बैंक कर्मियों से लेकर नौकरी गंवाने वाले पुलिस कर्मियों की तरफ बढ़ी जांच

शनिवार की दोपहर सवा तीन बजे एचडीएफसी बैंक से 30.65 लाख रुपये लूटने के मामले में पुलिस टीम ने घटनास्थल के आसपास लगे चार मोबाइल टावरों से डंप उठाकर जांच आगे बढ़ाई।

JagranPublish:Mon, 06 Dec 2021 03:00 AM (IST) Updated:Mon, 06 Dec 2021 03:00 AM (IST)
बैंक कर्मियों से लेकर नौकरी गंवाने वाले पुलिस कर्मियों की तरफ बढ़ी जांच
बैंक कर्मियों से लेकर नौकरी गंवाने वाले पुलिस कर्मियों की तरफ बढ़ी जांच

धर्मबीर सिंह मल्हार, तरनतारन

शनिवार की दोपहर सवा तीन बजे एचडीएफसी बैंक से 30.65 लाख रुपये लूटने के मामले में पुलिस टीम ने घटनास्थल के आसपास लगे चार मोबाइल टावरों से डंप उठाकर जांच आगे बढ़ाई। इस दौरान बैंक कर्मियों से लेकर उन नौकरी गंवाने वाले पुलिस कर्मियों की ओर संदेह की सुई घूमी, जो नशा तस्करों से मिले हुए थे। रविवार को छुट्टी के बावजूद बैंक के बाहर दो सुरक्षाकर्मी तैनात रहे।

विधायक डा. धर्मबीर अग्निहोत्री के आवास से महज 25 गज पर एचडीएफसी बैंक में दोपहर को दो लुटेरे घुसे। एक लुटेरा बैंक के मुख्य गेट पर मुस्तैद रहा जबकि दूसरे वर्दीधारी लुटेरे ने कैश काउंटर पर जाकर पहले खिड़की से कैश वाले ट्रंकों को झांका फिर कैबिन खोलकर अंदर जाते ही कैश काउंटर पर तैनात महिला कैशियर और उसकी सहायक को पिस्टल के बल पर साइड पर किया और 30 लाख 65 हजार 489 रुपये की राशि पिट्ठू बैग में डालकर फरार हो गए। अमावस्या की भीड़ के दौरान बैंक में लूट करके दोनों लुटेरे पल्सर मोटरसाइकिल पर सवार होकर पहले जंडियाला रोड रेलवे फाटक की ओर गए। फिर अचानक दोनों ने यूटर्न लिया। शहर की पाश कालोनी खालसापुर रोड पर घूमते हुए वे मुरादपुर रेलवे फाटक क्रास करके मोहल्ला लालपुर पहुंचे। यहां से यह लुटेरे जम्मू-कश्मीर, राजस्थान राष्ट्रीय मार्ग पर चले गए। पुलिस की ओर से रविवार को कुल आठ सीसीटीवी कैमरों की फुटेज कब्जे में ली गई जबकि लूटकांड के आसपास लगे चार मोबाइल टावरों से डंप भी उठाया गया। सूत्रों की मानें तो एसपी (इन्वेस्टिगेशन) विशालजीत सिंह, डीएसपी (इन्वेस्टिगेशन) तरसेम मसीह, डीएसपी बरजिदर सिंह के आधारित स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआइटी) गठित की गई है। प्राथमिक जांच में संदेह की सुई स्थानीय बैंक से लेकर नौकरी गंवा चुके उन पुलिस कर्मियों पर घूम रही है जिनको तीन माह के दौरान नशा तस्करों से संबंध रखने के आरोप में नौकरी से बर्खास्त किया गया था। यह भी कहा जाता है कि लुटेरों की संख्या चार से पांच थी। क्योंकि दो लुटेरे बैंक में दाखिल हुए सीसीटीवी में आम देखे गए है। जबकि अन्य सीसीटीवी कैमरों की फुटेज में बैंक के आसपास दोपहर 1.20 मिनट से 3.12 मिनट तक तीन अन्य संदिग्ध भी घूमते रहे हैं। हालांकि बैंक के साथ लगे एटीएम पर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज किसी ओर दिशा को जा रही है। आठ लोगों को किया राउंडअप

एचडीएफसी बैंक डकैती के मामले में पुलिस की ओर से रविवार को कुल आठ लोगों को राउंडअप किया गया। इनमें एक महिला भी शामिल है। शनिवार की रात को ही पुलिस ने कुछ लोगों का रिकार्ड खंगाला था। कहा जाता है कि लूट की वारदात को अंजाम देने वाले लुटेरों के करीब पुलिस पहुंच चुकी है। डीएसपी तरसेम मसीह कहते है कि पुलिस बारीकी से जांच को आगे बढ़ा रही है। जल्द अच्छे नतीजे सामने आएंगे।