दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Ramadan Eid ul Fitr 2021: नहीं हो पाया चांद का दीदार, जानें अब देश में कब मनाई जाएगी ईद

नहीं हो पाया चांद का दीदार, जानें अब देश में कब मनाई जाएगी ईद

Ramadan Eid ul Fitr 2021 गुरुवार 13 मई को रमज़ान महीने का 30वां और आखिरी रोज़ा होगा। रमज़ान के बाद जो ईद मनाई जाती है उसे ईद-उल-फितर के नाम से जाना जाता है और वह इस बार 14 मई को मनाई जाएगी।

Ruhee ParvezThu, 13 May 2021 10:13 AM (IST)

नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Ramadan Eid ul Fitr 2021: दिल्ली के साथ पूरे देश में बुधवार को कहीं भी ईद का चांद नज़र नहीं आया। ईद के चांद का दीदार नहीं हो पाया इसलिए अब ईद शुक्रवार को मनाई जाएगी। गुरुवार 13 मई को  रमज़ान महीने का 30वां और आखिरी रोज़ा होगा। रमज़ान के बाद जो ईद मनाई जाती है उसे ईद-उल-फितर के नाम से जाना जाता है और वह इस बार 14 मई को मनाई जाएगी।  

भारत में ईद 14 मई को  

ईद का चांद अगर आज भी नहीं दिखा फिर भी ईद 14 को ही मनाई जाएगी। फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मौलाना मुफ्ती मुकर्रम ने बताया कि दिल्ली सहित देश के किसी भी हिस्से में बुधवार को ईद का चांद नज़र नहीं आया, इसलिए ईद शुक्रवार 14 मई को मनाई जाएगी। गुरुवार को 30वां रोज़ा होगा और शव्वाल (इस्लामी कलेंडर का 10वां माह) की पहली तारीख शुक्रवार को होगी। 

आज 30वां और आखिरी रोज़ा

शव्वाल के महीने के पहले दिन ईद होती है। बुखारी ने कहा कि ईद 14 मई शुक्रवार के दिन होगी और मैं आपको ईद की मुबारकबाद देता करता हूं। मुस्लिम संगठन इमारत ए शरिया ने भी ऐलान किया है कि बुधवार को दिल्ली व देश के किसी भी हिस्से से चांद दिखने की कोई खबर नहीं है और ईद 14 मई को होगी तथा बृहस्पतिवार को 30 वां और आखिरी रोज़ा होगा।

शव्वाल के महीने के पहले दिन ईद

मुसलमान समुदाय का सबसे बड़ा त्योहार ईद उल फितर रमज़ान के महीने के ख़त्म होने पर मनाया जाता है। इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार, रमज़ान के बाद शव्वाल की पहली तारीख को ईद-उल-फितर मनाई जाती है। ईद के दिन की शुरुआत सुबह की नमाज़ के साथ होती है। इस साल रमज़ान 13 अप्रैल से शुरू हुए थे इसलिए गुरुवार 13 मई को 30वां और आखिरी रोज़ा होगा।  ईद-उल-फितर में मीठे पकवान खासतौर पर सेंवईंयां बनाई जाती हैं। लोग आपस में गले मिलकर अपने गिले-शिकवों को दूर करते हैं। इस्लामिक धर्म का यह त्योहार भाईचारे का संदेश देता है।

महामारी में ईद

हर साल ईद का त्योहार काफी धूमधाम से मनता है, हालांकि, इस साल कोरोना वायरस महामारी ने सभी को घरों में रहने पर मजबूर कर दिया है। देश इस वक्त कोरोना की ख़तरनाक दूसरी लहर से जूझ रहा है, जिसने लाखों लोगों की जान ले ली है। ऐसे में ईद के साथ सभी त्योहार अपने-अपने घरों में सिर्फ अपने परिवार के साथ मनाएं। नमाज़ घरों में ही पढ़ें और कोशिश करें कि घर से बाहर न निकलना पड़े। घर पर रहकर ही आप खुद को और अपने परिवार को सुरक्षित रख पाएंगे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.