दोहरे हत्याकांड का जिम्मेदार कौन, पुलिस नहीं सुलझा पाई गुत्थी

जागरण संवाददाता, तरनतारन : गुरुद्वारा बीबी भानी जी के पास मंगलवार की देर रात हुई दो युवकों की हत्या की गुत्थी पुलिस दूसरे दिन भी नहीं सुलझा पाई है। फिलहाल संबंधित थाने की पुलिस ने दोनों शवों का पोस्टमार्टम करवा कर वारिसों के हवाले कर दिया है। हालांकि पुलिस ने रात को ही अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर जांच को गति दे दी है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जांच सही दिशा में आगे बढ़ रही है। जल्द ही मामले का पटाक्षेप कर दिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि शाम सिंह के 40 वर्षीय लड़के लखविंदर सिंह लाडी और उसके दोस्त युगराज सिंह कालिया की किन्हीं अज्ञात लोगों ने तेजधार हथियारों से बेरहमी से कत्ल किया कर दिया था। गौर है कि लखविंदर सिंह लाडी की पत्नी उसे छोड़कर मायके जा चुकी है। लाडी के दो बच्चों की परवरिश उसकी बड़ी बहन माया का करती है। माया का घर लखविंदर सिंह लाडी के घर से थोड़ी दूरी पर है। लाडी की दोस्ती युगराज सिंह उर्फ कालिया पुत्र गोपाल सिंह निवासी गांव कत्थूनंगल (अमृतसर) के साथ थी। ज्ञात हो कि युगराज सिंह कालिया वर्षो से अपने मामा मंगा सिंह के पास ही इसी मोहल्ले में रहता आ रहा था। युगराज सिंह कालिया और लखविंदर सिंह लाडी के खून से लथपथ मिले शवों के पास देसी शराब की बोतल व खाने पीने का सामान पड़ा मिला था। पुलिस सूत्रों की मानें तो लखविंदर सिंह लाडी के घर में अकसर युगराज सिंह उर्फ कालिया रहा करता था। दोनो की हत्या किस वजह से और किसने की है यह अभी भी रहस्य बना है। मरने वाले दोनो युवक गरीब परिवारों से संबंधित हैं।

लखविंदर सिंह लाडी की बहनों माया व रानी ने दैनिक जागरण को बताया कि किसी के साथ उनकी कोई रंजिश नहीं थी। थाना सिटी के प्रभारी अमनदीप सिंह रंधावा ने बताया कि युगराज सिंह उर्फ कालिया के मामा मंगा सिंह के बयानों पर फिलहाल अज्ञात लोगो के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस इस मामले को ट्रेस करने लिए विभिन्न पहलुओं को आधार बना कर जांच की कर रही है। उन्होंने कहा कि इस दोहरे हत्याकांड को शीघ्र सुलझा लिया जाएगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.