10% बच्चे ही स्मार्टफोन से करते हैं पढ़ाई, बाकी 60% इन कामों में करते हैं फोन का इस्तेमाल : रिपोर्ट

Report on Smartphone Use मतलब हर 7 में से 6 बच्चे स्मार्टफोन का इस्तेमाल पढ़ाई नहीं बल्कि सोशल मीडिया चलाने के लिए करते हैं। जबकि केवल 7 में से 1 ही बच्चा स्मार्टफोन के इस्तेमाल से ऑनलाइन पढ़ाई करता है।

Saurabh VermaSun, 25 Jul 2021 12:27 PM (IST)
यह caixinglobal की ऑनलाइन क्लासेस की प्रतीकात्मक फोटो है।

नई दिल्ली, एएनआइ. चाइल्ड राइड की टॉप संस्था नेशनल कमीशन फॉर प्रोटेक्शन फॉर चाइल्ड राइट (NCPCR) की रिपोर्ट से एक चौकाने वाला खुलासा हुआ है कि करीब 10.1 फीसदी बच्चे ही स्मार्टफोन के इस्तेमाल से ऑनलाइन पढ़ाई करते हैं। बाकी 59.2 फीसदी बच्चे स्मार्टफोन का इस्तेमाल ऑनलाइन चैटिंग और अन्य कामों में इस्तेमाल करते हैं। मतलब हर 7 में से 6 बच्चे स्मार्टफोन का इस्तेमाल पढ़ाई नहीं, बल्कि सोशल मीडिया चलाने के लिए करते हैं। जबकि केवल 7 में से 1 ही बच्चा स्मार्टफोन के इस्तेमाल से ऑनलाइन पढ़ाई करता है।

किन कामों में किया जाता है फोन का इस्तेमाल 

रिपोर्ट की मानें, तो करीब 59.2 फीसदी बच्चे अपने स्मार्टफोन को इंटरनेटस से कनेक्ट करके WhatsApp, Facebook, Instagram और Snapchat चलाते हैं। स्मार्टफोन के फिजिकल, बिहेवियर, और सोशल इफेक्ट को लेकर एक रिपोर्ट प्रकाशित हुई है, जिसके मुताबिक 8 से 18 साल के करीब 30.2 फीसदी के पास अपने पर्सनल इस्तेमाल के लिए खुद का स्मार्टफोन मौजूद है। साथ ही करीब 10 से ज्यादा उम्र के 37.8 फीसदी बच्चों का अपना खुद का फेसबुक अकाउंट मौजूदा है। इतना ही नहीं इसी आयु वर्ग के 24.3 फीसदी बच्चों का अपना खुद का Instagram अकाउंट है। 13 साल से ज्यादा आयु के ब्चचों में स्मार्टफोन के इस्तेमाल में तेज इजाफा दर्ज किया गया है। हालांकि लैपटॉप और इंटरनेट पर इंटरनेट एक्सेस करने वाले बच्चों की संख्या कम है। रिपोर्ट में पाया गया है कि माता-पिता और अभिभावक बच्चों को 12 से 13 वर्ष की आयु में लैपटॉप और टैबलेट की जगह स्मार्टफोन ज्यादा दिलाते हैं। रिपोर्ट में यह भी पाया गया है कि करीब 72.70 फीसदी अध्यापकों को इससे पहले स्मार्टफोन के इस्तेमाल का एक्सपीरिएंस नहीं था। इनमें से करीब 54.1 फीसदी का मानना है कि स्मार्टफोन के क्लासरूम में इस्तेमाल से ध्यान भटकता है।

ऐसे तैयार हुई रिपोर्ट 

इस रिसर्च रिपोर्ट को देशभर के 6 राज्यों के करीब 60 स्कूल की जानकारी के आधार पर तैयार किया गया है। इमसें 5,811 लोगों ने हिस्सा लिया। इमसें 3,491 स्कूल जाने वाले बच्चे, 1,534 पैरेंट्स, 786 अध्यापकों ने हिस्सा लिया है।कई रिपोर्ट में पाया गया है कि सोने से पहले स्मार्टफोन के इस्तेमाल का स्वास्थ्य पर गलत असर पड़ता है। इसमें स्लीप डिसआर्डर, स्लीपलेसनेस, एंजाइटी और थकावट शामिल है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.