Corona Vaccine: राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने लगवाई कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने लगवाई कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज। फाइल फोटो

Corona Vaccine कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने वीरवार को सवाई मान सिंह अस्पताल में कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाई है। प्रदेश के कई जिलों में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं।

Sachin Kumar MishraThu, 15 Apr 2021 01:47 PM (IST)

जयपुर, एएनआइ। Corona Vaccine: राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने वीरवार को सवाई मान सिंह अस्पताल में कोरोना वायरस वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाई। इस बीच, सीएम अशोक गहलोत ने ट्वीट में लिखा कि बुधवार को विभिन्न राजनीतिक दलों, धर्मगुरुओं, विशेषज्ञों, सामाजिक, कर्मचारी, व्यपारी, उद्यमी व मजदूर संगठनों के साथ की गई वीसी में सभी ने राय रखी कि कोविड से निपटने के लिए सख्ती करना आवश्यक है। सभी के सुझावों के अनुरूप राज्य सरकार ने कड़े कदम उठाने का फैसला किया है। उम्मीद करते हैं कि सभी की भावना के अनुरूप अब आमजन मास्क लगाएंगे, सोशल डिस्टैंसिंग रखेंगे व हाथ धोते रहेंगे। बढ़ते हुए कोरोना पर काबू पाने के लिए कोविड प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना करने के अलावा अब कोई विकल्प नहीं है। मेरी पुन: प्रदेशवासियों से अपील है कि सख्ती बरतने कि आवश्यकता नहीं पड़े। हम सभी आमजन को इस दूसरी लहर की भयावहता से बचाने के लिए पहले की तरह एकजुट हो जाएं। जैसे-जैसे केंद्र सरकार वैक्सीन की सप्लाई करेगी वैक्सीन का कार्यक्रम चलता रहेगा।

ऑक्सीजन की खपत पांच गुना बढ़ी

जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान में कोरोना महामारी की दूसरी लहर चरम पर है। हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। पिछले दो सप्ताह में ऑक्सीजन की खपत पांच गुना ज्यादा बढ़ गई है। प्रतिदिन पांच हजार से भी अधिक ऑक्सीजन सिलेंडरों की खपत हो रही है। अस्पतालों में जीवन रक्षक रेमडेसिविर इंजेक्शन की मांग बढ़ गई है। इसी कारण सिर्फ सरकारी और मान्यता प्राप्त अस्पतालों में ही इसके इस्तेमाल की अनुमति दी गई है। अब बाजार में ना तो इसकी बिक्री होगी और ना ही स्टॉक रखा जा सकेगा। प्रमुख चिकित्सा सचिव सिद्धार्थ महाजन ने जिला कलेक्टरों से बात कर ऑक्सीजन सिलेंडरों की उपलब्धता और रेमडेसिविर इंजेक्शन की खपत पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। सरकार ने वैक्सीनेशन बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। अब तक एक करोड़ 45 लाख 6000 लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज लगाई जा चुकी है। केंद्र सरकार से और डोज मंगवाने को लेकर पत्र लिखने को लेकर तैयारी की जा रही है। उधर, डेंगू, स्वाइन फ्लू और चिकनगुनिया जैसी मौसमी बीमारियां फैलने लगी हैं। विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में इसका प्रभाव बढ़ने लगा है। कोरोना की रोकथाम में लगे चिकित्सा विभाग के अधिकारी व चिकित्सक इन बीमारियों की रोकथाम पर ध्यान नहीं दे रहे। चिकित्सा व स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने मौसमी बीमारियो पर निगरानी के लिए जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिए हैं, लेकिन इस दिशा में कोई काम नहीं हो रहा। ना तो ग्रामीण इलाकों व कच्ची बस्तियों में फॉगिंग हो रही है और ना ही डोर टू डोर सर्वे हो रहा है। कई सरकारी अस्पतालों में इनकी जांच के लिए इलाइजा टेस्ट मशीन उपलब्ध नहीं है। रेपिड रेस्पॉंस टीम भी सक्रिय नहीं है।

