त्योहारी सीजन में बढ़ाएंगे नफरी, बाजारों में ट्रैफिक जाम नहीं होने देगी पुलिस: डीएसपी

शहर में कानून और सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखना पुलिस का जिम्मा है। अब त्योहारी सीजन आने वाला है। इन दिनों में बाजारों में भीड़ बढ़ जाती है।

JagranSun, 26 Sep 2021 11:21 PM (IST)
त्योहारी सीजन में बढ़ाएंगे नफरी, बाजारों में ट्रैफिक जाम नहीं होने देगी पुलिस: डीएसपी

धर्मबीर सिंह मल्हार, तरनतारन : शहर में कानून और सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखना पुलिस का जिम्मा है। अब त्योहारी सीजन आने वाला है। इन दिनों में बाजारों में भीड़ बढ़ जाती है। इससे जाम की समस्या भी पैदा होती है। ऐसे में ट्रैफिक पुलिस को इस दौरा विशेष रूप से मौके पर नजर रखने और जाम खुलवाने के लिए कहा गया है। वहीं लोग भी बाजारों में सड़क के किनारे अपने वाहन पार्क न करें। जल्द ही गुरुनगरी में ट्रैफिक समस्या को हल किया जाएगा। इसके लिए विभिन्न धार्मिक समागमों के दिनों में शहर के ट्रैफिक को अस्थायी तौर पर डिवाइड किया जा रहा है। ट्रैफिक पुलिस की नफरी भी बढ़ाई जाएगी। वहीं स्नेचरों पर शिकंजा कसने के लिए पीसीआर की टीमों में महिला पुलिस को भी शामिल किया गया है। ये बातें सब डिवीजन तरनतारन के डीएसपी सुच्चा सिंह बल्ल ने दैनिक जागरण के साथ साक्षात्कार के दौरान कहीं। पेश है उनसे हुई बातचीत के अंश। सवाल : पाक से ड्रोन के जरिए नशा और हथियारों की खेप भेजी जा रही है, ऐसे में पुलिस के सामने क्या चुनौती है?

जवाब : सब डिवीजन तरनतारन में पुलिस स्टेशन सिटी, झब्बाल, सराय अमानत खा, वैरोंवाल आते हैं। अब बात करें थाना झब्बाल व वैरोंवाल की तो अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे कई गाव मेरी सब डिवीजन में आते हैं। इन गावों से संबंधित नशा तस्करों, उनको पनाह देने वाले लोगों, पूर्व आतंकियों, गैंगस्टरों के अलावा अन्य संदिग्ध लोगों पर नजर रखने के लिए पुलिस का साइबर सेल काम कर रहा है। इतना ही नहीं कंटीली तार के साथ लगने वाले उन गावों में मुस्तैदी बढ़ा दी गई है, जहा पर पाक द्वारा ड्रोन भेजे जाते हैं। वैसे तो पब्लिक का पुलिस प्रशासन को सहयोग मिलता है, फिर भी पंचायतों को भी जवाबदेह बनाया जा रहा है। सवाल : ट्रैफिक की बदहाल समस्या से कैसे निजात मिल सकती है?

जवाब : आज के हाईटेक युग में परिवार के प्रत्येक सदस्य के पास वाहन होता है। यह वाहन सड़कों पर दौड़ें या शहर के बाजारों में, भीड़ तो नजर आएगी। ऐसे में लोगों को चाहिए कि वह जिम्मेदारी से काम लेते हुए अपने वाहन को सड़क के किनारे पार्क न करें। यातायात नियमों का पालन करते रहें। आने वाले दिनों में गुरुनगरी को ट्रैफिक समस्या से मुकम्मल निजात दिलाई जाएगी। फिलहाल चौदस, अमावस्या, संक्राति के अलावा एतिहासिक व धाíमक समागमों के दौरान शहर के ट्रैफिक को आर्जी तौर पर डिवाइड किया जा रहा है। ट्रैफिक पुलिस की नफरी भी लगातार बढ़ाई जा रही है। शहर के साथ से गुजरने वाले राजमार्ग से जुड़ी सड़कों पर ट्रैफिक लाइटें लगेंगी। सवाल : पुलिस पर रिश्वतखोरी और लापरवाही के आरोप लगते रहे है, इसकी क्या वजह मानते हैं?

जवाब : ऐसा कुछ नहीं होता। अगर पुलिस प्रशासन में कोई एक-दो पुलिसकर्मी ड्यूटी में लापरवाही बरतें या रिश्वत मागें तो पूरे विभाग को बदनाम नहीं किया जा सकता, क्योंकि हमारे समाज में हर प्रकार के लोग होते हैं। यह वही पुलिस है जिसने अपने प्राण देकर आतंकवाद को जड़ से मिटाते हुए राज्य में शाति स्थापित की। पुलिस की ड्यूटी 24 घटे की होती है। कई बार ऐसा भी होता है कि पुलिस प्रशासन को बदनाम करने के लिए कुछ गैरजिम्मेदार लोग साजिश रचते रहते हैं। ऐसे लोगों से सावधान रहना ही बेहतर रहेगा। सवाल : नशे पर लगाम लगाने के लिए क्या पुलिस के पास कोई योजना है?

जवाब : नशे के मामले में पुलिस पूरी तरह गंभीर है। इस मामले में न तो कोई सियासी नेता अपरोच करता है और न ही पुलिस प्रशासन किसी का दबाव मानता है। इसी का नतीजा है कि 1 जनवरी से लेकर 21 सितंबर तक सब डिवीजन में आते चार पुलिस थानों में आबकारी एक्ट तहत 82 मामले दर्ज करके 95 लोगों को काबू किया। 14,35.875 एमएल अवैध शराब, 575 लीटर, 180 मिलीलीटर अल्कोहल, 37,399 किलो लाहन व 12 चालू भट्ठिया बरामद कीं। इतना ही नहीं एनडीपीएस एक्ट के मामले में 130 केस रजिस्टर करके 170 आरोपितों को काबू किया। 9 किलो, 434 ग्राम हेरोइन, 2 किलो, 6 ग्राम अफीम, 54 हजार, 927 प्रतिबंधित गोलिया, 1758 प्रतिबंधित कैप्सूल, 30 टीके, 49 हजार, 120 रुपये की ड्रग मनी बरामद की गई। सवाल : अवैध माइनिंग के मामले में पुलिस पर क्यों उठती है अंगुलियां?

जवाब : पुलिस द्वारा अवैध माइनिंग के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। एक जनवरी से 21 सितंबर तक अवैध माइनिंग के आठ मामले दर्ज करके 11 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया। पाच ट्रैक्टर, पाच ट्रालियां, एक जेसीबी, चार बेलचे, तीन नाव, एक कूराहा भी बरामद किया गया। इतना ही नहीं एक महिंद्रा पिकअप भी जब्त की गई। एसएसपी उपिंदरजीत सिंह घुम्मण के आदेश पर अवैध माइनिंग से संबंधित क्षेत्रों में पुलिस द्वारा सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने हैं। पुलिस द्वारा चलाए जा रहे सेवा केंद्रों से एकत्रित होने वाली फीस से यह सीसीटीवी कैमरे खरीदे जा रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.