हेडफोन, इयरफोन या इयरबड्स खरीदने का है प्लान, तो जान लें ये जरूरी बातें

हेडफोन, इयरफोन या इयरबड्स खरीदने का है प्लान, तो जान लें ये जरूरी बातें
Publish Date:Sun, 20 Sep 2020 09:37 AM (IST) Author: Saurabh Verma

नई दिल्ली, टेक डेस्क. स्मार्टफोन की सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाली एसेसरीज में से एक हेडफोन या ईयरफोन होते हैं। ऐसे में इसकी खरीदने से पहले सावाधानी बरतनी चाहिए। मार्केट में मौजूद किसी भी तरह के हेडफोन या इयरफोन को नही खरीदना चाहिए। आज हम आपको इयरफोन खरीददारी में काम आने वाली कुछ जरूरी बातें बताने जा रहे हैं, जिसकी मदद से आप एक बेहतर हेडफोन का चुनाव कर सकते हैं।  

कौन से ईयरफोन या हेडफोन लें 

आमतौर पर मार्केट में दो तरह के इयरफोन या हेडफोन होते हैं - वॉयर्ड और ब्लूटूथ। ब्लूटूथ वाले हेडफोन या इयरफोन को चार्ज करना जरूरी होता है। साथ ही इनबिल्ट बैटरी होने की वजह से ब्लूटूथ हेडफोन भारी होते हैं। ऐसे में अगर आप हेडफोन का रोजाना 6 से 7 घंटे तक इस्तेमाल करते हैं, तो आपके लिए वायर वाले हेडफोन  खरीदना बेहतर ऑप्शन होगा।

ओवर ईयर हेडफोन्स - ओवर ईयर हेडफोन्स पूरे कानों को ढक लेते हैं। साथ ही, इनके बड़े आकार के कारण, इनमें बड़े ड्राइवर्स भी आसानी से लगाए जा सकते हैं, जिससे तेज साउंड और बेहतर बास मिलता है। साथ ही, पूरा कान ढकने की वजह से ये हेडफोन्स बाहर के शोर को काफी हद तक कम कर देते हैं।  इयरबड्स - मौजूदा वक्त में इयरबड्स की काफी डिमांड है। इयरबड्स हेडफोन्स का ही छोटा रूप है। इसमें यूजर्स को इयरफोन और हेडफोन दोनों का फील मिलता है। हालांकि इयरबड्स की कीमत इयरफोन या हेडफोन के मुकाबले ज्यादा होती है। हेडफोन वॉयर असिस्टेंट और न्वाइज कैंसिलेशन फीचर्स के साथ आते हैं।  

ड्राइवर और ड्रम साइज 

इयरफोन या हेडफोन लेने से पहले जरूर चेक करें, कि ड्राइवर साइज कितना है। जितना ज्यादा बड़ा ड्राइवर होता है, उतनी अच्छी साउंड क्वॉलिटी मिलती है। अगर एक से ज्यादा ड्राइवर दिए गए हैं, तो और भी ज्यादा बेहतर साउंड मिलती है। मौजूदा वक्त में बेस के लिए अगल-अलग ड्राइवर दिए जा रहे हैं। हालांकि ज्यादा ड्राइवर वाले हेडफोन की कीमत भी ज्यादा होती है। साथ ही हेडफोन खरीदने वक्त उसकी क्वॉलिटी पर जरूर गौर करें, मतलब प्लास्टिक की केसिंग या ड्रम वाले इयरफोन ज्यादा अच्छी साउंड प्रड्यूस नही करते हैं। हमेशा मेटल वाले ड्रम वाले इयरफोन खरीदें। अगर लकड़ी के ड्रम दिया जा रहा है, तो ज्यादा बेहतर है। लेकिन इनकी लाइफ ज्यादा नही होती है। 

जैक टाइप 

अभी तक ज्यादातर हेडफोन में 3.5mm जैक कनेक्टिविटी दी जाती थी। लेकिन अब कुछ हेडफोन USB टाइप-सी कनेक्टिविटी के साथ आते हैं। लेकिन USB-Type-C वाले हेडफोन के साथ दिक्कत ये होती है कि चार्जिंग के वक्त इन्हें इस्तेमाल नही किया जा सकता है, क्योंकि चार्जिंग और कनेक्टिविटी के लिए एक ही पोर्ट मिलता है। ऐसे में बेहतर होगा कि अलग-अलग चार्जिंग और कनेक्टिविटी वाले हेडफोन ले। हालांकि इस समस्या को ब्लूटूथ स्पीकर से भी दूर किया जा सकता है।  

माइक और साउंड

इयरफोन खरीदने वक्त ध्यान रखें, कि उसमें इन-बिल्ट माइक दिया गया हो, जिससे आप म्यूजिक सुनते वक्त कॉल रिसीव कर पाएं। साथ ही हेडफोन या इयरबड्स खरीदने से पहले उसकी साउट क्वॉलिटी टेस्ट करें। क्या वॉल्यूम बढ़ाने पर हेडफोन या इयरबड्स की आवाज खराब आती है, ऐसा हो तो हेडफोन ना खरीदें। वहीं हमेशा ऐसे इयरबड्स का चुनाव करें, जिनके  इस्तेमाल के दौरान बाहर की आवाज कम से कम सुनाई दे।

ि

क्या होते हैं ड्राइवर

ड्राइवर हेडफोन का सबसे अहम हिस्सा होता है। यही हेडफोन में साउंड प्रड्यूस करता है। वैसे तो कई अलग-अलग तरह के ड्राइवर्स होते हैं, लेकिन सभी में तीन चीजें चुम्बक, वॉयस कॉइल्स और डायफ्राम होते हैं। यह सारे कंपोनेंट्स डायफ्राम में कंपन पैदा करते हैं। ये कंपन ही साउंड वेब्स बनाते हैं, जिन्हें हमारे कान सुन पाते हैं। हेडफोन के स्पेसिफिकेशंस में आपको डायफ्राम का डायमीटर (व्यास) अक्सर देखने को मिलता है। इसके डायमीटर को मिलीमीटर mm में मापा जाता है। साथ ही जितना बड़ा ड्राइवर होगा, हेडफोन की क्वालिटी भी उतनी ही बेहतर होगी। ऐसे में हमेशा बड़े साइज ड्राइवर वाले हेडफोन खरीदें। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.