सबसे अधिक 1325 मरीज जयपुर में मिले

प्रदेश के कई जिलों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से प्रदेश के सभी जिलों में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। बुधवार को प्रदेश में 6200 कोरोना संक्रमित मिलने के साथ ही 29 लोगों की मौत हुई है। प्रदेश में सबसे अधिक 1325 मरीज जयपुर में मिले हैं। वहीं, कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण राजस्थान सरकार ने 10 वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा स्थगित कर दी है। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड संक्रमण पर लगाम लगने के बाद परीक्षा की नई तारीख तय करेगा। सरकार ने आठवीं, नौवीं और 11वीं कक्षा के स्टूडेंट्स को बिना परीक्षा के अगली कक्षाओं में प्रमोट करने का भी निर्णय लिया। प्रदेश में सभी स्कूल बंद करने पर भी विचार किया जा रहा है। इस बारे में शुक्रवार तक आदेश जारी हो सकते हैं। इस बीच, कोरोना के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर राजस्थान सरकार ने 16 अप्रैल से 30 अप्रैल तक सभी शहरों में रात छह बजे से सुबह छह बजे में नाइट कर्फ्यू की घोषणा की।

शाम छह बजे से सुबह छह बजे तक रात्रि कर्फ्यू

राजस्थान में कोरोना संक्रमण की रफ्तार तेज होती देख सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है। इसके तहत प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में शाम छह से सुबह छह बजे तक रात्रि कर्फ्यू रहेगा। बाजार शाम 5 बजे बंद कर दिए जाएंगे। सभी सरकारी दफ्तर शाम चार बजे तक ही खुलेंगे। विवाह समारोह में 50 लोग ही शामिल हो सकेंगे। बैंड वादकों को इस संख्या में शामिल नहीं किया जाएगा। विवाह समारोह की वीडियोग्राफी होगी, बिना मास्क के किसी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। अंतेष्टि में 20 लोग ही शामिल हो सकेंगे। सिनेमा हॉल, स्वीमिंग पूल, मल्टीप्लेक्स, जिम पूरी तरह से बंद रहेंगे। सभी तरह के सामाजिक, धार्मिक व राजनीतिक कार्यक्रमों पर रोक रहेगी। कार्यालयों में कुल क्षमता के 50 प्रतिशत कार्मिकों ही काम पर बुलाया जाएगा। शेष कार्मिक वर्क फ्रॉम होम करेंगे। किसी कार्यालय में संक्रमित मिलने पर उसे 72 घंटे के लिए बंद किया जाएगा। सार्वजनिक परि वहन में कुल क्षमता के 50 फीसदी लोग ही यात्रा कर सकेंगे। धार्मिक स्थलों में ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था होगी।

10वीं और 12वीं की परीक्षाएं स्थगित

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में हुई कोरोना महामारी की समीक्षा बैठक में तय किया गया कि 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा स्थगित रहेंगी। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड संक्रमण पर लगाम लगने के बाद परीक्षा की नई तारीख तय करेगा। सरकार ने आठवीं, नौवीं और 11वीं कक्षा के स्टूडेंट्स को बिना परीक्षा के अगली कक्षाओं में प्रमोट करने का भी निर्णय लिया। प्रदेश में सभी स्कूल बंद रहेंगे। यह गाइडलाइन 30 अप्रैल तक लागू होगी।

जानें, किस जिले में कोरोना के कितने मामले

प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर तेजी से फैल रही है। 24 घंटे में सबसे अधिक 6200 संक्रमित मिलने के साथ ही 29 लोगों की मौत हुई है। प्रदेश में सबसे अधिक 1325 मरीज जयपुर में मिले हैं । 918 जोधपुर, 820 जोधपुर, 247 अजमेर, 279 अलवर, 355 भीलवाड़ा, 170बीकानेर, 135 चित्तौड़गढ़, 191 डूंगरपुर, 126 राजसमंद, 114 सवाईमाधोपुर में मिले हैं। करौली एकमात्र ऐसा जिला है, जहां एक भी मरीज नहीं मिला। शेष 21 जिलों में 10 से लेकर 90 मरीज मिले हैं ।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.