Mahangai Hatao Rally: जयपुर में 12 दिसंबर को होने वाली कांग्रेस की महंगाई हटाओ रैली में दो लाख लोगों की भीड़ जुटाने का है लक्ष्य

Mahangai Hatao Rally राजस्थान के जयपुर में होने वाली कांग्रेस की महंगाई हटाओ रैली में दो लाख लोगों की भीड़ जुटाने का लक्ष्य रखा गया है। इनमें से एक लाख लोग राजस्थान से और शेष एक लाख अन्य राज्यों से लाए जाएंगे।

Sachin Kumar MishraFri, 03 Dec 2021 02:46 PM (IST)
जयपुर में होने वाली कांग्रेस की महंगाई हटाओ रैली को राजस्थान हाई कोर्ट में चुनौती। फाइल फोटो

जागरण संवाददाता, जयपुर। महंगाई के खिलाफ 12 दिसंबर को राजस्थान के जयपुर में होने वाली कांग्रेस की महंगाई हटाओ रैली में दो लाख लोगों की भीड़ जुटाने का लक्ष्य रखा गया है। इनमें से एक लाख लोग राजस्थान से और शेष एक लाख अन्य राज्यों से लाए जाएंगे। रैली की तैयारियों को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, संगठन महामंत्री केसी वेणुगोपाल, प्रदेश प्रभारी अजय माकन और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने विद्याधर नगर स्टेडियम का मौका देखा। इन नेताओं ने मंत्रियों, विधायकों, प्रदेश पदाधिकारियों व जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों की बैठक लेकर भीड़ जुटाने के लक्ष्य निर्धारित किए। उधर, रैली के खिलाफ राजस्थान हाई कोर्ट में दो अलग-अलग जनहित याचिका दायर हुई है। हालांकि हाई कोर्ट ने याचिका को खारिज कर दिया।

राजस्थान हाई कोर्ट ने खारिज की दोनों याचिकाएं

कांग्रेस की जयपुर में होने वाली रैली में जुटने वाली भीड़ से कोरोना फैलने की आशंका का तर्क देते हुए एक याचिका एडवोकेट राजेश मूथा ने याचिका दायर की है। मूथा ने तर्क दिया है कि कोरोना की तीसरी लहर के खतरे के बीच यह रैली जानलेवा साबित हो सकती है। राज्य में लागातार कोरोना पीड़ितों के मामले बढ़ रहे हैं। पुराना अनुभव भी यह बताता है कि जब भी भीड़भाड़ वाले कार्यक्रम हुए हैं, उसके बाद कोरोना पीड़ितों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। इसलिए इस तरह के कार्यक्रम नहीं होने चाहिए। अब ओमिक्रोन फैलने लगा है। वहीं, दूसरी याचिका एडवोकेट पूनम चंद भंडारी ने दायर की थी। हाई कोर्ट ने दोनों की एकसाथ सुनवाई करते हुए शुक्रवार को खारिज कर दिया। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस पहले दिल्ली में रैली करने वाली थी, लेकिन वहां अनुमति नहीं मिलने पर अब जयपुर में रैली की जा रही है। रैली में राजस्थान से एक लाख और शेष एक लाख की भीड़ अन्य राज्यों से जुटाने का लक्ष्य रखा गया है।

केंद्र सरकार को घेरा

अशोक गहलोत और केसी वेणुगोपाल ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि पहले कांग्रेस को दिल्ली के द्वारका में रैली आयोजित करने की अनुमति दी गई थी, लेकिन बाद में इसे वापस ले लिया गया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार कांग्रेस की महंगाई के खिलाफ होने वाली रैली से डरी हुई है, इस कारण अनुमति वापस ले ली गई। गहलोत ने कहा कि ऐसा क्या है कारण है कि उन्होंने अनुमति वापस ले ली। केंद्र सरकार आम आदमी, किसान और बेरोजगार की परवाह नहीं कर रही है। जनता 2024 में इन्हें सबक सिखाएगी। लोकतंत्र में विनम्र रहना पड़ता है, लेकिन भाजपा के नेता घमंड और अहम में है।

कांग्रेस की रैली से पहले जयपुर में बसपा का सम्मेलन भी होगा

कांग्रेस की रैली से पहले छह दिसंर को जयपुर के बिड़ला सभागार में बसपा का राज्य स्तरीय सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। इस सम्मेलन को बसपा के राष्ट्रीय समन्वय आकाश आनंद और प्रदेश अध्यक्ष भगवान सिंह बाबा सहित कई नेता संबोधित करेंगे। बाबा ने बताया कि पार्टी ने विधानसभा चुनाव की तैयारियां प्रारंभ कर दी हैं। दो साल बाद होने वाले विधानसभा चुनाव में बसपा पहले से अधिक सीटें जीतेगी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.