Samsung Galaxy Buds Review: Apple Airpods से टक्कर में पढ़ें कैसे हैं ये EarBuds

नई दिल्ली (साक्षी पंड्या)। Samsung ने स्मार्टफोन्स के अलावा भी अपने अन्य प्रोडक्ट्स का पोर्टफोलियो बढ़ाया है। ऐसा इसलिए ताकि कंपनी, सिर्फ स्मार्टफोन मार्किट में ही नहीं, बल्कि अन्य क्षेत्रों में भी कंपनियों को प्रतिस्पर्धा दे सके। Samsung ने पिछले वर्ष Galaxy Home की घोषणा की थी। इसके साथ कंपनी ने Gear IconX, वायरलेस इयरफोन्स भी लॉन्च किए थे और अब कंपनी ने Galaxy Buds पेश किए हैं।

Galaxy Buds को Galaxy S10 के साथ लॉन्च किया गया था। कंपनी इसे भारत में Rs 9990 की कीमत में लेकर आई है। इस मामले में Galaxy Buds, Gear IconX से ज्यादा किफायती हैं। यही नहीं, Galaxy Buds अपने प्रतिद्वंदी Apple AirPods और Bose SoundSport Free से भी किफायती है। इसे हमने कुछ समय तक इस्तेमाल किया, तो अगर आप Galaxy Buds लेने की प्लानिंग कर रहे हैं तो इसका रिव्यू जरूर पढ़ लें:

Galaxy Buds डिजाइन और कम्फर्ट: अगर इसके केस की बात करें तो Buds आसानी से केस में फिट हो जाते हैं। इसी के साथ जब आप Buds का इस्तेमाल करेंगे तो इयरफोन्स अलग से कान से बहार निकल कर नहीं आएंगे। इसका मतलब है की इयरबड्स बिलुल भी अनकम्फर्टेबल नहीं लगते और कान में अच्छे से फिट हो जाते हैं। इसी के साथ Samsung Buds काफी लाइटवेट है।

इससे आप ट्रेवल करते वक्त भी इन्हें इस्तेमाल करते हैं तो आपको कुछ परेशानी नहीं होती। इसे लम्बे समय तक पहन कर रखने पर भी आपके कानों को कोई दर्द नहीं होगा या आपको अजीब नहीं लगेगा। मेट्रो में भीड़ में ट्रैवल करते समय मैंने इसका इस्तेमाल किया और मैं भूल ही गई की मैंने इयरफोन्स लगा भी रखे हैं। इसकी फिटिंग और इसका लाइटवेट होना, इसके दो प्लस प्वाइंट हैं। अगर आप इन्हें रनिंग के दौरान भी इस्तेमाल करते हैं तो कोई चिंता की बात नहीं है क्योंकि यह IPX2 रेटेड है, तो पसीने से आपके बड्स खराब नहीं होंगे।

Galaxy Buds Case: बड्स का केस छोटा है और आसानी से आपकी पॉकेट में आ सकता है। केस तीन कलर- वाइट, ब्लैक और येलो में उपलब्ध है। केस में छोटी सी LED लाइट इंडिकेटर मौजूद है, जो आपको बैटरी की जानकारी देगा। केस के बैक पर Type-C चार्जिंग पोर्ट मौजूद है। केस के अंदर भी LED लाइट इंडिकेटर दिया गया है, जो Buds की बैटरी लाइफ इंडीकेट करता है।

Galaxy Buds परफॉरमेंस: इसके साउंड की बात करें तो हमने इसे अलग-अलग ऐप्स के साथ चला के देखा। Apple Music के साथ इसकी परफॉरमेंस सबसे बेस्ट रही। मिड, वोकल, बेस के मामले में बड्स अच्छी साउंड क्वालिटी ऑफर करते हैं। हालांकि, कई म्यूजिक ऐप्स के साथ साउंड क्वालिटी को लेकर हमारा अनुभव अच्छा नहीं रहा। कुछ सॉन्ग्स के साथ साउंड-क्वालिटी बेहतर लगी तो कुछ के साथ साउंड क्वालिटी किसी सस्ते इयरफोन्स जैसी रही।

अलग-अलग ऐप्स और अलग-अलग जॉनर के सॉन्ग्स सुनने के बाद ओवरआल बड्स की साउंड क्वालिटी को औसत से बेहतर कहा जा सकता है। अगर इसका नॉयस कैंसलेशन अच्छा नहीं होता तो Apple Airpod की साउंड क्वालिटी इससे कहीं बेहतर होती। लेकिन बढ़िया नॉयस कैंसलेशन के कारण बाहर का शोर आपके कानों तक नहीं आता और आप म्यूजिक का अच्छे से बिना किसी शोर के आनंद उठा पाते हैं।

