विदेश की चाहत में गंवा किए लाखों

पढ़ाई या रोजगार की तलाश में विदेश जाने की इच्छा में लोग तेजी से ठगी का शिकार हो रहे हैं।

JagranSun, 12 Sep 2021 05:37 PM (IST)
विदेश की चाहत में गंवा किए लाखों

जागरण संवाददाता, संगरूर

पढ़ाई या रोजगार की तलाश में विदेश जाने की इच्छा में लोग तेजी से ठगी का शिकार हो रहे हैं। विदेश जाने की खातिर कोई कर्ज ले रहा है तो कोई अपनी जमीन बेचकर पाई-पाई जोड़ रहा है। हर दिन ठगी के ऐसे मामले सामने आ रहे हैं।

शनिवार को ऐसे ही इलाके में पांच मामले सामने आए हैं। संगरूर जिला पुलिस ने ऐसे ठगों के खिलाफ विभिन्न थानों में मामले दर्ज किए हैं। पिछले तीन माह की बात करें तो ऐसे 24 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें विदेश भेजने के नाम पर युवाओं से ठगी हो चुकी है। दिनों दिन धोखाधड़ी से ऐसे केसों में लगातार इजाफा हो रहा है। केस-एक दो युवकों से बीस लाख की ठगी

थाना सदर धूरी में गुरबीर सिंह निवासी रुपाहेड़ी व मनदीप सिंह निवासी बरड़वाल ने एसएसपी संगरूर को दो अलग-अलग दरखास्त दी। गुरबीर सिंह व मनदीप ने बताया कि वह दोनों विदेश जाना चाहते थे। इसके लिए उनकी मुलाकात जसमेल सिंह जर्मन, दलवीर कौर निवासी कुलाम जिला नवांशहर व मुकेश कुमार निवासी मोहाली से हुई। उन्होंने उन्हें भरोसा दिलाया कि वह दोनों को विदेश भेज देंगे। गुरबीर सिंह से छह लाख 48 हजार रुपये व मनदीप सिंह से 13.81 लाख रुपये की राशि हड़प ली। कई माह का समय गुजर जाने के बाद भी न तो विदेश भेजा व न ही उनकी रकम वापस की। पुलिस ने पड़ताल के बाद उक्त तीनों व्यक्तियों व अन्य के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया। ------------------------

फर्जी वीजा व टिकटें भेजकर ठगे दो लाख

नजदीकी गांव कम्मोमाजरा कलां के अवतार सिंह ने एसएसपी संगरूर को दरखास्त देकर अमरजीत सिंह निवासी कालतीवाल थाना घणीके बांगर बटाला पर धोखाधड़ी का देस दर्ज करवाया। पीड़ित अवतार सिंह ने कहा कि वह वर्ष 2016 के दौरान दुबई गया था। वर्ष 2020 में वापस आ गया था। वह दोबारा विदेश जाना चाहता था। एक दोस्त के जरिये उसकी मुलाकात अमरजीत सिंह से हुई, जिसने उसे भरोसा दिलाया कि वह उसे वर्क परमिट पर स्पेन भेज देगा। छह लाख अस्सी हजार रुपये खर्च आएगा। दो लाख तीस हजार रुपये वीजा लगने पर व बाकी रकम स्पेन पहुंचकर देने होंगे। अवतार सिंह ने एक लाख 95 हजार बैंक खाते के जरिये अमरजीत सिंह को दे दिए। अमरजीत ने भी स्पेन का जाली वीजा व एयर टिकटें अवतार को भेज दी। अवतार सिंह एयरपोर्ट पर पहुंचा तो उसके पैरों तले से जमीन खिसक गई, क्योंकि जाली वीजा व टिकट होने के कारण उसे वापस भेज दिया गया। थाना सदर संगरूर पुलिस ने अमरजीत सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया।

------------------------

बीस लाख वसूले, डेढ़ लाख ही लौटाए :

थाना भवानीगढ़ पुलिस ने कुलविदर सिंह निवासी घराचों व अमनदीप सिंह निवासी बिजलपुर के बयानों के आधार पर महकप्रीत सिंह व उसके पिता जगसीर सिंह निवासी बरनाला के खिलाफ विदेश भेजने के नाम पर बीस लाख रुपये हड़पने के एवज में धोखाधड़ी का केस दर्ज किया। उक्त दोनों युवक विदेश जाना चाहते थे। दोनों ही उक्त पिता-पुत्र के झांसे में आ गए। उनसे पिता-पुत्र ने बीस लाख रुपये वसूल कर लिए। कर्ज लेकर परिवारों ने अपने पुत्रों के उज्ज्वल भविष्य की खातिर यह राशि सौंप दी, लेकिन बीस लाख रुपये लेने के बाद भी उन्हें विदेश नहीं भेजा गया। ठगों ने मात्र डेढ़ लाख रुपये उन्हें वापस किए, जबकि बाकी राशि हड़प कर ली। दोनों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने पिता-पुत्र पर पर्चा दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी के लिए छापामारी आरंभ कर दी। --------------------

मलेशिया के एयरपोर्ट से वापस लौटा, एक लाख की मारी ठगी नजदीकी गांव छाहड़ के हरदीप सिंह को भी विदेश जाने की चाहत में एक लाख दस हजार रुपये की चपत लगी। हरदीप सिंह को वर्क परमिट पर मलेशिया भेजने का झांसा देकर राहुल वर्मा निवासी लुधियाना एक लाख रुपये ऐंठ लिए। बार-बार अलग-अलग बैंक खातों में नकदी जमा करवाई गई। इसके बाद राहुल ने हरदीप को मार्च 2019 को मलेशिया एयरपोर्ट पर बुला लिया और कहा कि वहीं पर उसे मलेशिया का वीजा मिल जाएगा। हरदीप टिकट लेकर दस मार्च 2019 को मलेशिया पहुंच गया, लेकिन वहां उसे न तो राहुल मिला व न ही उसका कोई साथी। अगले दिन ही हरदीप को मलेशिया एयरपोर्ट से वापस इंडिया डिपोर्ट कर दिया गया। वीजा न होने के कारण वह मलेशिया में दाखिल नहीं हो पाया। वापस आकर उसने अपने मलेशिया में रहते साथी व राहुल से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने अपने नंबर बंद कर लिए। पुलिस ने हरदीप सिंह के बयानों पर राहुल वर्मा के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.