Rajasthan: डूंगरपुर जिले में दिल दहलाने वाली घटना, सौतेली मां ने टब में डुबोकर ले ली थी दो बच्चों की जान

सौतेली मां ने पहले दोनों बच्चों की हत्या कर दी और खुद वारदात करना कबूल कर लिया। वह खुद अपराध कबूल नहीं करती तो घटना का पता नहीं चलता। दूसरी ओर पुलिस ने निशा और विशाल की असली मां संगीता को भी घटना की जानकारी दी लेकिन वह नहीं आई।

Priti JhaTue, 08 Jun 2021 09:52 AM (IST)
सौतेली मां ने दो मासूम बच्चों की जान टब में डुबोकर ले ली।

उदयपुर, संवाद सूत्र। संभाग के डूंगरपुर जिले में दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है, जहां एक सौतेली मां ने दो मासूम बच्चों की जान टब में डुबोकर ले ली। घटना तीन दिन पुरानी है लेकिन इसका खुलासा सोमवार को हो पाया। मिली जानकारी के अनुसार घटना का खुलासा खुद सौतेली मां ने किया। दोनों बच्चों की हत्या के बाद वह खुद जान देने निकल गई थी और दो दिन बाद घर लौटी। जहां उसने अपनी गलती कबूल कर ली। परिजनों की सूचना पर रामसागड़ा थाने की पुलिस आई और हत्या का मामला दर्ज करते हुए आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया।

बताया गया कि घटना डूंगरपुर जिले के रामसागड़ा गांव की है। जहां तीन जून की दोपहर शरम निवासी बद्रीलाल की दूसरी पत्नी दुर्गा ने पहली पत्नी के दो बच्चे तीन साल के विशाल तथा चार साल की निशा की हत्या कर दी। उसने दोनों की जान बाथरूम में रखे टब में पानी भरकर उनको डुबो दिया था। इस घटना के बाद परिजनों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर घर से एक किलोमीटर दूर जंगल में दोनों बच्चों के शवों को दफना दिया। इसके बाद दुर्गा अचानक लापता हो गई। इस पर परिजनों ने संदेह भी हुआ लेकिन पुलिस को बच्चों की मौत की जानकारी नहीं दी। दो दिन लापता रहने के बाद रविवार रात दुर्गा घर लौटी थी। उसने सोमवार को बताया कि उसी ने विशाल और निशा की जान ली थी और इसके बाद वह खुद जान देने के इरादे से घर से निकल गई। हालांकि वह जान नहीं दे पाई और उसे घटना को लेकर खुद से घृणा होने लगी।

दोनों बच्चों के शव निकलवाए और पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेजे

पुलिस ने जानकारी दी कि घटना की सूचना पर सोमवार शाम दुर्गा के खिलाफ दोहरे हत्याकांड का मामला दर्ज कर लिया गया। बताए गए स्थान से बच्चों के शव निकाले गए तथा पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेजे गए। मंगलवार को दोनों बच्चों के शवों का पोस्टमार्टम कराया जाएगा।

बताया गया कि बद्रीलाल ने पांच साल पहले गुजरात में काम करने के दौरान गुजरात की युवती संगीता से शादी की थी। निशा और विशाल दोनों उसी के बच्चे थे लेकिन एक साल पहले उसने बद्रीलाल को छोड़ दिया और किसी और के नाते चली गई। इसके बाद बद्रीलाल ने दुर्गा से शादी की थी। बद्रीलाल गुजरात में मजदूरी करता था और दुर्गा अपने पति के वृद्ध माता-पिता और दोनों बच्चों के साथ गांव रहती थी।

सौतेली मां ने कबूली वारदात, असली मां घटना की जानकारी के बावजूद नहीं आई

पुलिस ने बताया कि सौतेली मां ने पहले दोनों बच्चों की हत्या कर दी और खुद ने ही वारदात करना कबूल कर लिया। वह खुद अपराध कबूल नहीं करती तो घटना का पता नहीं चलता। दूसरी ओर पुलिस ने निशा और विशाल की असली मां संगीता को भी घटना की जानकारी दी लेकिन वह नहीं आई। रामसागड़ा थानाप्रभारी बाबूलाल डामोर ने कहा कि आरोपी दुर्गा के परिजनों को मौके पर बुलाया गया, लेकिन वे भी नही आए। आरोपित ने बताया कि वह सास की बातों से नाराज थी और आवेश में आकर उसने बच्चों की जान ले ली।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.