top menutop menutop menu

LIVE Rajasthan Coronavirus News Update: राजस्थान में कोरोना के 500 नए मामले

जयपुर/अजमेर, जेएनएन। राजस्थान में गुरुवार को 500 कोरोना संक्रमित मिलने के साथ ही नौ लोगों की मौत हुई है। प्रदेश में अब तक 22563 पॉजिटिव मिले हैं। वहीं, 491 लोगों की मौत हुई है। 5002 एक्टिव केस बचे हैं। चिकित्सा विभाग के अनुसार, प्रदेश में अब तक नौ लाख 63 हजार 454 लोगों के सैंपल लिए गए। इनमें से नौ लाख 36 हजार 65 नेगेटिव मिले हैं । 5177 सैंपलों की रिपोर्ट आना बाकी है। इधर, जयपुर हवाई अड्डे पर गुरूवार को कोरोना संक्रमित व्यक्ति के पहुंचने पर हड़कंप मच गया। दरअसल,एक यात्री को जयपुर से वाराणसी स्वाइसजेट की फ्लाइट से जाना था।

स्पाइसजेट की दोपहर 2:55 की फ्लाइट से वाराणसी जाने के लिए वह करीब 12:30 बजे एयरपोर्ट पहुंचा। एयरपोर्ट पर मेडिकल स्क्रीनिंग के दौरान जांच में कोरोना के प्राथमिक लक्षण होने का पता लगा। इसके बाद चिकित्सा र्किमयों ने एतिहात बरतते हुए उससे पूछताछ की, तो उसने खुद ही स्वीकार किया कि उसे कोरोना पॉजिटिव है। यह बात सामने आते ही एयरपोर्ट पर हड़कंप मच गया,उसे पीपीई किट पहनाकर आइसोलेट किया गया। उसके बाद यात्री को एंबुलेंस से अस्पताल भेजा गया । उधर गुरूवार को भी जयपुर एयरपोर्ट से 23 में से 16 फ्लाइट्स का संचालन किया गया ।7 फ्लाइट्स कैंसिल रहीं। पिछले 44 दिन से जयपुर से सूरत, जालंधर, अमृतसर, उदयपुर की फ्लाइट्स शुरू ही नहीं हो सकी। स्पाइसजेट एयरलाइंस को इन चारों फ्लाइट्स का संचालन करना था। गुरुवार को भी ये चारों फ्लाइट्स रद रहीं। इसी प्रकार एयर एशिया की बेंगलुरु की फ्लाइट आई5-1721 और इंडिगो की कोलकाता की फ्लाइट 6ई-498 रद रहीं।

जिलावार आंकड़े

प्रदेश में सबसे अधिक 3759 मामले जयपुर जिले में मिले हैं। अजमेर में 684, अलवर में 944, बांसवाड़ा में 100, बांरा में 74, बाड़मेर में 594, भरतपुर में 1905, भीलवाड़ा में 284, बीकानेर में 722, बूंदी में 19, चित्तौड़गढ़ में 213, चूरू में 354, दौसा में 207, धौलपुर में 808, डूंगरपुर में 479, गंगानगर में 66, हनुमानगढ़ में 112, जैसलमेर में 118, जालौर में 504, झालावाड़ में 379, झुंझुनूं में 439, जोधपुर में 3468, करौली में 122, कोटा में 871, नागौर में 845, पाली में 1342, प्रतापगढ़ में 142, राजसमंद में 351, सवाईमाधोपुर में 118, सीकर में 677, सिरोही में 631, टोंक में 212 व उदयपुर में 827पॉजिटिव मिले हैं। इनके अलावा 153 अन्य लोग पॉजिटिव मिले थे, जो अब स्वस्थ हैं।

अजमेर 21 नए मामले, आंकड़ा 700 के पार

अजमेर जिले में गुरुवार को फिर एक साथ 21 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले। जेएलएन अस्पताल के कार्डियोलॉजी विभाग का एक रेजीटेड डॉक्टर व माता-पिता, स्वास्थ्य कर्मी सहित अन्य मरीज सामने आए हैं। प्रतिदिन बढ़ रही कोरोना की चैन से अजमेर संभाग का चिकित्सा विभाग चिंतित है। जवाहर लाल नेहरू अस्पताल के कोविड-19 वार्ड के प्रभारी डॉक्टर संजीव माहेश्वरी ने बताया कि गुरुवार को जिले में 21 पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। 

अब एसिम्पटोमेटिक मरीजों को किया जाएगा होम आइसोलेट

अजमेर जिले में कोरोना महामारी संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए जिला प्रशासन ने नई रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है। अब केवल गंभीर रूप से बीमार कोरोना पॉजीटिव मरीजों को ही अस्पताल में भर्ती किया जाएगा। एसिम्पटोमेटिक या हल्के लक्षण वाले पॉजीटिव मरीजों को उनके घर पर ही आइसोलेट या क्वारंटाइन किया जाएगा। अजमेर में शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर कोरोना सैम्पलिंग शुरू कर दी गई है। जिला कलक्टर ने खुद चिकित्सालयों पर निरीक्षण कर सैम्पलिंग की व्यवस्थाओं को जांचा। जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित ने बताया कि जिले में वेरीमाइल्ड एवं प्री सिम्पटोमेटिक कोरोनो पोजिटिव मरीजों को होम आइसोलेशन अथवा होम क्वारंटाइन में रखा जाएगा। संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए भिन्न-भिन्न श्रेणी के व्यक्तियों को स्टेट अथवा होम क्वारंटाइन करने के संबंध में संशोधित प्रक्रिया अपनाई जाएगी। 

प्रदेश में कोरोना जांच बढ़ाकर 50 हजार की जाएगी

चिकित्सा व स्वास्थ्य तथा जनसंपर्क मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सरकार पूरे प्रयास कर रही है लेकिन आमजन को भी इसमें पूरा सहयोग करना होगा। मास्क पहनना, हाथ धोना, सोशल डिस्टेंसिंग और खुले में ना थूकना जैसी सामान्य आदतें अपनाकर इससे बचा जा सकता है। कोरोना से रिकवरी दर के मामले में राजस्थान पूरे देश में अव्वल है। हमारे यहां मृत्यु दर का औसत भी देश से कम है। राजस्थान की टेस्टिंग क्षमता पूरे देश में सबसे ज्यादा है, जल्द इसे बढ़ा कर 50 हजार कर दिया जाएगा।राजस्थान की वर्तमान क्षमता आज 41500 टेस्ट प्रतिदिन की है।राज्य के 21 जिलों में टेस्टिंग हो रही है। चिकित्सा व स्वास्थ्य तथा जनसम्पर्क मंत्री डॉ रघु शर्मा ने यह बात गुरुवार को केकड़ी में पत्रकारों से बातचीत में कही। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.