पाकिस्तान से आए हिंदू शरणार्थी परिवार ने दी आत्महत्या की चेतावनी, कहा- मदद करो या वापिस भेज दो

पाकिस्तान (Pakistan) से आए एक हिंदू शरणार्थी (Hindu refugee family) परिवार ने आत्‍महत्‍या की चेतावनी (warning of suicide) देते हुए कहा है कि गांव के लोग उन्‍हें परेशान कर रहे हैं। जांच में सामने आया है की त्रिलोकचंद पाकिस्तान से यहां आकर अवैध तरीके से बस गया था।

Babita KashyapThu, 05 Aug 2021 01:31 PM (IST)
पाकिस्तान से आए एक हिंदू शरणार्थी परिवार ने दी आत्महत्या की चेतावनी। फोटो साभार - AFP

जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान में जालौर जिले के धानता गांव में रह रहे पाकिस्तान से आए एक हिंदू शरणार्थी परिवार ने वीडियो वायरल कर आत्महत्या की चेतावनी दी है। परिवार के मुखिया त्रिलोकचंद राणा ने अपने परिवार के एक दर्जन सदस्यों के साथ वीडियो वायरल कर कहा कि गांव के लोग उन्हें परेशान कर रहे हैं । पुलिस भी राहत नहीं दे पा रही है। परेशान होकर परिवार आत्महत्या करेगा। राणा वीडियो में कहते नजर आ रहे हैं कि पाकिस्तान में वहां के लोगों के आतंक से परेशान थे तो एक रिश्तेदार के कहने पर करीब 4 साल पहले यहां आकर बसे थे। अब वही रिश्तेदार गांव छोड़ने को लेकर दबाव बना रहा है। ग्रामीण और रिश्तेदार मारपीट करते हैं । उन्होंने अधिकारियों से अपील करते हुए कहा, या तो हमें पाकिस्तान वापस भेज दो या फिर मदद की जाए। ऐसा नहीं होने पर आत्महत्या करने की चेतावनी दी गई है।

जांच में यह आया सामने

वीडियो वायरल होने के बाद इंटेलिजेंस एजेंसी और जिला प्रशासन हरकत में आया। पूरे मामले की जांच की गई तो सामने आया कि त्रिलोकचंद पाकिस्तान से यहां आकर अवैध तरीके से बस गया था । इस परिवार का कई बार ग्रामीणों के साथ विवाद हुआ । रिश्तेदार से भी झगड़ा हुआ तो मामला सांचौर पुलिस थाने तक पहुंचा । पुलिस ने तीन माह पूर्व त्रिलोकचंद को नोटिस देकर कहा कि गृह मंत्रालय के नियमों के तहत जालौर जिले के तीन पुलिस थाना क्षेत्र सांचौर,सरवाना और चितलवाना में विदेशी नागरिकों एवं पाक नागरिकों के लिए प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित किया हुआ है।

इस इलाके में कोई भी विदेशी अथवा पाकिस्तानी नागरिक स्थाई रूप से निवास नहीं कर सकते हैं। इस कारण उक्त क्षेत्र छोड़कर अन्य किसी जगह पर स्थाई निवास और पंजीकरण का आवेदन दें। इसी बीच 2 अगस्त को ग्रामीणों ने पुलिस में शिकायत करते हुए कहा कि त्रिलोकचंद का परिवार गांव में झगड़ा करता है। उनकी गतिविधियों पर ग्रामीणों को शक है। इस पर पुलिस ने त्रिलोकचंद को गिरफ्तार किया, पूछताछ के बाद अगले दिन छोड़ दिया। अपनी गिरफ्तारी से नाराज होकर त्रिलोकचंद ने वीडियो वायरल कर आत्महत्या की चेतावनी दी है ।

क्‍या कहना है प्रशासन का

जिला कलेक्टर नम्रता वर्षिनी ने कहा कि पाक विस्थापित परिवार जहां रह रहा है, वह क्षेत्र वर्जित है । ये लोग पाकिस्तान से धार्मिक वीजा पर आए थे। धार्मिक वीजा 30 दिन के लिए ही वैध होता है । लेकिन यह लोग यहीं रहने लगे हैं । सांचौर पुलिस थाना अधीक्षक प्रवीण कुमार ने कहा, पाक विस्थापित परिवार ने स्थानीय लोगों के साथ मारपीट की थी। शिकायत मिलने के बाद जांच में सत्यता मिली तो त्रिलोकचंद को गिरफ्तार किया गया था, जिसे बाद में छोड़ दिया गया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.