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि इस फीचर को एंड्रॉइड और आईओएस दोनों प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कराया जाएगा। यह अपडेट इसी हफ्ते से रोलआउट किया जा सकता है।  

कंपनी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार Google Map में लेयर बटन दिया जाएगा जो कि स्क्रीन पर दाईं ओर स्थित होगा। इस बटन पर क्लिक करने के बाद COVID -19 info का बटन मिलेगा। इस फीचर पर क्लिक करने के बाद ये मैप कोविड की स्थिति के अनुसार बदल जाएगा। यह क्षेत्र में प्रति 1,00,000 लोगों पर सात दिन के नए मामलों का औसत दिखाएगा और यह भी बताएगा कि एरिया में मामले बढ़ रहे हैं या कम हो रहे हैं।

(Written By- Ajay Verma)

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.