Digital Health ID Card: घर बैठे मिनटों में बनेगा आपका डिजिटल हेल्थ ID कार्ड, ऐसे करें ऑनलाइन अप्लाई

Digital Health ID Card आधार कार्ड की तरह यूनिक ID कार्ड होगा जो आपके हेल्थ रिकॉर्ड को मेंटेन करने में मदद करेगा| इसमें पेशेंट की मेडिकल और ट्रीटमेंट हिस्ट्री होती है। अगर आप भी घर बैठे अपना यूनिक डिजिटल Health Card बनवाना चाहते हैं तो इसके बनाना काफी आसान है।

Mohini KediaMon, 27 Sep 2021 01:26 PM (IST)
यह Jagran की ऑफिशियल फाइल फोटो है।

नई दिल्ली, टेक डेस्क। Digital Health Card: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सोमवार को लोगों को एक डिजिटल Health ID प्रदान करने के लिए आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (Ayushman Bharat Digital Mission) की शुरुआत की, जिसमें उनके हेल्थ रिकॉर्ड होंगे। डिजिटल हेल्थ आईडी (Digital Health ID Card) का राष्ट्रव्यापी रोलआउट राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (NHA) द्वारा आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (AB PM-JAY) की तीसरी वर्षगांठ मनाने के साथ मेल खाता है। वर्तमान में, राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन (NDHM) के तहत एक लाख से ज्यादा यूनिक हेल्थ ID बनाई गई हैं, जिसे शुरू में 15 अगस्त को पायलट आधार पर छह राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में लॉन्च किया गया था।

क्या है डिजिटल हेल्थ ID कार्ड ?

डिजिटल हेल्थ ID कार्ड आधार कार्ड (Aadhaar Card) की तरह एक यूनिक ID कार्ड होगा जो आपके हेल्थ रिकॉर्ड को मेंटेन करने में मदद करेगा| ये आपकी पर्सनल डिटेल्स के जरिए बनाया जाएगा| आधार कार्ड या सिटीजन के मोबाइल नंबर का इस्तेमाल करके ID बनाई जाएगी और हैल्थ रिकॉर्ड (Health Record) को मेंटेन करने के लिए एक आईडेंटिफायर के रूप में काम करेगी। सिस्टम डेमोग्राफिक और लोकेशन, फैमिली/रिलेशनशिप और कांटेक्ट डिटेल्स सहित कुछ जरूरी जानकारी भी एकत्र करेगा। फिर सिटीजन की सहमति लेने के बाद इस जानकारी को हेल्थ ID से जोड़ा जाएगा। NDHM की वेबसाइट के अनुसार, 'पर्सनल हेल्थ रिकॉर्ड-सिस्टम (PHR)' नामक जानकारी एक व्यक्ति को अपने हेल्थ केयर (Healthcare) के बारे में जानकारी को मैनेज करने में सक्षम बनाती है।

कैसे काम करता है Unique Digital Health ID कार्ड ?

इस योजना में चार आवश्यक ब्लॉक शामिल हैं - यूनिक डिजिटल हेल्थ ID, प्रोफेशनल रजिस्ट्री, हेल्थ फैसिलिटी रजिस्ट्री और इलेक्ट्रॉनिक हेल्थ रिकॉर्ड। स्कीम का पहला उद्देश्य इन चार ब्लॉक के माध्यम से स्वास्थ्य सेवा के लिए एक डिजिटल एनवायरमेंट बनाना है। मिशन एक 'इलेक्ट्रॉनिक मेडिकल रिकॉर्ड (EMR)' बनाएगा, जो कि सरकार द्वारा समझाया गया है, एक मरीज के चार्ट का एक डिजिटल वर्जन है। इसमें पेशेंट की मेडिकल और ट्रीटमेंट हिस्ट्री (Medical History) होती है। अगर आप भी घर बैठे अपना यूनिक डिजिटल Health Card बनवाना चाहते हैं तो इसके बनाना काफी आसान है।

घर बैठे ऐसे बनेगा यूनीक डिजिटल हेल्थ कार्ड - जानें प्रोसेस

स्टेप 1: सबसे पहले आपको नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की वेबसाइट ndhm.gov.in पर जाना होगा।

स्टेप 2: यूनीक डिजिटल हेल्थ कार्ड बनाने का ऑप्शन (Create Health ID) दिखेगा।

स्टेप 3: इस ऑप्शन पर क्लिक करते ही आपका कार्ड बनने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

स्टेप 4: सबसे पहले तो आपसे आधार कार्ड की जानकारी ही मांगी जाएगी।

स्टेप 5: आपको अपना आधार नंबर डालना होगा और उसके बाद OTP डालकर वेरीफाई करना होगा।

स्टेप 6: अगर आप चाहे तो बिना आधार की जानकारी दिए हेल्थ कार्ड बनाने का ऑप्शन चुन सकते हैं।

स्टेप 7: आप चाहे तो सिर्फ अपना मोबाइल नंबर बताकर भी हेल्थ कार्ड बनवा सकते हैं।

स्टेप 8: मोबाइल नंबर देने के बाद आपको उसे OTP के जरिए वेरीफाई करना होगा।

स्टेप 9: आपको अपने प्रोफाइल के लिए एक फोटो, अपनी जन्म तिथि, एड्रेस समेत कुछ जानकारियां देनी होंगी।

स्टेप 10:  आपके सामने एक फॉर्म खुलेगा, जिसमें जानकारियां भरनी होंगी। सारी जानकारी भरते ही आपके सामने एक हेल्थ ID कार्ड बनकर आ जाएगा, जिसमें आपकी जानकारियां, फोटो और साथ ही एक QR कोड होगा। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.