Amit Shah Rajasthan Visit: अमित शाह बोले-ड्रोन रोधी तकनीक हो रही है विकसित, हमारी सीमा और जवानों को कोई हल्के में नहीं ले सकता

Amit Shah Rajasthan Visit अमित शाह ने कहा कि ड्रोन के खतरे से निपटने के लिए सरकार और वैज्ञानिक लगातार कोशिश कर रहे हैं। एंटी ड्रोन तकनीक बनाने के लिए सीमा सुरक्षा बल नेशनल सिक्योरीटी गार्ड और रक्षा अनुसंधान व विकास संगठन मिलकर कोशिश कर रहे हैं।

Sachin Kumar MishraSun, 05 Dec 2021 03:36 PM (IST)
अमित शाह बोले-ड्रोन रोधी तकनीक हो रही है विकसित। फाइल फोटो

जागरण संवाददाता, जयपुर। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि ड्रोन के खतरे से निपटने के लिए सरकार और वैज्ञानिक लगातार कोशिश कर रहे हैं। एंटी ड्रोन तकनीक बनाने के लिए सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) नेशनल सिक्योरीटी गार्ड (एनएसजी) और रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) मिलकर कोशिश कर रहे हैं। हमें वैज्ञानिकों पर पूरा भरोसा है। कुछ समय में हम ड्रोन प्रतिरोधक क्षमता बनाने में सफल होंगे। उन्होंने कहा कि जब उड़ी और पुलवामा में हमला हुआ तो भारत सरकार ने मजबूत होकर जवाब दिया। पूरी दुनिया ने इसकी प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि जहां-जहां भी सीमा पर अतिक्रमण करने का प्रयास हुआ है, हमने तुरंत जवाबी कार्रवाई की है। हमारी सीमा और जवानों को कोई हल्के में नहीं ले सकता, भारत ने यह संदेश दुनिया को दिया है।

उन्होंने कहा कि कोई भी देश अपनी संस्कृति को तभी बचा सकता है जब वह सुरक्षित हो और हमारे जवान देश की सुरक्षा को सुनिश्चित करने में लगे हैं। बीएसएफ के जवानों की तारीफ करते हुए शाह ने कहा कि सीमा सुरक्षा का मतलब राष्ट्रीय सुरक्षा है। शाह रविवार को पाकिस्तान सीमा से सटे राजस्थान के जैसलमेर में बीएसएफ के 57वें स्थापना दिवस समारोह में संबोधित कर रहे थे। शाह ने परेड की सलामी ली। परेड में पहली बार बीएसएफ का महिला दस्ता शामिल हुआ है। परेड़ में ऊंट सवार दस्ता भी शामिल हुआ। बांग्लादेश बार्डर गार्ड के चीफ मेजर जनरल शफीनुल इस्लाम भी इस मौके पर मौजूद थे।

आधुनिक हथियार उपलब्ध कराएंगे

अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सीमाओं के लिए संवेदनशील रहे हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने सीमाओं पर घुसपैठ पर त्वरित प्रतिक्रया सुनिश्चित की है। विश्व में उपलब्ध आधुनिक तकनीक बीएसएफ को उपलब्ध कराई जाएगी। शाह ने कहा पहली बार बीएसएफ का स्थापना दिवस दिल्ली से बाहर देश की सीमा के जिले में मनाने का निर्णय लिया गया है। यह परंपरा जारी रखनी चाहिए। यह स्थापना दिवस आजादी के अमृत महोत्सव काल में मनाया जा रहा है।

जवानों ने दिखाया दम

कार्यक्रम में डाग शो,अस्त्र-शस्त्र, हैंडलिंग प्रदर्शन, पैरा एडवेंचर प्रदर्शन,सीमा भवानी और जांबाज दल द्वारा मोटरसाइकिल के साथ प्रदर्शन किया गया। जवाानों ने कई ऐसे हैरतअंगेज कारनामें दिखाए, जिन्हें देखकर हरकोई रोमांचित हो उठा। इस मौके पर गृहमंत्री ने सराहनीय सेवा देने वाले जवानों व उनके परिजनों को सम्मानित किया। इससे पहले शनिवार को शाह ने तनोट माता मंदिर में पूजा अर्चना करने के बाद जवानों को संबोधित किया और फिर बड़ा खाना में शामिल हुए थे। उन्होंने रोहितास चौकी पर जवानों के साथ रात बिताई।

लोंगेवाला पोट के वीर नायक से मिले

अमित शाह रविवार सुबह 1071 के युद्ध में लोंगेवाला पोस्ट के वीर नायक भैरों सिंह राठौड़ से मिले। उनसे मिलने के बाद शाह ने कहा कि लोंगेवाला से दुश्मनों को खदेड़ने की आपकी वीरता और मातृभूमि के प्रति प्रेम ने देश के इतिहास व देशवासियों के मन में स्थान बनाया है। दरअसल, बीएसएफ के नायक रहे भैरों सिंह 1971 के लोगेंवाला युद्ध के हीरो थे। साहस दिखाने पर उन्हे सेना मैडल मिला है। लोंगेवाला में पाकिस्तान की पूरी टैंक की बटालियन को बीएसएफ के जवानों ने खदेड़ दिया था। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.