Facebook ला रहा कमाल का नया फीचर, पड़ोसियों से बढ़ा पाएंगे जान-पहचान, साथ ही इन मामलों में हो जाएगी सुविधा

यह सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Facebook की फाइल फोटो है।
Publish Date:Thu, 22 Oct 2020 12:35 PM (IST) Author: Saurabh Verma

नई दिल्ली, टेक डेस्क. सोशल नेटवर्किंग साइट Facebook एक नया फीचर लेकर आ रही है, जिसकी मदद से यूजर्स अपने पड़ोसियों साथ जान-पहचान बढ़ा सकेंगे। यह फीचर शहरी इलाकों के लिए काफी मददगार साबित हो सकता है, जहां वर्क-लाइफ के ज्यादा व्यस्त होने की वजह से लोग एक दूसरे के साथ ज्यादा जान-पहचान नही बढ़ा पाते हैं, जिसके चलते बड़े शहरों में खुद को अकेला महसूस करते हैं। हालांकि Facebook का Neighborhoods फीचर इस समस्या को दूर करने में काफी मददगार साबित हो सकता है। 

 इन प्लेस की मिलेगी जानकारी

फेसबुक (Facebook) के इस नए फीचर से यूजर्स को अपने पड़ोसियों के बारे में बेहतर तरीके से जानने में मदद मिलेगी। साथ ही अपने आसपास की खबरों को एक लिमिटेड दायरे में शेयर कर पाएंगे। पड़ोसियों के अलावा यूजर्स अपनी करेंट लोकेशन के पॉप्युलर प्लेस, मार्केट प्लेस समेत कई तरह की जानकारी हासिल कर पाएंगे।इस नए फीचर पर लोग पड़ोस में हो रही घटनाओं को भी पोस्ट कर सकेंगे, जिसमें क्राइम जैसी घटना भी शामिल होंगी। फिलहाल कंपनी इस फीचर की टेस्टिंग कर रही है, जिसे जल्द आम यूजर्स के इस्तेमाल के लिए जारी किया जा सकता है। 

कैसे कर पाएंगे इस्तेमाल 

The Verge की रिपोर्ट के मुताबिक Facebook के  इस नए फीचर में यूजर्स अपना पता भरकर एक यूनिक प्रोफाइल बना सकते हैं, जिसमें अपने पड़ोसियों के साथ एक लिमिटेड जानकारी शेयर करनी होगी। सोशल मीडिया कंसल्टेंट Matt navarra ने Facebook के इस नए फीचर को लेकर Twitter पर एक पोस्ट किया है, जिसके मुताबिक Facebook के नए फीचर्स की टेस्टिंग कनाडा में जारी है। Navarra ने कुछ स्क्रीनशॉट शेयर करके इसकी जानकारी उपलब्ध करायी है, जिसके मुताबिक यूजर को अपने पड़ोसी की जानकारी के लिए अपनी सही लोकेशन को शेयर करना होगा। इस लोकेशन के सहारे ही पड़ोसी के बारे में जानकारी मिल सकेगी। इसके लिए यूजर को अपनी करेंट लोकेशन को कंफर्म करना होगा। 

Faceobook चला Nextdoor की राह 

Facebook इस फीचर के जरिए मार्केट लीडर नेक्स्टडोर (Nextdoor) को पीछे छोड़ने की योजना पर भी काम कर रही है। बता दें कि Nextdoor ने साल 2008 में ही इस फीचर को लॉन्च कर दिया था। इससे कंपनी को करीब 470 मिलियन डॉलर की फंडिंग भी मिली थी। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.