Rajasthan: जोधपुर में देश के पहले श्वास बैंक का वर्चुअल लोकार्पण

जोधपुर में देश के पहले श्वास बैंक का वर्चुअल लोकार्पण। फाइल फोटो

Rajasthan मरीजों को ऑक्सीजन की सप्लाई सुचारू रूप से करने के लिए जोधपुर श्वास बैंक की स्थापना हुई है। 500 ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर की क्षमता वाले यह श्वास बैंक पूरे देश मे अपनी तरह का पहला बैंक बना है।

Sachin Kumar MishraSat, 08 May 2021 04:06 PM (IST)

जोधपुर, संवाद सूत्र। Rajasthan: जोधपुर में अपनी तरह के अनूठे ब्रीथ बैंक के कार्यालय का भव्य लोकार्पण समारोहपूर्वक संपन्न हुआ। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की उपस्थिति में यह समारोह वर्चुअल रूप में आयोजित किया गया। मरीजों को ऑक्सीजन की सप्लाई सुचारू रूप से करने के लिए जोधपुर श्वास बैंक की स्थापना हुई है। 500 ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर की क्षमता वाले यह श्वास बैंक पूरे देश मे अपनी तरह का पहला बैंक बना है। कोरोना संकट के दौर में जोधपुर के भामाशाहों ने जिस तरीके से समर्पण और सेवाभाव दिखाया है, वह आने वाले वर्षों में कई पीढ़ियों के लिए एक अनुकरणीय उदाहरण के रूप में प्रस्तुत किया जाएगा। शास्त्री नगर ई सेक्टर स्थित श्वास बैंक के कार्यालय का वर्चुअल उद्धाटन समारोह पूर्वक संपन्न हुआ। कोरोना प्रोटोकॉल के चलते कम लोग ही भौतिक रूप से उपस्थित थे, लेकिन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जैसे ही एप के माध्यम से इसके लोकार्पण की घोषणा की, चंद तालियों की गूंज मानो गड़गड़ाहट बनकर हर कोने में गूंज गई। जोधपुर श्वास बैंक के नवनिर्मित कार्यालय का उद्घाटन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा ऑनलाइन लोकार्पण घोषणा के बाद सेवाभावी एंबुलेंस ड्राइवर लखपत राज देवल ने भवन के कार्यालय का उद्धाटन किया।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जोधपुर श्वास बैंक वेबसाइट के लोकार्पण की घोषणा करते हुए कहा कि जोधपुर के सेवाभावी समाजसेवकों द्वारा जो पहल की गई है, वह भारत के ही नहीं बल्कि दुनिया के और कोनों में भी लोगों को सेवाभाव से सेवा और दान देने के लिए प्रेरित कर रही है। उन्होंने सभी भामाशाहों की सराहना की तथा सलाह दी कि इस बैंक के साथ एक प्लाज़्मा बैंक भी बनाया जा सकता है। मुख्यमंत्री गहलोत ने जोधपुर ब्रेथ बैंक की वेबसाइट का भी लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि जोधपुर के इतिहास में यह ब्रीथ बैंक सुनहरे पन्नों पर लिखा जाएगा। इस अवसर पर मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष जस्टिस गोपाल कृष्ण जी व्यास ने अपने उद्बोधन में श्वास बैंक की इस संकल्पना को अद्भुत बताया तथा जोधपुर शहर के लिए वरदान बताया। जोधपुर के पूर्व नरेश गज सिंह ने भामाशाहों की इस पहल की मुक्तकंठ से प्रशंसा की तथा सबको बधाई दी। न्यायमूर्ति विनीत कोठारी व न्यायमूर्ति संदीप मेहता ने इसे देशभर के लिए एक अनुकरणीय पहल बताया तथा जोधपुर में सघन वृक्षारोपण के लिए सबको प्रेरित किया।

13 मई से हो जाएगा सुचारू क्रियान्वयन

जोधपुर जिला कलेक्टर इन्द्रजीत सिंह ने ब्रेथ बैंक की अवधारणा की सराहना करते हुए इसकी जरूरत संबधी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि वर्तमान में जोधपुर शहर एवं संभाग भर से आ रहे मरीजों के लिए ऑक्सीजन की महती जरूरत है। जिला प्रशासन मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते ऑक्सीजन उपलब्ध कराने में बेहद मुश्किल परिस्थितियों से गुजर रहा है। मरीजों को ऑक्सीजन की सप्लाई सुचारू रूप से करने के लिए जोधपुर श्वास बैंक की स्थापना हुई है। 500 ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर की क्षमता वाले यह श्वास बैंक पूरे देश मे अपनी तरह का पहला बैंक बना है। साथ ही, यह बैंक जोधपुर के महात्मा गांधी अस्पताल में 800 लीटर/प्रति मिनिट क्षमता वाला एक ऑक्सीजन प्लांट भी लगवाने जा रहा है जिसके ऑर्डर हो चुके हैं व संभावना है कि 22 मई तक यह शुरू हो जाएगा। शहर के भामाशाहों द्वारा कुल 500 ऑक्सीजन कॉन्सन्ट्रेटर मशीनों को श्वास बैंक में उपलब्ध करवाना जाना प्रस्तावित है । इसके भी ऑर्डर हो चुके हैं व आज से 13 मई के मध्य सभी मशीनें उपलब्ध हो जाएगी।

निर्मल गहलोत की मुहिम ने लिया मूर्त रूप

जोधपुर के शिक्षा जगत से जुड़े व्यवसाय और व्यवसाई और समाजसेवी निर्मल गहलोत इस मुहिम मे जोधपुर के जाने माने व्यवसाइयों ने खुल कर मदद की है। जोधपुर के जन्मे अमेरिका निवासी प्रेमभण्डारी, दुबई से मनीष मूंदड़ा ने भी इस पुनीत कार्य में बहुत बड़ा भामाशाही योगदान दिया है। जोधपुर में प्राकृतिक ऑक्सीजन की कभी भी कमी न आ पाए, इसलिए वृहत स्तर पर वृक्षारोपण कार्यक्रम भी श्वास बैंक की टीम की निगरानी में भविष्य में निरन्तर चलाया जाएगा। वर्चुअल कार्यक्रम में निर्मल गहलोत ने जोधपुर श्वास बैंक का संक्षिप्त परिचय दिया एवं वर्चुअल समारोह में उपस्थित अतिथियों व भामाशाहों का परिचय कराया। निर्मल गहलोत एवं उनकी टीम के अन्य भामाशाह विष्णु गोयल श्रीपाल लोढ़ा, हरीश अग्रवाल, अशोक पंवार, सुरेश गांधी, बलवीर जैन, तरुण गहलोत एवं जोधपुर श्वास बैंक के अन्य सभी भामाशाह एवं सेवाभावी सदस्य उपस्थित थे। निश्चित तौर पर इस श्वास बैंक की स्थापना के बाद शहर एक राहत की सांस लेगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.