Rajasthan: अजमेर नगरीय निकाय उपचुनाव में कांग्रेस को झटका, भाजपा ने जीती दोनों सीटें

Rajasthan अजमेर नगर निगम के वार्ड संख्या 28 व नगर परिषद किशनगढ़ के वार्ड संख्या 46 में हुए नगरीय निकाय उपचुनाव 2021 के बुधवार को मतगणना पश्चात प्राप्त परिणामों में दोनों सीटों में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों ने जीत हासिल की है।

Sachin Kumar MishraWed, 28 Jul 2021 02:58 PM (IST)
अजमेर नगरीय निकाय उपचुनाव में कांग्रेस को झटका, भाजपा ने जीती दोनों सीटें। फाइल फोटो

अजमेर, संवाद सूत्र। राजस्थान में अजमेर जिले के अजमेर नगर निगम के वार्ड संख्या 28 व नगर परिषद किशनगढ़ के वार्ड संख्या 46 में हुए नगरीय निकाय उपचुनाव 2021 के बुधवार को मतगणना पश्चात प्राप्त परिणामों में प्रदेश की सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी को जोरदार झटका लगा है। दोनों ही सीटों में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों ने जीत हासिल की है। अजमेर नगर निगम वार्ड 28 के उपचुनाव में भाजपा की गीता जांगिड ने 783 मतों से कांग्रेस की बेला शर्मा को पराजित किया। वहीं, किशनगढ़ के वार्ड संख्या 46 के उपचुनाव में बीजेपी उम्मीदवार भैरव लाल सैनी ने 585 वोट से कांग्रेस के प्रत्याशी पन्नालाल को शिकस्त दी है। नगरीय निकाय उपचुनाव 2021 के लिए बुधवार को हुई मतगणना कुछ ही राउंड में पूरी हो गई। मतगणना को लेकर लोगों में काफी उत्साह दिखा। उपचुनाव के चुनावी मैदान में बीजेपी और कांग्रेस के उम्मीदवार ही आमने-सामने थे। लिहाजा परिणाम आने में भी ज्यादा देर नहीं लगी। मतगणना पांच राउंड में हुई। मतगणना में एक भी डाक मतपत्र नहीं मिला।

भाजपा उम्मीदवार गीता जांगिड़ को 1851 मत मिले

परिणामों पर गौर करें तो बीजेपी की उम्मीदवार गीता जांगिड़ को 1851 मत प्राप्त हुए, जबकि कांग्रेस उम्मीदवार बेला शर्मा को 1069 मत मिले। नोटा विकल्प के तौर पर 54 मतदाताओं ने नोटा को वोट किया। कुल 2974 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया था। वार्ड में भाजपा का दबदबा कायम रहा। उल्लेखनीय है कि कि पूर्व पार्षद भारतीय जांगिड़ के कोरोना से निधन के बाद बीजेपी ने उनकी बहन गीता जांगिड़ को टिकट दिया था। सहानुभूति के आधार पर बीजेपी का यह कार्ड कामयाब हो गया। गीता जांगिड़ ने 783 मतों से शानदार जीत हासिल की है। चुनाव में बीजेपी की एकजुटता नजर आई। क्षेत्र की विधायक अनिता भदेल, अजमेर लोकसभा से सांसद भागीरथ चौधरी सहित कई बड़े नेता चुनाव में सक्रिय नजर आए। वहीं, कांग्रेस में दक्षिण क्षेत्र के कद्दावर नेता हेमंत भाटी ही चुनाव में सक्रिय दिखाई दिए। कांग्रेस में भीतरी कलह का असर चुनाव में भी दिखाई दिया। वार्ड में तीन बार जीत चुके कांग्रेस के पार्षद बलविंदर सिंह का कांग्रेस से दामन छोड़कर बीजेपी में आ जाना अभी कांग्रेस के लिए एक बड़ा झटका था। पूर्व पार्षद बलविंदर सिंह, उनकी मां और बहन क्षेत्र से कांग्रेस से चुनाव जीत चुके हैं।

भारती जांगिड़ का सपना पूरा करूंगीः गीता

वार्ड 28 में उपचुनाव जीती गीता जांगिड़ ने कहा कि उनकी बहन भारती जांगिड़ का सपना था कि वार्ड का चौमुखी विकास हो, भारती जांगिड़ के निधन के बाद मुझ पर पार्टी और क्षेत्र की जनता ने विश्वास जताया है, उस विश्वास पर पूरा खरा उतरने का प्रयास करूंगी। मतगणना में जीत हासिल करने के बाद सहायक निर्वाचन अधिकारी देविका तोमर ने गीता जांगिड़ को शपथ दिलवाई। मतगणना को देखते हुए कॉलेज परिसर के बाहर और भीतर पुलिस ने माकूल इंतजाम किए गए थे। कॉलेज के बाहर समर्थकों को नहीं जुटने दिया गया।

किशनगढ़ उपचुनाव में भी भाजपा का दबदबा कायम

किशनगढ़ नगर परिषद के वार्ड 46 में हुए उपचुनाव को लेकर मतगणना संपन्न होने पर बीजेपी उम्मीदवार भैरव लाल सैनी ने 585 वोट से कांग्रेस के प्रत्याशी पन्नालाल को शिकस्त दी है। वार्ड 46 से बीजेपी से पार्षद रहे त्रिलोक सैनी का कोरोना बीमारी से निधन हो गया था। बीजेपी ने उनके पिता भैरव लाल सैनी को टिकट दिया था। बीजेपी का सहानुभूति कार्ड यहां भी कामयाब रहा। उप जिला निर्वाचन अधिकारी कैलाश चंद्र शर्मा ने बताया कि जिले के अजमेर नगर निगम के वार्ड संख्या 28 एवं नगर परिषद किशनगढ़ के वार्ड संख्या 46 में उपचुनाव 26 जुलाई को हुए थे। इन चुनावों के मतों की गणना अजमेर नगर निगम के लिए सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालय अजमेर में दो टेबलों पर तथा नगर परिषद किशनगढ़ के लिए तहसील परिसर किशनगढ में एक टेबल पर कराई गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.