क्या फोन में मौजूद हैं खतरनाक ऐप! Google करेगा पहचानने में मदद, जानिए स्टेप बाय स्टेप प्रोसेस

कई बार मैलेवयर से संक्रमिक ऐप Google के चकमा देकर मोबाइल फोन में पहुंच जाते हैं। साथ ही कई बार यूजर्स किसी दूसरे प्लेटफॉर्म से ऐप को डाउनलोड कर लेते हैं जो कि मैलवेयर से ग्रसित हो सकते हैं। ऐसे ऐप्स को Google Protect से स्कैन कर सकते हैं।

Saurabh VermaMon, 26 Jul 2021 12:41 PM (IST)
यह Google की प्रतीकात्मक फाइल फोटो है।

नई दिल्ली, टेक डेस्क। पिछले कुछ वर्षो में ऑनलाइन धोखाधड़ी की घटनाएं बढ़ी है। इस तरह की घटनाओं को आपके मोबाइल फोन में मौजूद खतरनाक ऐप की मदद से अंजाम दिया जाता है, जो फोन से डेटा चोरी और बैंक पासवर्ड चोरी का करने का काम करते है। हालांकि, सवाल उठता है कि आखिर कैसे खतरनाक ऐप्स की पहचान की जाए। इस काम में Google आपकी मदद करेगा। आइए जानते हैं कि कैसे Google खतरनाक ऐप्स की पहचान करता है।

Google अपने Google Play Store को समय-समय पर स्कैनिंग करके खतरनाक ऐप्स को ब्लॉक करता रहता है। लेकिन हालांकि कई बार मैलेवयर से संक्रमिक ऐप Google के चकमा देकर मोबाइल फोन में पहुंच जाते हैं। साथ ही कई बार यूजर्स किसी दूसरे प्लेटफॉर्म से ऐप को डाउनलोड कर लेते हैं, जो कि मैलवेयर से ग्रसित हो सकते हैं। ऐसे ऐप्स को Google से स्कैन कर सकते हैं।

ऐसे चेक करें खतरनाक ऐप

सबसे पहले मोबाइल में Google Play ऐप ओपन करें। इसके बाद टॉप पर दिखने वाले प्रोफाइल आइकन पर टैप करें। यहां आपको Play Protect ऑप्शन दिखेगा, जिस पर क्लिक करना होगा। Play Protect पर जाकर यूजर स्कैन कर सकता है कि कहीं आपके फोन में खतरनाक ऐप मौजूद तो नहीं हैं।

Google Play Protect को हमेशा रखें ऑन

यूजर को हमेशा Google Play Protect ऑप्शन को ऑन रखना चाहिए। वैसे तो Google Play Protect डिफॉल्ट रूप से चालू रहता है। लेकिन अगर ऐसा नहीं हैं, तो Google Play स्टोर ऐप्लिकेशन Google Play ओपन करें। इसके बाद टॉप राइट कॉर्नर पर दिखने वाली प्रोफाइल आइकन पर क्लिक करें। इसके बाद Setting ऑप्शन पर क्लिक करें। जहां से दो ऑप्शन Scan Apps with Play Protect और Improve harmful App detection दिखेंगे। यूजर को इन दोनों ऑप्शन को ऑन कर देना चाहिए।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.