रणजीत ब्रह्मपुरा और सुखदेव ढींडसा ने मिलाया हाथ, एक बनाएंगे पार्टी

रणजीत ब्रह्मपुरा और सुखदेव ढींडसा ने मिलाया हाथ, एक बनाएंगे पार्टी

अकाली दल डेमोक्रेटिक और अकाली दल टकसाली ने मिशन 2022 के तहत दोनों पाíटयों ने एक होने का फैसला किया है। साथ ही बहुजन समाज पार्टी के साथ गठजोड़ करने की संभावना जता दी है।

JagranTue, 13 Apr 2021 06:30 AM (IST)

धर्मवीर सिंह मल्हार, तरनतारन

अकाली दल डेमोक्रेटिक और अकाली दल टकसाली ने मिशन 2022 के तहत दोनों पाíटयों ने एक होने का फैसला किया है। साथ ही बहुजन समाज पार्टी के साथ गठजोड़ करने की संभावना जता दी है। यह सारा कुछ उस समय हुआ जब पंजाब की राजनीति में एक दूसरे को पीछे छोड़कर आगे बढ़ने की राजनीति चर्म पर है।

शिअद अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल की अगुआई पर उंगली उठाते हुए लोकसभा के चुनाव के दौरान पूर्व सासद रणजीत सिंह ब्रह्मपुरा ने माझा के अन्य नेताओं को साथ लेकर अकाली दल टकसाली का गठन किया था। वहीं पिछले साल राज्यसभा सदस्य सुखदेव सिंह ढींडसा ने अकाली दल डेमोक्रेटिक का गठन किया था। हाल ही में आम आदमी पार्टी (आप) के साथ अकाली दल डेमोक्रेटिक के चुनावी गठजोड़ की चर्चा हुई थी। इस दौरान विधानसभा में विपक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा ने दावा किया था कि आप के साथ अकाली दल डेमोक्रेटिक का कोई गठजोड़ नहीं होगा बल्कि यह पार्टी आम आदमी पार्टी में ही शामिल होगी।

चीमा के इस दावे के बाद सुखदेव ढींडसा और रणजीत ब्रह्मपुरा ने सोमवार को बैठक करके एक होने पर सहमति जताई। ब्रह्मपुरा ने दैनिक बताया कि पंजाब के भले के लिए यह एकता का समय है ताकि सुखबीर बादल को पंजाब की सत्ता में आने से रोका जाए। साथ ही पंजाब को तीसरा बदल दिया जा रहा है ताकि गलती से भी राज्य की सत्ता पर काग्रेस पार्टी काबिज न हो पाए। उन्होंने कहा कि अकाली दल डेमोक्रेटिक और अकाली दल टकसाली के एक होने के बाद पार्टी का नया बहुत जल्द फाइनल कर लिया जाएगा। ढींडसा होंगे अध्यक्ष और ब्रह्मपुरा बनेंगे सरपरस्त

अकाली दल डेमोक्रेटिक और अकाली दल टकसाली के एक होने में पूर्व डिप्टी स्पीकर बीरइंदर सिंह की अहम भूमिका मानी जाती है। सूत्रों की मानें तो दोनों पाíटयों के आपसी सुमेल बाबत रस्मी एलान होते ही अकाली दल से सबंधित कुछ टकसाली परिवार भी नई पार्टी का हिस्सा बनने वाले हैं। दोनों पाíटयों के एकजुट होने के बाद पार्टी का नया नाम रखने के लिए तीन सदस्यों की कमेटी बनाई जा रही है। इसमें पूर्व विधायक उजागर सिंह वडाली, एसजीपीसी सदस्य महिंदर सिंह हुसैनपुरा और करनैल सिंह पीर मोहम्मद को शामिल किया गया है। सूत्रों की मानें तो यह भी फाइनल हो चुका है कि नई पार्टी के अध्यक्ष राज्यसभा सदस्य सुखदेव सिंह ढींडसा होंगे और सरपरस्त के तौर पर पूर्व सासद रणजीत सिंह ब्रह्मपुरा होंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.