Mobile Phone TIPS & Tricks: कहीं आपके स्मार्टफोन में तो नहीं है Virus! इस खास तरीके से लगाएं पता और करें डिलीट

Virus को हटाना बहुत जरूरी है। साथ ही App डाउनलोड करते समय अधिक सावधान रहना भी जरूरी है क्योंकि कई ऐप में Malware होता है जिनके बारे में अधिकांश यूजर्स को पता भी नहीं होता है। हम बताएंगे कि फोन में कैसे वायरस का पता लगाएं और कैसे डिलीट करें।

Ajay VermaTue, 21 Sep 2021 11:38 AM (IST)
मैलवेयर वाले फोन की प्रतिकात्मक फाइल फोटो पिक्सा बे से ली गई है

नई दिल्ली, टेक डेस्क। स्मार्टफोन (Smartphone) का इस्तेमाल बढ़ने के साथ-साथ फोन हैकिंग और निजी डेटा चोरी होने की घटनाएं तेजी से बढ़ रही हैं। हैकर्स मोबाइल ऐप का सहारा लेकर लोगों के डिवाइस में वायरस इंस्टॉल कर रहे हैं और निजी डेटा चुरा रहे हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि स्मार्टफोन में वायरस की मौजूदगी की पहचान कैसे की जाएं और उसे कैसे डिलीट किया जाएं। तो इसका समाधान आपको इस खबर में मिलेगा। यहां हम आपको कुछ तरीके बताएंगे, जिनकी मदद से आप अपने एंड्राइड फोन में मैलवेयर का पता लगाकर उसे डिलीट कर पाएंगे।

ये संकेत बताते हैं कि आपके डिवाइस में वायरस है

अगर आपका स्मार्टफोन आम यूसेज में भी ज्यादा गर्म हो रहा है तो इसका मतलब है कि आपके फोन वायरस वाला ऐप है। इस ऐप के जरिए हैकर्स आपके फोन का इस्तेमाल गलत काम के लिए कर रहे हैं। आपके फोन का डेटा जल्दी खत्म हो रहा है या आपके फोन का बिल ज्यादा आ रहा है तो संभव है कि आपके फोन का कंट्रोल हैकर्स के पास है। आपके स्मार्टफोन जरूरत से ज्यादा विज्ञापन के नोटिफिकेशन आ रहे हैं। यह एक संकेत हो सकता है कि आपके डिवाइस में मैलवेयर वाला ऐप हो। आपके फोन से आपके कॉन्टैक्ट्स के पास स्पैम मैसेज जा रहे हैं तो यह चिंता वाली बात है, क्योंकि हैकर्स इसके जरिए आपके फोन के साथ-साथ दूसरों के डिवाइस में भी वायरस इंस्टॉल कर देंगे।

ऐसे पहचान करके मैलवेयर वाले ऐप को करें डिलीट

अपने मोबाइल में जाकर ऐप की लिस्ट जरूर चेक करें। यदि उसमें से आपको कोई ऐसा ऐप नजर आता है, जिसे आपने डाउनलोड नहीं किया है तो संभव है कि वो मैलवेयर वाला ऐप हो। उसे तुंरत डिलीट कर दें। आपको लगता है कि फोन में वायरस है, तो एंटी-वायरस ऐप का उपयोग करें। इसमें आपको वायरस स्कैन करने का विकल्प मिलेगा, जिससे आप वायरस की पहचान करके उसे डिलीट कर पाएंगे।

हैकर्स से फोन बचाने के लिए अपनाएं ये टिप्स

थर्ड पार्टी ऐप का उपयोग न करें :- अपने मोबाइल को हैकर्स से बचाने के लिए थर्ड पार्टी ऐप का उपयोग न करें। इससे आपका डिवाइस सुरक्षित रहेगा और हैकर्स आप तक नहीं पहुंच पाएंगे। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इन थर्ड-पार्टी ऐप में ऐसे लिंक होते हैं, जिनके जरिए हैकर्स आपकी निजी जानकारी चुरा सकते हैं।

मजबूत पासवर्ड का इस्तेमाल करें :- मजबूत पासवर्ड का इस्तेमाल करके भी हैकर्स से बचा जा सकता है। मजबूत पासवर्ड बनाने के लिए आप पासवर्ड मेकिंग ऐप का उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा आप Alphabets से लेकर नंबर तक को आपस में मिलाकर मजबूत पासवर्ड बना सकते हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.