टच फंक्शन्स: इयरबड्स के ऊपर मौजूद ट्राइएंगल प्लास्टिक कवर टचपैड की तरह काम करता है। इसे टैप कर के आप कई काम कर सकते हैं। एक सिंगल टैप से सांग को प्ले या पॉज किया जा सकता है। डबल टैप से अगला सॉन्ग प्ले किया जा सकता है या कॉल रिसीव/एन्ड किया जा सकता है। ट्रिपल टैप से पहले वाला सॉन्ग प्ले किया जा सकता है।

टच और होल्ड करने पर Bixby/Google/Siri अस्सिटेंट एक्टिवेट किया जा सकता है। टच और होल्ड फंक्शन को आप कस्टमाइज भी कर सकते हैं। इसे या तो वॉयस कमांड के लिए या फिर वॉल्यूम बढ़ने/घटाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। टचपैड रेस्पॉन्सिव है। हालांकि, टाच एंड होल्ड में थोड़ा ज्यादा ध्यान देना पड़ता है। अगर वॉल्यूम के लिए स्वाइप फंक्शन होता तो ज्यादा बेहतर होता।

इसका सबसे अच्छा या प्लस प्वाइंट इसका नॉयस कैंसलेशन लगा। अगर आप बड्स में सॉन्ग्स नहीं भी सुन रहे और सिर्फ बड्स लगा रखे हैं तब भी आपक इसकी नॉयस कैंसलेशन क्वालिटी का पता चलेगा। इस मामले में मुझे यह बड्स काफी पसंद आए। नॉयस कैंसलेशन के मामले में Apple Airpods इसके सामने मात खाते हैं क्योंकि उनमे ऐसा विकल्प नहीं है। कनेक्टिविटी के मामले में बड्स को औसत से बेहतर कहा जा सकता है। अलग-अलग Android/iOS फोन्स से कनेक्ट करने में कहीं थोड़ी परेशानी आई तो कहीं कनेक्टिविटी स्मूद रही।

Samsung Earbuds लेटेस्ट होने के साथ-साथ फिट और कम्फर्ट में भी अच्छा अनुभव देते हैं, इन्हें EMI पर भी खरीदा जा सकता है, खरीदने के लिए क्लिक करें यहां...Rs 10,000 की रेंज में Galaxy Buds को अच्छा पैकेज कहा जा सकता है।

Galaxy Buds बैटरी: केस में रखते ही आपके बड्स चार्ज होने लग जाते हैं। एक बार चार्ज करने पर आप बड्स को 3 बार पूरा चार्ज कर पाएंगे। इसका बैटरी बैकअप कैसा है, यह पूरी तरह से इसलिए नहीं बताया जा सकता क्योंकि जब भी आप इसका इस्तेमाल नहीं करेंगे तो बड्स को केस में ही रखेंगे और वो चार्ज हो जाएंगे। लेकिन पूरे दिन में 4-5 घंटे के इस्तेमाल में यह 3 दिन तक चल जाते हैं। इसके हर एक Bud में 54mAh की बैटरी दी गई है। इसके केस में 252mAh की बैटरी दी गई है। केस को फुल चार्ज होने में 1 घंटे के करीब का समय लगता है।

क्या आपको Galaxy Buds खरीदने चाहिए ?

फिर और कम्फर्ट के मामले में Galaxy Buds को प्लस प्वाइंट मिलते हैं। लाइट वेट, कम्फर्ट और नॉयस कैंसलेशन इसके कुछ ऐसे फीचर्स हैं जो हमे काफी पसंद आए और इसके मामले में इसे हमारी तरफ से फुल मार्क्स मिलते हैं। साउंड के मामले में Apple Airpods बेहतर ऑफर करते हैं। लेकिन Galaxy Buds कीमत के मामले में Apple Airpods से किफायती हैं। Rs 10,000 की रेंज में Galaxy Buds को अच्छा पैकेज कहा जा सकता है।

यह भी पढ़ें:

Redmi Note 7 से Honor 9N तक ये हैं ₹10,000 से कम में आने वाले स्मार्टफोन्स

इलेक्शन कमीशन ने लॉन्च की Voter Turnout ऐप, जानें कैसे करें इस्तेमाल

How to Download Tik tok: बैन होते ही गूगल पर फैन्स ने जमकर किया सर्च

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
Next Story