शिक्षा विभाग के नक्शे पर चमका गांव अलादीनपुर का एलिमेंट्री स्मार्ट स्कूल

शिक्षा विभाग के नक्शे पर चमका गांव अलादीनपुर का एलिमेंट्री स्मार्ट स्कूल
Publish Date:Fri, 30 Oct 2020 04:43 PM (IST) Author: Jagran

धर्मबीर सिंह मल्हार, तरनतारन : सरकारी स्कूलों से बच्चों का मोह बढ़ाने के लिए शिक्षा विभाग के सचिव कृष्ण कुमार द्वारा चलाई गई मुहिम कामयाब हो रही है। इसके तहत गांव अलादीनपुर का एलिमेंट्री स्मार्ट स्कूल शिक्षा विभाग के नक्शे पर चमकने लगा है।

विधानसभा हलका खडूर साहिब का गांव अलादीनपुर वह गांव है, यहां के निवासी मनोहर सिंह गिल देश के मुख्य चुनाव आयुक्त व केंद्रीय मंत्री रह चुके हैं। जबकि उनके पिता करनल प्रताप सिंह गोवा के राज्यपाल रह चुके हैं। गांव अलादीनपुर के सरकारी एलिमेंट्री स्कूल को राष्ट्रीय अवार्डी अमरजीत सिंह की अगुआई में स्मार्ट स्कूल बनाया गया है। इस स्कूल में 215 छात्र हैं। स्टाफ की मेहनत के चलते सुंदर इमारत, हवादार कमरे, बच्चों के खेलने का सामान, लाइब्रेरी, खेल मैदान, स्मार्ट क्लासरूम, प्रोजेक्ट रूम बनाए गए हैं। अध्यापिका मनप्रीत कौर, रविदीप कौर, गुरप्रीत कौर, अमरप्रीत कौर, कमलजीत कौर, कुलविंदर कौर ने बताया कि शिक्षा विभाग के सचिव द्वारा इस स्कूल की इमारत को फेसबुक पर डाला गया है। उन्होंने बताया कि ग्रामीणों के सहयोग के चलते यह स्कूल राज्यभर में चर्चा का केंद्र बना है। स्मार्ट स्कूल के कोआर्डिनेटर अमनदीप सिंह ने बताया कि यह स्कूल राज्यभर में एक मिसाल बनकर उभरा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री मनोहर सिंह गिल, शिक्षा मंत्री विजय इंद्र सिंगला, डिप्टी कमिश्नर कुलवंत सिंह धूरी ने भी स्कूल के मुख्याध्यापक अमरजीत सिंह (राष्ट्रीय अवार्ड विजेता) व स्टाफ को बधाई दी है। स्कूल की दीवारें देती हैं ज्ञान

सरकारी एलिमेंट्री स्मार्ट स्कूल की प्रत्येक दीवार यहां आने वाले बच्चों को शिक्षित करती है। विद्या की महत्ता, मां की भूमिका, पेड़ों की महत्ता से लेकर मानवाधिकारों, पर्यावरण बाबत जागरूकता, शिक्षा के अधिकार बाबत जानकारी दी गई है। मुख्याध्यापक अमरजीत सिंह ने कहा कि स्कूल में बच्चों के मनोरंजन बाबत विभिन्न साधन भी जुटाए गए हैं। 100 फीसद पूरा होगा लक्ष्य

डिप्टी डीईओ परमजीत सिंह गिल ने कहा कि जिले में कुल 504 एलिमेंट्री स्कूल हैं। इनमें से 495 स्कूलों को स्मार्ट स्कूलों में बदला जा चुका है। बाकी के स्कूलों को भी स्मार्ट स्कूल बनाकर लक्ष्य जल्द पूरा कर लिया जाएगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.