पढ़ें 25 नवंबर 2021 का पंचांग, जानें आज के शुभ मुहूर्त, योग, राहुकाल एवं दिशाशूल

Aaj Ka Panchang आज मार्गशीर्ष मास के कृष्ण पक्ष की षष्ठी तिथि है। आज 25 नवंबर 2021 और दिन गुरुवार है। आज ब्रह्म योग बना हुआ है जो अगले दिन प्रातकाल तक रहेगा। आज गुरुवार के दिन आपको देव गुरु बृहस्पति और श्रीहरि विष्णु जी की पूजा करनी चाहिए।

Kartikey TiwariPublish:Thu, 25 Nov 2021 08:44 AM (IST) Updated:Thu, 25 Nov 2021 08:44 AM (IST)
पढ़ें 25 नवंबर 2021 का पंचांग, जानें आज के शुभ मुहूर्त, योग, राहुकाल एवं दिशाशूल
पढ़ें 25 नवंबर 2021 का पंचांग, जानें आज के शुभ मुहूर्त, योग, राहुकाल एवं दिशाशूल

Aaj Ka Panchang: हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, आज मार्गशीर्ष मास के कृष्ण पक्ष की षष्ठी तिथि है। आज 25 नवंबर 2021 और दिन गुरुवार है। आज ब्रह्म योग बना हुआ है, जो अगले दिन प्रात:काल तक रहेगा। आज गुरुवार के दिन आपको देव गुरु बृहस्पति और श्रीहरि विष्णु जी की पूजा करनी चाहिए। दोनों की कृपा से व्यक्ति की मनोकामनाएं पूरी होती हैं। गुरु दोष दूर होता है और कुंडली में गुरु की स्थिति मजबूत होती है। आज आप गुरु दोष मुक्त के अन्य उपाय भी कर सकते हैं। आज पूजा में पीले फूल, पीले फल और पीले रंग की मिठाई का उपयोग करना चाहिए। यदि आप गुरुवार को व्रत हैं, तो केले का पूजन करें और फल में केला न खाएं। आज के पंचांग में शुभ मुहूर्त, राहुकाल, दिशाशूल के अलावा सूर्योदय, सूर्यास्त, चंद्रोदय, चंद्रास्त आदि के बारे में भी जानकारी दी जा रही है।

आज का पंचांग

दिन: गुरुवार, मार्गशीर्ष मास, कृष्ण पक्ष, षष्ठी तिथि।

आज का दिशाशूल: दक्षिण।

आज का राहुकाल: दोपहर 01:30 बजे से 03:00 बजे तक।

सूर्योदय और सूर्यास्त

आज के दिन सूर्योदय प्रात:काल 06 बजकर 52 मिनट पर हुआ है, वहीं सूर्यास्त शाम को 05 बजकर 24 मिनट पर होगा।

चंद्रोदय और चंद्रास्त

चंद्रोदय आज रात 10 बजकर 17 मिनट पर होना है। चंद्र के अस्त का समय अगले दिन दोपहर पूर्व 11 बजकर 41 मिनट पर है।

आज का शुभ समय

ब्रह्म योग: आज सुबह 07 बजकर 58 मिनट से अगले दिन प्रात: 08 बजकर 03 मिनट तक।

गुरु पुष्य योग: आज प्रात: 06 बजकर 52 मिनट से शाम 06 बजकर 50 मिनट तक। इस समय काल में ही अमृत सिद्धि योग और सर्वार्थ सिद्धि योग भी बना हुआ है।

रवि योग: आज शाम 06 बजकर 50 मिनट से अगले दिन प्रात: 06 बजकर 52 मिनट तक।

अभिजित मुहूर्त: आज दिन में 11 बजकर 47 मिनट से दोपहर 12 बजकर 29 मिनट तक।

विजय मुहूर्त: दोपहर 01 बजकर 53 मिनट से दोपहर 02 बजकर 36 मिनट तक।

अमृत काल: आज दिन में 11 बजकर 48 मिनट से दोपहर 01 बजकर 34 मिनट तक।

आज मार्गशीर्ष कृष्ण षष्ठी है। आज गुरुवार को विष्णु सहस्रनाम, विष्णु चालीसा, विष्णु पुराण आदि का पाठ करना चाहिए। आज के दिन भगवान विष्णु की पूजा से माता लक्ष्मी भी प्रसन्न होती हैं। आज आप कोई नया कार्य करना चाहते हैं तो शुभ मुहूर्त का ध्यान रखें।