top menutop menutop menu

Shri Ram Family Tree: मंदिर भूमि पूजन आज, मिले करोड़ों भारतीयों के प्रभु भगवान श्री राम से

Shri Ram Family Tree: मर्यादा पुरुषोत्तम श्री रामचंद्र को नैतिकता, विनम्रता, करूणा, क्षमा, धैर्य, त्याग तथा पराक्रम का सर्वोत्तम उदाहरण माना जाता है। इनके जीवनकाल को महर्षि वाल्मिकी ने रामायण और तुलसीदास ने रामचरितमानस में वर्णित किया है। टीवी सीरियल्स के माध्यम से रामचंद्र जी के चरित्र और जीवन को हर किसी ने समझा और जाना है। लेकिन आज हम आपको श्री राम के जीवन के कुछ और पहलुओं से अवगत करा रहे हैं। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आज राम मंदिर भूमि पूजन है। ऐसे में आज हम आपको भगवान श्री राम के पूरे परिवार से मिला रहे हैं। भगवान् श्री राम के परिवार में कौन-कौन था, ये सब आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बताएंगे।

किस कुल में जन्मे थे श्री राम:

श्री राम का जन्म रघुकुल में हुआ था जिसके लिए कहा जाता है "रघुकुल रीत सदा चली आई प्राण जाए पर वचन न जाई"। महाराज दशरश की बड़ी रानी कौशल्या ने एक शिशु को जन्म दिया जो बेहद ही कान्तिवान, नील वर्ण और तेजोमय था। इस शिशु का जन्म चैत्र मास की शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को हुआ था। इस समय पुनर्वसु नक्षत्र में सूर्य, मंगल शनि, वृहस्पति तथा शुक्र अपने-अपने उच्च स्थानों में विराजित थे। साथ ही कर्क लग्न का उदय हुआ था। वंश की बात करें तो इनका जन्म इक्ष्वाकु वंश में हुआ था। धार्मिक ग्रंथों के अनुसार, वैवस्तव मनु के कुल दस पुत्र थे। इनमें से आठवें पुत्र का नाम इक्ष्वाकु था। वैवस्तव मनु के पुत्र इक्ष्वाकु ने ही कोशल नगरी बसाई थी। इस नगरी की राजधानी अयोध्या थी। इक्ष्वाकु के वंश में ही अज और उनके पुत्र राजा दशरथ का जन्म हुआ था। वहीं, इसी वंश में राजा दशरथ के ही पुत्र राम लक्ष्मण, भरत तथा शत्रुघन का जन्म हुआ।

श्री राम के माता, पिता, पत्नी और भाई:
राजा दशरथ की तीन रानियां थीं जिनके नाम कौशल्या, सुमित्रा और कैकेयी थे। भगवान राम, दशरथ के बड़े बेटे थे। इनकी माता कौशल्या थीं। श्री राम के भाई लक्ष्मण, भरत और शत्रुघन थे। लक्ष्मण और शत्रुघ्न सुमित्रा के पुत्र थे। वहीं, भरत कैकेयी के पुत्र थे। श्री राम की पत्नी सीता थी। इनके दो पुत्र थे जिनका नाम लव और कुश था। लक्ष्मण की पत्नी उर्मिला थीं। इनके पुत्रों का नाम चन्द्रकेतु और चित्रांगद (अंगद) था। वहीं, भरत की पत्नी का नाम माण्डवी था। इनके पुत्रों का नाम पुष्कल तथा मणिभद्र था। शत्रुघन के पुत्रों का नाम सुबाह तथा भद्रसेन था।  

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.