Google ने नए नियम न मानने पर दी धमकी, बंद हो जाएगा आपका Gmail? जानिए क्या है सच्चाई

यह Gmail की प्रतीकात्मक फाइल फोटो है।

Google की तरफ से वॉर्निंग दी है कि अगर यूजर नए नियम और कानून को नहीं मानते हैं तो यूजर्स Gmail की कुछ खास सर्विस जैसे स्मार्ट कंपोज असिसटेंट रिमाइंडर और ऑटोमेटिक ईमेल फिल्टरिंग का लुत्फ नहीं उठा पाएंगे।

Saurabh VermaTue, 26 Jan 2021 11:40 AM (IST)

नई दिल्ली, टेक डेस्क। Google की सर्विस Gmail के लिए नए नियम जारी किये गये है। इन नए नियमों को न मानने पर यूजर्स Gmail सर्विस का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। Gmail के नए नियमों को 25 जनवरी तक स्वीकार करना अनिवार्य था। अगर आपने इस डेडलाइन को मिस कर दिया है, तो आपका Gmail अकाउंट बंद हो जाएगा। इस तरह की कई सारी खबरें इन दिनों सोशल मीडिया पर तैर रही हैं। इसमें कुछ हद तक सच्चाई भी है। दरअसल Google की तरफ से Gmail के लिए नए नियम कानून लागू किये हैं, जिन्हें स्वीकार करना अनिवार्य है। लेकिन अगर आप नए नियम को मंजूरी नहीं देते हैं, तो आपका अकाउंट नहीं बंद होगा। बशर्ते आप Gmail की कुछ खास सर्विस जैसे स्मार्ट कंपोज, असिसटेंट रिमाइंडर और ऑटोमेटिक ईमेल फिल्टरिंग का लुत्फ नहीं उठा पाएंगे। हालांकि Google की Gmail सर्विस के नए नियम केवल यूके के लिए होंगे। इन नियमों को फिलहाल भारत में नहीं लागू किया जा रहा है। 

बंद हो जाएंगे ये फीचर  

ऑटोमेटिक ईमेल फिल्टरिंग फीचर- इसमें Gmail आपके Inbox के मैसेज को तीन कैटेगरी Primary, Social और Promotion में डिवाइड कर देता है। 

असिसटेंट रिमाइंडर - यह फीचर आपको अपने बिल अदा करने की डेट तारीख को याद दिलाता रहता है। 

स्मार्ट कंपोज - यह फीचर आपको ईमेल कंपोज के दौरान स्पेलिंग करेक्ट करने और टाइपिंग में सुझाव देता है। 

Google के मुताबिक उसकी तरफ से Gmail यूजर्स के लिए एक अपडेट जारी किया गया है। जिससे यूजर के पास अपने पर्सनल डेटा और सपोर्ट पर कंट्रोल हासिल हो जाएगा। ऐसे में यूजर तय कर पाएंगे कि वो अपने किस डेटा को Google के साथ साझा करना चाहते हैं और किसे नहीं। Google के नए नियम को एक्सेप्ट करने का पॉप-अप मैसेज उस वक्त मिलेगा, जब आप Gmail को ओपन करेंगे। Google की तरफ से इससे पहले यूजर्स को आगाह किया गया था कि अगर वह नए नियम को फॉलो नहीं करते हैं तो उनके Gmail, Google Photos और Google Drive कंटेंट को डिलीट किया जा सकता है। बता दें कि Google की तरफ से नई स्टोरेज पॉलिसी को अगले साल लागू किया जा सकता है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.