Coronavirus: राजस्थान में कोरोना से बच्चे की मौत, संक्रमितों की संख्या 100 के पार

Coronavirus राजस्थान में कोरोना से बच्चे की मौत होने के साथ ही एक्टिव केसों की संख्या 100 के पास पहुंच गई है। मृतक बच्चा जयपुर के आरयूएचएस अस्पताल में भर्ती था। संक्रमितों में सबसे ज्यादा 65 फीसद जयपुर में हैं

Sachin Kumar MishraFri, 19 Nov 2021 03:30 PM (IST)
राजस्थान में कोरोना से बच्चे की मौत, संक्रमितों की संख्या 100 के पार। फाइल फोटो

जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान में कोरोना संक्रमण फिर फैलने लगा है। एक बच्चे की मौत होने के साथ ही एक्टिव केसों की संख्या 100 के पास पहुंच गई है। मृतक बच्चा जयपुर के आरयूएचएस अस्पताल में भर्ती था। संक्रमितों में सबसे ज्यादा 65 फीसद जयपुर में हैं। राज्य के 33 में से 13 जिलों में कोरोना फैल चुका है। दीपावली से पहले 30 जिले कोरोना फ्री हो गए थे। इसी बीच, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना वैक्सीन की तीसरी बूस्टर डोज लगाने की अनुमति मांगी है। गहलोत ने कहा कि दूसरी डोज के बाद अब तीसरी बूस्टर डोज की आवश्यकता है, जिससे कोरोना की तीसरी लहर नहीं आए। उन्होंने शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर बूस्टर डोज देने का आग्रह किया जाएगा। कई देशों में बूस्टर डोज लगाना शुरू कर दिया है। केंद्र सरकार को इसकी व्यवस्था करनी चाहिए।

बूस्टर डोज के लिए पीएम मोदी को पत्र लिखेंगे अशोक गहलोत

उन्होंने कहा कि यूरोप में भयंकर रूप से कोरोना फैल रहा है। जर्मनी और रूस के अस्पतालों में बेड नहीं मिल रहे हैं। डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि कोरोना की वजह से यूरोप में पांच लाख लोगों की मौत हो सकती है। यह भी एक धारणा है कि कोरोना जब यूरोप में आता है तो दो-तीन महीने बाद एशिया में आता है। भारत भी उसी एशिया में शामिल है। कोरोना संक्रमितों की राज्य में संख्या बढ़ी है। गहलोत ने समीक्षा बैठक कर कोरोना पर लगाम लगाने के लिए किए जाने वाले प्रयासों पर चर्चा की। इस बैठक के बाद उन्होंने बूस्टर डोज के लिए प्रधानमंत्री को पत्र लिखने का फैसला किया है। सीएम ने कहा कि तीसरी लहर राज्य में आनी ही नहीं चाहिए, इसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं। सभी को कोरोना प्रोटोकाल की पालना करनी होगी। गहलोत ने कहा कि स्कूलों में कोरोना के मामले सामने आना खतरनाक है। सरकार इस पर नजर रख रही है।

एक सप्ताह से बढ़ने लगी संक्रमितों की संख्या

दीपावली और उसके बाद शादियों में मेहमानों की संख्या की सीमा को हटाने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़ने लगी है। पहले राज्य सरकार ने शादियों में 50 लोगों के शामिल होने की अनुमति दी थी, लेकिन करीब 10 दिन पहले इस सीमा को हटा दिया गया था। इसके बाद शादियों में भीड़ बढ़ने लगी। दीपावली पर भी लोग कोविड प्रोटोकाल का पालन किए बिना नजर आए। इसी बीच, 15 नवंबर से स्कूल खोल दिए गए। पांच दिन में ही जयपुर के स्कूलों में पांच बच्चे संक्रमित मिले हैं। अभिभावक फिर से आनलाइन क्लास शुरू करने की मांग कर रहे हैं, लेकिन शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा का कहना है कि यह स्कूल प्रबंधन और अभिभावकों के बीच का मामला है। सरकार फिलहाल इसमें दखल नहीं देगी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.