WhatsApp यूजर्स को जल्द मिल सकता है एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड लोकल बैकअप, नई रिपोर्ट का दावा

WhatsApp लोकल बैकअप के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन को सक्षम करने पर काम कर रही है। कहा जाता है कि नया डेवलपमेंट सबसे पहले Android के लिए WhatsApp के बीटा बिल्ड में आएगा। ऐप पहले से ही अपने प्लेटफॉर्म पर चैट और कॉल के लिए एन्क्रिप्शन ऑफर करता है।

Mohini KediaWed, 04 Aug 2021 12:05 PM (IST)
यह Jagran की प्रतीकात्मक फाइल फोटो है।

नई दिल्ली, टेक डेस्क। इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप WhatsApp दुनियाभर में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किए जाने वाला मैसेजिंग ऐप है| इसकी खास वजह ये भी है कि ऐप यूजर्स की चैट के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन को सपोर्ट करता है| जिसका मतलब है कि मैसेज डिलीट होने के बाद कंपनी उसे एक्सेस या पढ़ नहीं सकती है| ये खासतौर पर यूजर्स की प्राइवेसी को ध्यान रखते हुए तैयार किया गया है| इसी के साथ अब कंपनी, लोकल बैकअप (WhatsApp Local Backup) के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन को सक्षम करने पर काम कर रही है। कहा जाता है कि नया डेवलपमेंट सबसे पहले Android के लिए WhatsApp के बीटा बिल्ड में आएगा।

लोकर बैकअप की बढ़ेगी सिक्योरिटी 

WABetaInfo की एक रिपोर्ट के मुताबिक, WhatsApp लोकर बैकअप के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन का विस्तार कर रहा है। इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप में पहले से ही अपने प्लेटफॉर्म के माध्यम से शुरू की गई चैट और कॉल भी एन्क्रिप्शन ऑफर करता है। हालांकि, कंपनी ने अभी तक इस फीचर की पुष्टि नहीं की है। लोकर बैकअप की सिक्योरिटी को बढ़ाने के साथ-साथ, WhatsApp कथित तौर पर Google ड्राइव पर एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड बैकअप लाने पर काम कर रहा है, जो लोगों को क्लाउड स्टोरेज पर अपलोड उनके मैसेज और दूसरे कंटेंट को किसी भी अनऑथराइज्ड एक्सेस से सिक्योर करने में मदद करेगा। 

कैसे काम करता है एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन ?

हालांकि, लोकल बैकअप के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन से, WhatsApp किसी भी थर्ड पार्टी को स्मार्टफोन पर स्टोर लोकल बैकअप तक एक्सेस करने से रिस्ट्रिक्टेड कर देगा। यह फीचर उन हैकर्स से कन्वर्सेशन को सिक्योर रखने में मददगार हो सकता है जो डिवाइस पर स्टोर किए गए WhatsApp बैकअप को दूरस्थ रूप से एक्सेस कर सकते हैं।

गूगल ड्राइव पर मिलेगा एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि WhatsApp लोकर बैकअप को सिक्योर रखने के लिए एन्क्रिप्ट करता है। हालांकि, ये बैकअप एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड नहीं हैं, जिसका मतलब है कि एक हैकर द्वारा एक्सेस किए जाने के बाद उन्हें किसी थर्ड पार्टी डिवाइस पर डिक्रिप्ट किया जा सकता है। WhatsApp पिछले कुछ महीनों से गूगल ड्राइव पर स्टोर किए गए बैकअप के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन विकसित करने के लिए सुर्खियों में रहा है। हालांकि, वह सपोर्ट अभी तक यूजर्स के लिए उपलब्ध नहीं हुआ है।

WABetaInfo द्वारा एक स्क्रीनशॉट पोस्ट किया गया है जो बताता है कि एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन एक ही समय में क्लाउड और लोकल बैकअप दोनों के लिए उपलब्ध होगा। पिछले महीने, WhatsApp ने बीटा टेस्टर्स के लिए प्रत्याशित मल्टी-डिवाइस सपोर्ट को रोल आउट करना शुरू कर दिया, ताकि एक साथ चार नॉन-फोन डिवाइसों में ऐप का इस्तेमाल किया जा सके।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.